मासिक करेंट अफेयर्स

23 November 2018

विश्व शौचालय दिवस

विश्व शौचालय दिवस (World Toilet Day) 19 नवंबर 2018 को मनाया गया. यह दिवस उन लोगों के बारे में जागरूकता लाने के लिए मनाया जा रहा है, जिनके पास शौचालय की सुविधा नहीं है, जबकि यह उनका मूलभूत अधिकार है. इस दिवस का आयोजन बेहतर पोषण और स्वास्थ्य में सुधार के तथ्य पर बल देते हुए शौचालय के महत्व पर पूरी दुनिया का ध्यान आकर्षित करने के लिए किया गया. यह विभिन्न बीमारियों के प्रसार को रोकने में भी मदद करता है. विश्व शौचालय दिवस वैश्विक स्वच्छता संकट से निपटने हेतु प्रेरित करने वाला एक महत्वपूर्ण दिवस है. वर्ष 2018 के लिए विश्व शौचालय दिवस का विषय "व्हेन नेचर कॉल्स (When nature calls)" है. विश्व में सभी लोगों को शौचालय की सुविधा उपलब्ध करवाना संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यों का हिस्सा है. शौचालय, एक शक्तिशाली अर्थव्यवस्था बनाने और स्वास्थ्य में वृद्धि करने और लोगों की गरिमा और सुरक्षा के संरक्षण में, एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं. 

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार विश्व की अनुमानि ढाई अरब आबादी को पर्याप्त स्वच्छता मयस्सर नहीं है और एक अरब वैश्विक आबादी खुले में सौच को अभिसप्त है. उनमे से आधे से अधिक लोग भारत में रहते हैं नतीजन बीमारियां उत्पन्न होने के साथ साथ पर्यावरण दूषित होता इसलिए सरकार इस समस्या से उबरने के लिए स्वच्छ भारता अभियान चला रही है. लेकिन एक सर्वे के अनुसार खुले में सौच जाना एक तरह की मानसिकता दर्शाता है. इसके मुताबिक सार्वजनिक शौचालयोँ में नियमित रूप से जाने वाले तकरीबन आधे लोगो और खुले में शौच जाने वाले इतने ही लोगो का कहना है कि यह सुविधाजनक उपाय है. ऐसे में स्वच्छ भारत के लिए सोच में बदलाव की जरुर दिखती है.

संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्यो में सबको शुध्द पेयजल और स्वच्छता की सुविधा उलब्ध कराने का लक्ष्य भी रखा गया है. लेकिन खराब आधारभूत ढांचे दूषित जल आपूर्ति और गंदगी के कारण प्रत्येक दिन एक हजार बच्चो मौत का शिकार होते हैं. विश्व शौचालय दिवस के द्वारा निजता के अभाव में महिलाओं और बालिकाओं के साथ यौन हिंसा की आशंका और शौचालय के उपयोग में गैर-बराबरी के बारे में जागरूकता पैदा की जानी है. विश्व शौचालय दिवस की स्थापना के बाद से दुनिया में परिवर्तन करने के लिए व्यवसायों, सरकारों और कई अन्य समूहों ने इसको बढ़ावा देने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

विश्व शौचालय दिवस की स्थापना विश्व शौचालय संगठन द्वारा वर्ष 2001 में की गयी थी. संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा वर्ष 2013 में इसे आधिकारिक संयुक्त राष्ट्र विश्व शौचालय दिवस घोषित किया गया. इसका प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र जल संघ द्वारा प्रस्तुत किया गया था. विश्व शौचालय संगठन एक अंतरराष्ट्रीय गैर-लाभकारी संस्था है जो दुनिया भर में स्वच्छता और शौचालय की स्थिति में सुधार के लिए प्रतिबद्ध है. संगठन के सभी सदस्य शौचालय की समस्या को खत्म करने और दुनिया भर में स्वच्छता के समाधान के लिए काम करते हैं.

No comments:

Post a comment