मासिक करेंट अफेयर्स

16 October 2018

भारतीय वायु सेना ने मोबाइल हेल्थ ऐप शुरू किया

भारतीय वायु सेना ने अपनी 86वीं वर्षगांठ पर ‘डिजिटल इंडिया, आयुष्‍मान भारत और‍ मिशन इन्‍द्रधनुष’ के बारे में प्रधानमंत्री के सपने को ध्‍यान में रखते हुए ‘मेडवाच’ नामक एक मोबाइल हेल्‍थ ऐप की शुरूआत की है. इस ऐप की कल्‍पना भारतीय वायुसेना के चिकित्‍सकों ने की है और इसे बहुत कम लागत पर सूचना प्रौद्योगिकी निदेशालय द्वारा अपने देश में विकसित किया गया है. ‘मेडवाच’ से वायु सेना के जवान और देश के सभी नागरिकों को स्‍वास्‍थ्‍य के बारे में सही-सही और वैज्ञानिक तथा विश्‍वस्‍त विवरण उपलब्‍ध होगा. यह ऐप www.apps.mgov.gov.in पर उपलब्‍ध है और इसमें मूलभूत प्राथमिक उपचार, स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़े मुद्दे तथा पोषक आहार पर आधारित विवरण, समयानुसार स्‍वास्‍थ्‍य समीक्षा, रोग प्रतिरक्षण और स्‍वास्‍थ्‍य रिकॉर्ड कार्ड, बीएमआई कैलकुलेटर, हेल्‍पलाइन नम्‍बरों और वेब लिंकों जैसे उपयोगी माध्‍यम शामिल हैं. 

‘मेडवाच’ तीनों सशस्‍त्र सेनाओं में सबसे पहला मोबाइल हेल्‍थ ऐप है. वायु सेना प्रमुख, एयर चीफ मार्शल बी. एस. धनोआ पीवीएसएम एवीएसएम वाईएसएम वीएम एडीसी ने वायु सेना दिवस पर 8 अक्‍टूबर, 2018 को इसकी शुरूआत की. मेडवाच मोबाइल हेल्‍थ ऐप भारतीय वायु सेना की एक पहल होने के साथ ही हमारे नागरिकों के लिए एक छोटा योगदान है.

भारतीय वायु सेना दिवस: भारतीय वायुसेना की स्थापना 08 अक्टूबर 1932 को हुई थी. इसी मौके को याद करते हुए हर साल इस दिन को भारतीय वायु सेना दिवस के रूप में मनाया जाता है. ऑपरेशन राहत और ऑपरेशन मेघदूत जैसे विभिन्न महत्वपूर्ण अभियानों में तैनात विमान और हेलीकाप्टर भी प्रदर्शित किये जाते हैं. इसके साथ-साथ, विभिन्न अभियानों के लिए तैयार किये गए नए विमान भी प्रदर्शित किए जाते हैं, साथ ही इसकी विशेषताओं और इसके उद्देश्यों को भी समझाया जाता है. भारतीय वायु सेना में लगभग 1,70,000 कर्मियों की ताकत है और 1,400 से अधिक विमान हैं और इसे दुनिया के अग्रणी वायु सेना में से एक माना जाता है. भारतीय क्षेत्रों को सभी जोखिमों से बचाना और प्राकृतिक आपदाओं के दौरान प्रभावित क्षेत्रों में सहायता प्रदान करना इसकी जिम्मेदारी है.

No comments:

Post a comment