मासिक करेंट अफेयर्स

30 November 2018

इसरो ने सफलतापूर्वक 8 देशों के 30 सैटेलाइट लॉन्च किये

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने अपने पोलर सैटेलाइट लॉन्च वीइकल (पीएसएलवी) सी-43 की मदद से 29 नवंबर 2018 को आठ देशों ने 30 सैटेलाइट लॉन्च किये. विदेशी उपग्रहों में 23 अमेरिका से हैं और बाकि निदरलैंड, स्पेन, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, कोलंबिया, फिनलैंड और मलेशिया की है. इस लॉन्च के लिए एक दिन पूर्व श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर में उल्टी गिनती शुरू हो गई थी यह पीएसएलवी की 45वीं उड़ान है. यह भारत की पहली हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग सैटेलाइट हैं. अब इस सैटेलाइट के जरिए पृथ्वी को अंतरिक्ष से ज्यादा ध्यान से देखा जा सकता हैं. इस सफलतापूर्वक प्रक्षेपण को लेकर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इसरो को बधाई दी. 

आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में सुबह 9.58 पर यह सैटेलाइट लॉन्च की गई. पीएसएलवी की ये 45वीं यात्रा हैं. ये इसरो का तीसरा सबसे बड़ा मिशन हैं. इससे पहले इस महीने ही 14 नबंर को एजेंसी ने अपना हालिया संचार सैटेलाइन जीसैट- 29 छोड़ा था. सैटेलाइट का ये मिशन तकरीबन 2 घंटे चला, इसमें वजन 641 किलो का वजन भेजा गया हैं. इस सैटेलाइट की मदद से भारतीय सीमाओं पर होने वाली किसी भी तरह की गलत हरकत सको देखा जा सकता हैं. ये सैटेलाइट डिफेंस, जमीन और खनिज पदार्थ की खोज जैसे कई तरह के कामों के लिए इस्तेमाल की जाएंगी. इस सैटेलाइट का मुख्स काम पृथ्वी को साफ तौर पर दिखाना हैं. 

वहीं सैटेलाउट के लॉन्च होने से पहले इसरो ने कहा था कि पीएसएलवी-सी 43, इसरो की 45वीं उड़ान हैं. भारतीय हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग सैटेलाइट यानी एचवाईएसआईएस इस मिशन का प्राथमिक सैटेलाइट है. यह इसरो का तीसरा सबसे लंबा मिशन बताया जा रहा हैं. मिशन 113 मिनट में समाप्त होगा. रिपोर्ट्स के मुताबिक, रॉकेट के चौथे चरण के इंजन का फिर से उपग्रहों को दो कक्षाओं में स्थापित सकिया जायेगा. पीएसएलवी-सी 43 के प्रक्षेपण होने के बाद करीब 17 मिनट के बाद सबसे पहले पोलन सन सिंक्रोनस कक्षा में एचवाईएसआईएस को उतारेगा. एचवाईएसआईएस उपग्रह का प्राथमिक उद्देश्य पृथ्वी की सतह के साथ इलेक्ट्रोमैग्नेटिक स्पैक्ट्रम में इंफ्रारेड एवं शॉर्ट वेव इंफ्रारेड क्षेत्रों का अध्ययन करना है. इसरो ने कहा कि यह सैटेलाइट सूर्य की कक्षा में 97.957 डिग्री के झुकाव के साथ स्थापित होगा किया जाएगा.

No comments:

Post a comment