मासिक करेंट अफेयर्स

15 November 2018

फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक एवं सीईओ बिन्नी बंसल ने इस्तीफ़ा दिया

फ्लिपकार्ट समूह के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) और सह संस्थापक बिन्नी बंसल ने 13 नवम्बर 2018 को गंभीर व्यक्तिगत कदाचार के आरोपों के चलते अपने पद से इस्तीफा दे दिया. फ्लिपकार्ट की नई पैतृक कंपनी वॉलमार्ट ने यह जानकारी दी. उल्लेखनीय है कि बिन्नी बंसल और सचिन बंसल ने संयुक्त रूप से देश की सबसे बड़ी आनलाइन रिटेल कंपनी फ्लिपकार्ट की स्थापना की थी. वॉलमार्ट द्वारा बेंगलुरु की कंपनी में 16 अरब डॉलर के निवेश के बाद से बिन्नी बंसल समूह के सीईओ पद पर बने हुए थे. एक अन्य सह संस्थापक सचिन बंसल सौदे के तहत अपनी समूची 5.5 प्रतिशत हिस्सेदारी वॉलमार्ट को बेचकर इससे बाहर निकल गए थे. सचिन और बिन्नी एक-दूसरे के रिश्तेदार नहीं हैं. बिन्नी बंसल एक भारतीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर और इंटरनेट उद्यमी हैं. बिन्नी चंडीगढ़ के निवासी हैं तथा उन्होंने कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग में एक डिग्री के साथ भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली से स्नातक की उपाधि हासिल की है. वर्ष 2007 में उन्होंने सचिन बंसल साथ ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट को सह-संस्थापित किया और जनवरी 2016 और 11 जनवरी 2016 तक चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर के रूप में काम किया. उन्हें मुख्य कार्यकारी अधिकारी पद पर पदोन्नत किया गया था. 

वालमार्ट की और से जारी बयान में कहा गया है कि बिन्नी ने तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. बयान में कहा गया है, 'बिन्नी ने इस्तीफा देने का फैसला फ्लिपकार्ट और वॉलमार्ट की ओर से स्वतंत्र रूप से गंभीर व्यक्तिगत कदाचार के आरोपों की जांच के बाद दिया है. हालांकि उन्होंने इन आरोपों का खंडन किया है. हालांकि, यह हमारी जिम्मेदारी है कि यह जांच ठीक से और गहन तरीके से हो.' बयान में कहा गया है कि हालिया घटनाक्रमों की वजह से कंपनी से ध्यान बंट रहा था जिसकी वजह से बिन्नी ने पद छोड़ने का फैसला किया. बयान के मुताबिक, 'हालांकि, जांच में ऐसा कोई प्रमाण नहीं मिला जो शिकायतकर्ता की बिन्नी के खिलाफ शिकायत से मेल खाता हो, लेकिन इसमें विशेषरूप से निर्णयों में पारर्दिशता को लेकर कई अन्य खामियां सामने आई हैं. ये खामियां बिन्नी द्वारा परिस्थिति के हिसाब से प्रतिक्रिया को लेकर हैं. इसी वजह से हमने बिन्नी के इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है.'

बयान में कहा गया है कि बिन्नी पिछले कुछ समय से बदलाव पर विचार कर रहे थे. कंपनी उनके उत्तराधिकारी की तलाश के लिए मिलकर काम कर रही है जिसे अब और तेज किया जाएगा. कल्याण कृष्ममूर्ति फ्लिपकार्ट के सीईओ बने रहेंगे, जिसमें अब मिन्त्रा और जबांग भी शामिल हैं. ये इकाइयां फ्लिपकार्ट के कारोबार में अलग प्लेटफार्म के रूप में काम करती रहेंगी. अनंत नारायणन मिन्त्रा ओर जबॉन्ग के सीईओ बने रहेंगे तथा कृष्णमूर्ति को रिपोर्ट करेंगे. समीर निगम फ्लिपकार्ट की भुगतान इकाई फोनपे के सीईओ बने रहेंगे. वॉलमार्ट ने कहा कि कृष्णमूर्ति और निगम दोनों सीधे बोर्ड को रिपोर्ट करेंगे.

No comments:

Post a comment