मासिक करेंट अफेयर्स

23 November 2018

केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने एयरसेवा 2.0 वेब पोर्टल लांच किया

केन्‍द्रीय नागरिक उड्डयन एवं वाणिज्‍य व उद्योग मंत्री श्री सुरेश प्रभु और नागरिक उड्डयन राज्‍य मंत्री श्री जयंत सिन्‍हा ने 19 नवंबर 2018 को नई दिल्‍ली में एयरसेवा 2.0 वेब पोर्टल और मोबाइल एप का उन्‍नत वर्जन लांच किया. इसमें कई खूबियां शामिल की गई हैं. सोशल मीडिया के साथ सुरक्षित साइन-अप एवं लॉग-इन, यात्रियों की सुविधा के लिए चैटबॉट, सोशल मीडिया पर शिकायतों सहित बेहतर शिकायत प्रबंधन, वास्‍तविक समय पर उड़ानों की ताजा स्‍थिति से अवगत कराना और उड़ान कार्यक्रम से जुड़ा विस्‍तृत विवरण उपलब्‍ध कराना इन खूबियों में शामिल हैं. एयरसेवा के उन्‍नत एवं बेहतरीन वर्जन का संचालन संवादात्‍मक वेब पोर्टल के साथ-साथ एंड्रायड एवं आईओएस दोनों ही तरह के प्‍लेटफॉर्मों पर प्रभावकारी मोबाइल एप के जरिए किया जाता है. इससे यात्रियों को बाधामुक्‍त एवं सुविधाजनक हवाई यात्रा करने का आनंद मिलेगा. वेब पोर्टल और एप्‍लीकेशन से हवाई यात्रियों की प्रतिक्रियाओं एवं सुझावों से अवगत होने में मदद मिलेगी जिससे ठोस नीतिगत कदम उठाना आसान हो जाएगा. 

इस अवसर पर नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा कि उपयोगकर्ताओं (यूजर) को बेहतर अनुभव प्रदान करने के उद्देश्‍य से एयरसेवा के एक उन्‍नत वर्जन के विकास की जरूरत महसूस की जा रही थी. उन्होंने ने कहा कि अब सेवाओं की गुणवत्‍ता बढ़ाने पर फोकस किया जा रहा है, ताकि सफर के दौरान यात्रियों को सुरक्षित एवं सुखद अनुभव हो सके. नागरिक उड्डयन राज्‍य मंत्री श्री जयंत सिन्‍हा ने कहा कि प्रत्‍येक वर्ष 5 करोड़ लोग हवाई सफर करते हैं और यह संख्‍या निकट भविष्‍य में कई गुना बढ़ जाएगी। उन्‍होंने कहा कि उपभोक्‍ताओं को बेहतरीन सेवाएं मुहैया कराने के लिए एयरसेवा को उन्‍नत करने के साथ-साथ प्रणालीगत उपाय करने की भी जरूरत महसूस की जा रही थी. इस अवसर पर श्री सुरेश प्रभु एवं श्री जयंत सिन्‍हा ने चेन्‍नई एयरपोर्ट को चैंपियन पुरस्‍कार प्रदान किया. चेन्‍नई एयरपोर्ट पर शत-प्रतिशत शिकायतों का निवारण एक साल के अंदर कर दिया गया है. 

विमानन मंत्रालय के अनुसार, प्रत्‍येक वर्ष 5 करोड़ लोग हवाई सफर करते हैं और यह संख्‍या निकट भविष्‍य में कई गुना बढ़ जाएगी. एयरसेवा के जरिए अब तक 12 हजार से ज्यादा शिकायतों का समाधान किया जा चुका है. एयरसेवा 2.0 और आगामी एयरसेवा 3.0 में प्राप्त यात्रियों के फीडबैक के आधार पर आगे की नीतियां बनाई जाएंगी. एयरसेवा 3.0 में डिजियात्रा का उपयोग करने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट के डिजिटल मैप के अलावा लोकेशन ट्रैकिंग की सहूलियत भी मिलेगी. एयरसेवा पोर्टल और मोबाइल एप नवंबर 2016 में शुरू किया गया था. मंत्रालय के अनुसार एयरसेवा 1.0 को शुरू किए जाने के बाद इसके जरिये विमान यात्रियों की कई चिंताओं को दूर करने में मदद मिली है.

No comments:

Post a comment