मासिक करेंट अफेयर्स

28 November 2018

भारत के स्टार शटलर समीर वर्मा ने सैयद मोदी अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप का खिताब जीता

भारत के स्टार शटलर समीर वर्मा ने 25 नवम्बर 2018 को चीन के लू ग्वांगझू को हराकर लगातार दूसरी बार सैयद मोदी अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप का खिताब जीत लिया. उन्होंने खिताबी मुकाबले में चीन के लू ग्वांगझू को 16-21, 21-19, 21-14 से हराया. समीर ने लगातार दूसरी बार यह खिताब अपने नाम किया. उन्होंने पिछले साल बी साई प्रणीत को हराकर यह खिताब अपने नाम किया था और अब उन्होंने इस साल भी यह खिताब बरकरार रखा है. हालांकि, ओलिंपिक मेडल विनर साइना नेहवाल महिला वर्ग का ताज दोबारा हासिल नहीं कर सकीं. उन्हें चीन की हान यू के खिलाफ उन्हें 18-21, 8-21 से हार का सामना करना पड़ा. समीर ने एक घंटे 10 मिनट में यह मैच जीता. वर्ल्ड नंबर-16 समीर का वर्ल्ड नंबर-36 गुआंग्झु के खिलाफ यह पहली जीत है. 


इस जीत के साथ ही उन्होंने इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन में गुआंग्झु से मिली हार का बदला भी चूकता कर लिया है. उन्होंने अब गुआंग्झु के खिलाफ अपना करियर रेकॉर्ड 1-1 का कर लिया है. समीर पहले गेम में थोड़े नरम दिखाई दिए और वह पहला गेम 16-21 से हार गए. इसके बाद उन्होंने दूसरे गेम में जोरदार वापसी की और 14-11 की बढ़त बनाने के बाद उन्होंने 21-19 से गेम जीत लिया. तीसरा और निर्णायक गेम में दोनों खिलाड़ी अच्छे लय में नजर आए. समीर इस गेम में एक समय 7-3 से आगे थे. इसके बाद चीनी खिलाड़ी ने 7-7 की बराबरी हासिल करने के बाद 10-7 की बढ़त बना ली. समीर ने फिर वापसी की और पहले तो 10-10 की बराबरी हासिल की और फिर उन्होंने 16-12 की अच्छी बढ़त बना ली. चीनी खिलाड़ी इसके बाद गेम में पिछड़ते गए और समीर ने 19-14 की बढ़त बनाने के बाद 21-14 से गेम और मैच अपने नाम कर लिया. 

यह टूर्नामेंट राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन सैयद मोदी की स्मृति में वर्ष 1991 में उत्तर प्रदेश बैडमिंटन एसोसिएशन द्वारा स्थापित किया गया था. वर्ष 2003 तक यह एक राष्ट्रीय स्तर के टूर्नामेंट था परन्तु वर्ष 2004 के बाद इस अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता के रूप में मान्यता दी गई जिसके बाद से इसमें विदेशी खिलाड़ी भी भागे लेने लगे.

No comments:

Post a comment