मासिक करेंट अफेयर्स

04 October 2018

भारतीय मूल की गीता गोपीनाथ अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की मुख्य अर्थशास्त्री नियुक्त

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने 01 अक्टूबर 2018 को भारतीय मूल की गीता गोपीनाथ को मुख्य अर्थशास्त्री नियुक्त किया है. अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष में इस पद पर पहुंचने वाली गीता दूसरी भारतीय हैं. उनसे पहले भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन भी आईएमएफ में प्रमुख अर्थशास्त्री रह चुके हैं. गीता गोपीनाथ की नियुक्ति की घोषणा करते हुए आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्दे ने कहा कि “गोपीनाथ दुनिया के उत्कृष्ट अर्थशास्त्रियों में से एक हैं और उनका पिछला रिकॉर्ड बेहद शानदार है और उन्हें वृहद अंतर्राष्ट्रीय अनुभव हासिल है."
गीता गोपीनाथ ने अपनी स्नातक की डिग्री दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज से हासिल की है. उन्होंने एमए की डिग्री दिल्ली स्कूल ऑफ इकॉनामिक्स से हासिल की है. वह हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन और अर्थशास्त्र की जॉन ज्वानस्त्रा प्रोफेसर हैं. गीता गोपीनाथ केरल के मुख्यमंत्री की आर्थिक सलाहकार भी हैं और हार्वर्ड में प्रकाशित उनके जीवन परिचय के मुताबिक, इस मानद पद पर उनकी नियुक्ति साल 2016 में हुई थी और उन्हें मुख्य सचिव का रैंक दिया गया है. वह भारत के वित्त मंत्रालय के जी-20 सलाहकार समिति में प्रतिष्ठित सदस्य के रूप में शामिल रही हैं. उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय व्यापक अर्थशास्त्र और व्यापार पर किए गए शोध से साल 2001 में प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में पीएचडी की उपाधि हासिल की है. गीता गोपीनाथ वर्ष 2005 में हार्वर्ड में शामिल हुईं, उससे पहले वह यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो में असिस्टेंट प्रोफेसर थीं. गीता अमेरिकन इकोनॉमिक्स रिव्यू की सह-संपादक और नेशनल ब्यूरो ऑफ इकोनॉमिक रिसर्च (एनबीइआर) में इंटरनेशनल फाइनेंस एंड मैक्रोइोकनॉमिक की सह-निदेशक भी रह चुकी है.

गीता अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के जिस विभाग की निदेशक नियुक्त की गई हैं, उसका कार्यभार संस्था में सबसे अहम माना जाता है. आईएमएफ का यह अनुसंधान विभाग विश्व भर की अर्थव्यतवस्थामओं पर अध्ययन करके सदस्य देशों के लिए जरूरी नीतियां तैयार करता है. साथ ही साथ उन मुद्दों पर रिसर्च को अंजाम देता है जो आईएमएफ के लिए अहम होते हैं. इसके अतिरिक्त विश्व की अर्थव्यवस्थाएं अगले कुछ वर्षों में कैसी होगी इस बारे में भी अनुमान लगाना इस विभाग का काम है.

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ): अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) एक अंतरराष्ट्रीय संस्था है, जो अपने सदस्य देशों की वैश्विक आर्थिक स्थिति पर नज़र रखने का काम करती है. यह अपने सदस्य देशों को आर्थिक और तकनीकी सहायता प्रदान करती है. यह संगठन अंतरराष्ट्रीय विनिमय दरों को स्थिर रखने के साथ-साथ विकास को सुगम करने में सहायता करता है. इसका मुख्यालय वॉशिंगटन डी॰ सी॰, संयुक्त राज्य में है. इसकी वर्तमान प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्ड (जर्मनी) हैं.

No comments:

Post a comment