मासिक करेंट अफेयर्स

06 December 2018

गौतम गंभीर ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की

भारत के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने  4 दिसंबर 2018 को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की. दिल्ली और आंध्र के बीच छह दिसंबर से फिरोजशाह कोटला में होने वाला रणजी ट्राफी मैच उनके लगभग दो दशक तक चले चमकदार करियर का अंतिम मैच होगा. क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 10,000 से अधिक रन बनाने वाले इस 37 वर्षीय बल्लेबाज ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किये गये वीडियो में खेल के सभी प्रारूपों को अलविदा कहने की घोषणा की. इस अवसर पर गंभीर ने कहा, 'अपने देश के लिए 15 साल से भी
अधिक समय तक क्रिकेट खेलने के बाद मैं इस खूबसूरत खेल को अलविदा कहना चाहता हूं.' उन्होंने कहा, 'आंध्र के खिलाफ अगला रणजी ट्राफी मैच मेरा आखिरी मैच होगा. मेरे क्रिकेट सफर का अंत उसी फिरोजशाह कोटला मैदान पर होगा जहां से इसकी शुरूआत हुई थी.' 

बायें हाथ के इस बल्लेबाज को कभी हार नहीं मानने के अपने जज्बे के लिये जाना जाता था. उन्होंने 2007 में विश्व टी20 और 2011 में विश्व कप में भारत की खिताबी जीत में अहम भूमिका निभायी थी. उनकी अगुवाई में कोलकाता नाइटराइडर्स ने दो बार आईपीएल खिताब जीते. गंभीर ने 58 टेस्ट मैचों में 41.96 की औसत से 4154 रन बनाये जिसमें नौ शतकीय पारी शामिल है. उन्होंने 147 एकदिवसीय मैचों में 39.68 की औसत और 11 शतकीय पारियों की मदद से 5238 रन बनाये. गंभीर से टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी अपनी छाप छोड़ी. उन्होंने 37 मैच में सात अर्धशतक की मदद से 932 रन बनाये जिसमें उनका औसत 27.41 का था. 

वर्ष 2011 में गौतम गंभीर ने श्रीलंका के खिलाफ विश्व कप फाइनल में 97 रन की पारी खेलकर भारत को विश्व चैंपियन बनाया था. वर्ष 2007 में आयोजित पहले ट्वेंटी-20 विश्व कप के फाइनल मुकाबले में भी गंभीर सर्वाधिक स्कोर करने वाले बल्लेबाज थे. गंभीर ने टीम इंडिया की तरफ से पारी का आगाज करते हुए 75 रन बनाए थे और भारत वर्ल्ड चैंपियन बना था. गंभीर ने दिल्ली के अपने साथी वीरेंद्र सहवाग के साथ सफल सलामी जोड़ी बनायी. इन दोनों ने सलामी जोड़ी के रूप में 4412 रन जोड़े जो कि भारतीय रिकार्ड है. 

No comments:

Post a comment