मासिक करेंट अफेयर्स

17 December 2018

बिजेंद्र पाल सिंह एफटीटीआई के चेयरमैन नियुक्त किये गये

मिनिस्ट्री ऑफ इंफॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग ने FTII के वाइस चेयरमैन बिजेंद्र पाल सिंह को संस्थान का नया प्रेसिडेंट नियुक्त किया गया है. बी.पी सिंह इंस्टीट्यूट के पूर्व छात्र हैं और अनुपम खेर की जगह लेंगे. खेर ने अक्टूबर में व्यस्त होने के कारण पद से इस्तीफा देने का फैसला किया था. I&B मिनिस्टर राज्यवर्धन सिंह राठौर को भेजे अपने इस्तीफा पत्र में अनुपम खेर ने कहा था 'मैंने अपनी जिम्मेदारियों से इस्तीफा देने का निर्णय काफी सोच-विचार के बाद लिया है.'

अनुपम खेर को अक्टूबर 2017 में केंद्र सरकार ने FTII का चेयरमैन नियुक्त किया था. अनुपम खेर से पहले अभिनेता गजेंद्र चौहान FTII के चेयरमैन थे. चौहान को साल 2015 में इस पद पर नियुक्त किया गया था. जब अनुपम खेर ने FTII जॉइन किया था, उस वक्त छात्रों ने ये सवाल उठाया था कि FTII की स्थापना विभिन्न पहलुओं की शिक्षा देने के उद्देश्य से की गई थी लेकिन धीरे-धीरे ये एक ऐसा संस्थान बनता जा रहा है जो ‘धन जुटाने’ के लिए कम अवधि के क्रैश कोर्स चलाता है.

बिजेंद्र पाल सिंह एक भारतीय धारावाहिक के निर्माता व निर्देशक हैं. वे देहरादून से हैं. इसके अलावा वे सीआईडी नामक धारावाहिक के निर्माता निर्देशक के साथ-साथ कभी कभी चित्रोले नाम के किरदार की भूमिका में भी दिखाई देते हैं. वे फायरवर्क्स नामक निर्माता कंपनी के मालिक हैं. वे फिल्म सिनेमेटोग्राफी में स्पेशलाइज्ड हैं. उन्होंने वर्ष 1970 के एफटीटीआई बैच में सिनोमैटॉग्रफी कोर्स में डिग्री ली थी. उन्होंने अपना करियार वर्ष 1973 में दूरदर्शन से बतौर न्यूज कैमरामैन शुरू किया था. उन्होंने दूरदर्शन के लिए मर्डर मिस्ट्री फिल्म सिर्फ चार दिन बनाई थी. उन्होंने वर्ष 2010 में भारत की पहली साइलेंट कॉमेडी गुटर गू को प्रोड्यूस किया था. बिजेंद्र पाल सिंह को टीवी के क्राइम शोज के निर्माण के लिए जाने जाते हैं. वे सोनी टीवी के लिए लगातार 21 सालों तक सीआईडी सीरियल का डायरेक्शन और प्रॉडक्शन करने के कारण चर्चा में आये थे.

भारतीय फिल्म और टेलिविज़न संस्थान (एफटीटीआई): भारतीय फिल्म और टेलिविज़न संस्थान भारत के पुणे शहर में स्थित हैं. यह संस्थान भारत सरकार के सुचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत एक स्वशासी संस्था हैं. वर्ष 1960 में पुणे के प्रभात स्टूडियो परिसर में इस संस्थान को स्थापित किया गया. विगत वर्षो में भारतीय फिल्म और टेलिविज़न संस्थान के छात्रों ने भारतीय एवं अंतर्राष्ट्रीय सिनेमा एवं टेलिविज़न के छेत्र में काफी नाम कमाया है.

1 comment: