मासिक करेंट अफेयर्स

12 December 2018

पीएम की आर्थिक सलाहकार परिषद के सदस्य सुरजीत भल्ला ने इस्तीफा दिया

प्रसिद्ध अर्थशास्त्री सुरजीत भल्ला ने प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद् के अंशकालिक सदस्य के पद से इस्तीफा दे दिया है. सुरजीत भल्ला ने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी, लेकिन कोई वजह नहीं बताई. सुरजीत भल्ला का इस्तीफा 01 दिसंबर 2018 से प्रभावी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अर्थशास्त्री सुरजीत भल्ला का आर्थिक सलाहकार परिषद में अंशकालिक सदस्य पद से इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. नीति आयोग के सदस्य बिबेक देबरॉय ईएसी-पीएम के प्रमुख हैं वहीं अर्थशास्त्री रथिन रॉय, आशिमा गोयल और शमिका रवि इसके अन्य पार्ट-टाइम सदस्य हैं. वे अल्पकालिक सदस्य के तौर पर आर्थिक सलाहकार परिषद (ईएसी-पीएम) में शामिल हुए थे.

प्रधानमंत्री आर्थिक सलाहकार परिषद (पीएमईएसी) भारत में प्रधानमंत्री को आर्थिक मामलों पर सलाह देने वाली समिति है. इसमें एक अध्यक्ष तथा चार सदस्य होते हैं. इसके सदस्यों का कार्यकाल प्रधानमंत्री के कार्यकाल के बराबर होता है. आमतौर पर प्रधानमंत्री द्वारा शपथ ग्रहण के बाद सलाहकार समिति के सदस्यों की नियुक्ति होती है. प्रधानमंत्री द्वारा पदमुक्त होने के साथ ही सलाहकार समिति के सदस्य भी त्यागपत्र दे देते हैं. आर्थिक सलाहकार परिषद एक स्वतंत्र निकाय है, जिसका कार्य आर्थिक मुद्दो पर सरकार को, विशेष कर प्रधानमंत्री को सलाह देना है. यह सलाह अपनी ओर से अथवा प्रधानमंत्री द्वारा सौपें गये किसी विषय पर हो सकती है. इसके अतरिक्त प्रधानमंत्री द्वारा सोपें गये किसी अन्य कार्य को अंजाम देना भी इसके कार्यो में शामिल है.

No comments:

Post a Comment