मासिक करेंट अफेयर्स

23 November 2018

भारत-अमेरिका का ‘वज्र प्रहार’ नामक संयुक्त सैन्य अभ्यास राजस्थान में आयोजित

भारत व अमेरिका की सेना के संयुक्त युद्धाभ्यास 'वज्र प्रहार-2018 का 19 नवम्बर 2018 को आरंभ हुआ. यह युद्धाभ्यास 2 दिसम्बर 2018 तक चलेगा. गौरतलब है कि एशिया की सबसे बड़ी व सेना की दक्षिण-पश्चिमी कमान द्वारा विश्व स्तरीय ट्रेनिंग नोड के रूप में स्थापित की गई महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में भारत व अमेरिका की सेना संयुक्त युद्धाभ्यास कर रही है. यह युद्धाभ्यास दोनों देशों के आपसी सैन्य सहयोग, सेना के विशेष बलों की रणनीतियों का पारस्परिक आदान-प्रदान करने, सशस्त्र बलों की क्रियाशीलता बढ़ाने तथा वैश्विक स्तर पर आतंकवाद से निपटने के उद्देश्य से किया जा रहा है. ‘वज्र प्रहार, युद्धाभ्यास की शुरुआत वर्ष 2010 में हुई.

इस युद्ध अभ्यास में अमेरिकी सेना का प्रतिनिधित्व अमेरिकी प्रशांत कमांड के स्पेशल फोर्सेज ग्रुप द्वारा किया जा रहा है. इस अभ्यास में 12 दिन तक अर्धमरुस्थलीय तथा ग्रामीण परिवेश में प्रशिक्षण दिया जायेगा. इससे दोनों देशों की सेनाओं के बीच इंटर-ओपेराबिलिटी और सैन्य सहयोग में वृद्धि होगी. इस अभ्यास में दोनों देशों की सेनाएं बंधकों को छुड़ाने, मरुस्थलीय परिस्थिति में स्वयं को ढालने तथा कॉम्बैट फायरिंग का भ्यास करेंगी. प्रशिक्षण की समाप्ति के बाद तीन दिवसीय आउटडोर अभ्यास का आयोजन किया जायेगा.

इससे पहले वज्र प्रहार युद्धाभ्यास मार्च, 2017 में राजस्थान में आयोजित हुआ था. इसके बाद जनवरी, 2018 में भारत एवं संयुक्त राज्य अमरीका की सेनाओं का संयुक्त सैन्य अभ्यास वज्र प्रहार अमरीका में संयुक्त बेस लेविस मैकॉर्ड, सिएटल में आयोजित हुआ था. इस अभ्यास में भारतीय सेना के दक्षिणी कमान का 45 सदस्यीय सदस्यीय विशेष बल शामिल हुआ. इसके बाद अब नवंबर माह में वज्र प्रहार संयुक्त युद्धाभ्यास फिर से बीकानेर की महाजन फिल्ड रेंज में आयोजित हो रहा है. यह अभ्यास वर्ष 2012 से 2015 तक आयोजित नहीं हो पाया.

No comments:

Post a comment