मासिक करेंट अफेयर्स

12 November 2018

हरमनप्रीत कौर टी-20 के इतिहास में शतक लगाने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं

हरमनप्रीत कौर ने 09 नवम्बर 2018 को तूफानी बल्लेबाजी करते हुए अंतरराष्ट्रीय ट्वेंटी-20 मैच में केवल 49 गेंदों में शतक बना डाला. हरमनप्रीत कौर ने अपनी शतकीय पारी में 8 छक्के और 7 चौके लगाए. हरमनप्रीत ने ग्रुप बी के इस मैच में छठे ओवर में क्रीज पर कदम रखा और 51 गेंदों पर 103 रन की लाजवाब पारी खेली जो इस प्रारूप में किसी भारतीय का पहला शतक है. उन्होंने 76 रन सिर्फ बाउंड्री से हासिल कर लिए. अपनी शतकीय पारी के साथ ही उन्होंने कई रिकॉर्ड्स को तोड़ा तथा नये रिकॉर्ड्स भी बनाए. कप्तान हरमनप्रीत ने पहले 50 रन 33 गेंदों में और अगले 50 रन मात्र 16 गेंदों में ही बना डाले थे.

हरमनप्रीत टी20 अंतरराष्ट्रीय में शतक जड़ने वाली पहली भारतीय बल्लेबाज बन गयी हैं. इससे पहले भारत की तरफ से सर्वाधिक स्कोर मिताली राज (नाबाद 97) के नाम पर था. यही नहीं हरमनप्रीत और रोड्रिग्स ने भारत के लिये पहली बार चौथे विकेट के लिये शतकीय साझेदारी निभायी. भारत ने विश्व टी20 में सर्वाधिक स्कोर भी बनाया. उसने आस्ट्रेलिया (चार विकेट 194 रन बनाम आयरलैंड, 2014) का रिकार्ड तोड़ा. 

हरमनप्रीत कौर वर्ल्ड टी20 में शतक लगाने वाली पहली भारतीय महिला कप्तान हैं. वैसे यह कारनामा करने वाली वो दुनिया की महज तीसरी कप्तान हैं. हरमनप्रीत कौर ने वर्ल्ड टी20 में भारत की ओर से सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया है. इससे पहले उन्होने साल 2014 में बांग्लादेश के खिलाफ 77 रनों की पारी खेली थी. हरमनप्रीत कौर टी20 इंटरनेशनल की एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाली भारतीय खिलाड़ी हैं. हरमनप्रीत ने अपनी शतकीय पारी में 8 छक्के लगाए. विश्वभर की बात करें तो डॉटिन ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2010 में अपनी पारी में 9 छक्के लगाए थे.

हरमनप्रीत कौर का जन्म 8 मार्च 1989 में पंजाब के मोगा में हुआ था. हरमनप्रीत एक ऑल-राउंडर खिलाड़ी हैं. हरमनप्रीत कौर ने अपना पहला टेस्ट मैच अगस्त 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था. हरमनप्रीत कौर ने साल 2014 में अपना पहला वनडे पाकिस्तान के खिलाफ खेला था. हरमनप्रीत ने वर्ष 2016 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ 31 गेंदों में 46 रनों की पारी खेलकर हर किसी का ध्यान अपनी ओर खींचा था. जून 2009 में उन्होंने ट्वेंटी-20 क्रिकेट में पदार्पण किया था.

No comments:

Post a comment