मासिक करेंट अफेयर्स

23 November 2018

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार प्रदान किया गया

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को 19 नवम्बर 2018 को इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार प्रदान किया गया. पूर्व प्रधान न्यायाधीश टी एस ठाकुर ने मनमोहन सिंह को यह पुरस्कार (2017 के लिए) प्रदान किया. यह पुरस्कार इंदिरा गांधी स्मृति न्यास के जरिए 'शांति, निरस्त्रीकरण एवं विकास' के लिए काम करने वाले व्यक्तियों, समूहों और संस्थाओं को दिया जाता है. मनमोहन सिंह को वर्ष 2004 से वर्ष 2014 तक प्रधानमंत्री के रूप में देश की आर्थिक एवं सामाजिक विकास और विश्व में भारत की साख को बनाने के लिए यह पुरस्कार दिया गया है. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की अध्यक्षता वाली जूरी ने मनमोहन सिंह को इस पुरस्कार के लिए चुना. जूरी ने विश्व में भारत के स्तर पड़ोसी देशों के साथ रिश्तों में सुधार और अर्थव्यवस्था में उनके योगदान के लिए उन्हें इस पुरस्कार के लिए चुना.

इस मौके पर न्यास की प्रमुख और कांग्रेस की शीर्ष नेता सोनिया गांधी ने मनमोहन सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि सिंह ने देश के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया. उन्होंने कहा, 'मनमोहन सिंह जिन बुलंदियों पर पहुंचे उसकी बुनियाद इंदिरा गांधी के समय पड़ी थी.' न्यायमूर्ति (सेवानिवत्ति) ठाकुर ने कहा कि मनमोहन सिंह की बड़ी खूबी यह है कि वह लोगों की सुनते हैं और यहां तक अपने विरोधियों की भी सुनते हैं. उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि अगर मनमोहन सिंह न्यायाधीश होते तो मुझसे बेहतर न्यायाधीश होते.' उन्होंने कहा कि सिंह को प्रधानमंत्री के तौर पर चयन एक बेहतरीन फैसला था और यह इस मायने में भी महत्वपूर्ण था कि उस समुदाय का व्यक्ति प्रधानमंत्री बना था जिसकी आबादी भारत में एक फीसदी है.

मनमोहन सिंह का जन्म ब्रिटिश भारत (वर्तमान पाकिस्तान) के पंजाब प्रान्त में 26 सितम्बर 1932 को हुआ था. मनमोहन सिंह भारत के तीसरे ऐसे प्रधानमंत्री रहे जिन्होंने पीएम के रूप में अपने दो कार्यकाल पूरे किए. मनमोहन रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर भी रह चुके हैं. मनमोहन सिंह भारत के 13वें प्रधानमन्त्री थे. पीवी नरसिंह राव के प्रधानमंत्री काल में वह वित्त मंत्री भी बने. मनमोहन सिंह दुनिया के जाने-माने अर्थशास्त्रियों में गिने जाते हैं.

इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार: इंदिरा गाँधी शांति पुरस्कार भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की याद में दिया जाता है. इंदिरा गाँधी को वर्ष 1984 में हत्या कर दी गई थी. उनकी स्मृति में स्थापित 'इंदिरा गांधी मेमोरिल ट्रस्ट' द्वारा वर्ष 1986 से 'इंदिरा गांधी शांति, निरस्त्रीकरण और विकास पुरस्कार' प्रति वर्ष विश्व के किसी ऐसे व्यक्ति को प्रदान किया जाता है जिसने समाज सेवा, निरस्त्रीकरण या विकास के कार्य में महत्वपूर्ण योगदान किया हो. इस पुरस्कार के अंतर्गत 25 लाख रुपए नकद, एक ट्रॉफी और प्रशस्तिपत्र प्रदान किया जाता है. बता दें कि यह पुरस्कार कई विदेशी हस्तियों को भी दिया गया है और कई संगठन भी इस पुरस्कार से सम्मानित हो चुके हैं. इन हस्तियों में मिखैल गौकबचेव, यूनिसेफ, जिमी कार्टर, शेख हसीना, एंजेला मार्केल आदि शामिल है. इससे पहले संयुक्त राष्ट्र और यूनिसेफ के साथ दुनिया की कई जानीमानी हस्तियों को यह पुरस्कार दिया जा चुका है.

No comments:

Post a comment