मासिक करेंट अफेयर्स

04 December 2018

भारतीय निशानेबाज अभिनव बिंद्रा शूटिंग के सर्वोच्च सम्मान ‘द ब्लू क्रॉस’ से सम्मानित

भारत के लिए निशानेबाजी में ओलिंपिक का इकलौता गोल्ड मेडल दिलाने वाले दिग्गज निशानेबाज अभिनव बिंद्रा (Abhinav Bindra) के नाम एक और उपलब्धि हो गई. अभिनव बिंद्रा (Abhinav Bindra) को आईएसएसएफ (ISSF) ब्लू क्रॉस सम्मान से नवाजा गया है, इसके साथ ही वह यह सम्मान हासिल करने वाले पहले भारतीय बन गए हैं. निशानेबाजी की शीर्ष संस्था आईएसएसएफ (ISSF) की ओर से दिया जाने वाला यह सबसे बड़ा सम्मान है और अभिनव बिंद्रा (Abhinav Bindra) पहले भारतीय शूटर हैं जिन्हें इससे सम्मानित किया गया. इस सम्मान को निशानेबाजी में दिए गए उनके उत्कृष्ट सम्मान के लिए दिया जाता है. अभिनव बिंद्रा (Abhinav Bindra) ने सम्मान को पाने के बाद खुशी जाहिर करते हुए कहा, 'आईएसएसएफ (ISSF) की ओर से दिए गए इस सर्वोच्च अवॉर्ड को पाकर मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं. एक खिलाड़ी के रूप में ऐथलीटों और आईएसएसएफ (ISSF) के लिए काम करना काफी अच्छा रहा.'

अभिनव बिंद्रा का जन्म 28 सितम्बर 1982 को उत्तराखंड के देहरादून में हुआ था. अभिनव बिंद्रा ने वर्ष 2008 बीजिंग ओलिंपिक में 10 मीटर एयर राइफल इवेंट का गोल्‍ड मेडल जीतकर इतिहास रचा था. अभिनव बिंद्रा ओलिंपिक में व्यक्तिगत स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले एकमात्र भारतीय खिलाड़ी हैं. वे वर्ष 2010 से वर्ष 2014 तक आईएसएसएफ एथलीट समिति के सदस्य और वर्ष 2014 से वर्ष 2018 तक चेयरमैन रहे. उनके कार्यकाल के दौरान उन्हें जनवरी 2016 में ‘प्रेसिडेंट्स बटन’ और ‘डिप्लोमा ऑफ ऑनर’ से सम्मानित किया गया था. अभिनव बिंद्रा ने वर्ष 2002, वर्ष 2006 तथा वर्ष 2010 के राष्ट्रमंडल खेलों में भी स्वर्ण पदक जीता था. उन्होंने वर्ष 2014 में ग्लास्गो में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में भी स्वर्ण पदक जीता था. उन्हें साल 2000 में अर्जुन अवॉर्ड और 2001 में राजीव गांधी खेल रत्न से नवाजा जा चुका है. साल 2009 में उन्हें पद्मभूषण सम्मान मिला था. 2016 रियो ओलिंपिक में अपने दूसरे ओलिंपिक मेडल से चूकने के बाद अभिनव बिंद्रा (Abhinav Bindra) ने 33 साल की उम्र में रिटायरमेंट का फैसला किया था.

No comments:

Post a Comment