मासिक करेंट अफेयर्स

13 December 2018

पांच राज्यों के चुनाव परिणाम घोषित, बदला देश का सियासी नक्शा

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावो के परिणाम घोषित हो गई है. चुनाव परिणाम के मुताबिक, कांग्रेस ने भाजपा से छत्तीसगढ़ छीन लिया है. राजस्थान में भी हर 5 साल में सरकार बदलने का 25 साल से चल रहा ट्रेंड कायम है. कांग्रेस यहां बहुमत के साथ वापसी करती दिख रही है. मध्यप्रदेश में कांग्रेस बहुमत के नजदीक दिख रही है. उधर, तेलंगाना में दूसरी बार टीआरएस सत्ता हासिल कर रही है. मिजोरम में एमएनएफ को जीत मिली. कांग्रेस के हाथ से पूर्वोत्तर का यह एकमात्र राज्य निकल गया है.

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव: मध्य प्रदेश (एमपी) विधानसभा चुनाव परिणाम के लिए 230 सीटों पर मतगणना खत्म हो गया है. मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस के बीच रुझानों में कड़ी टक्कर देखने को मिली. कांग्रेस सबसे ज्यादा सीटें हासिल कर 15वीं विधानसभा के इस चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. उसने 15 साल पुरानी भाजपा सरकार को बड़ा झटका दिया है. मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों के परिणाम में कांग्रेस पार्टी 114 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. हालांकि, सरकार बनाने के लिए कांग्रेस को 116 सीटें चाहिए. वहीं, बीजेपी के खाते में 109 सीटें गई हैं जबकि अन्य 7 उम्मीदवारों ने जीतीं. कांग्रेस ने 114 सीटों के साथ ही दो सहयोगियों की सीटें हासिल कर 230 सीटों के सदन में बहुमत का दावा किया. कांग्रेस ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को सरकार बनाने का पत्र भेज दिया.

राजस्थान विधानसभा चुनाव: राजस्थान विधानसभा चुनाव के परिणाम का इंतजार खत्म हो चुका है. जिन 199 सीटों पर मतदान हुआ था, उनके परिणाम सामने आ चुके हैं. कांग्रेस ने राजस्थान में 99 और बीजेपी ने 73 सीटों पर जीत दर्ज की है. राजस्थान की 200 सदस्यीय विधानसभा की 199 सीटों के लिए 07 दिसंबर को वोट डाले गए थे. यहां 74.21 प्रतिशत वोटिंग दर्ज की गई जो कि पिछले चुनाव की तुलना में करीब एक प्रतिशत कम है. एक सीट पर प्रत्याशी के निधन के कारण चुनाव टल गया है. इससे पहले वर्ष 2013 में बीजेपी ने 163 सीटें हासिल की थीं जबकि कांग्रेस को महज 21 सीटों से संतोष करना पड़ा था. वहीँ बीएसपी को 03 और अन्य पार्टियों को 13 सीटें प्राप्त हुई थीं.

छत्तीसगढ़ विधान सभा चुनाव: छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने के लिए किसी भी दल को 46 सीटें हासिल करनी थीं. कांग्रेस ने आसानी से इतनी सीटें हासिल करने के बाद उसके और आगे जाकर 68 सीटें पा ली है. सिर्फ 15 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी को जीत मिली है. 7 सीटें छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस(जे) गठबंधन को मिली है. छत्तीसगढ़ में विधानसभा का यह चौथा चुनाव था. इससे पहले तीन चुनावों में भारतीय जनता पार्टी जीत हासिल कर पिछले 15 वर्षों से सत्ता में है. वहीं कांग्रेस को लगातार हार का सामना करना पड़ा है. छत्तीसगढ़ में 90 सीटों के लिए दो चरणों में 12 नवंबर और 20 नवंबर को मतदान कराया गया था. जिसमें राज्य के 76.60 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है. छत्तीसगढ़ में मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के बीच था.

तेलंगाना विधानसभा चुनाव: तेलंगाना विधानसभा चुनाव 2018 के परिणाम घोषित हो गए. आपको बता दें कि 119 सीटों की विधानसभा में केसीआर की पार्टी टीआरएस ने 88 सीटों पर अपना कब्जा जमा कर दिखा दिया है कि समय से पहले विधानसभा भंग करने का चंद्रशेखर राव का दांव चल गया है. नतीजों से लगभग स्पष्ट हो गया है कि मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव (केसीआर) का हर तीर निशाने पर लगा. टीआरएस प्रमुख चंद्रशेखर राव एक बार फिर अपनी सरकार बनाने का दावा राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन को पेश किया. जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया. इसके बाद 13 दिसंबर 2018 को चंद्रशेखर राव ने राज्य में दूसरी बार सीएम बनने की शपथ लेने जा रहे हैं. आपको बता दें कि चंद्रशेखर राव ने जून महीने में ही राज्य विधानसभा भंग करने की राज्यपाल से पेशकश की थी, जिसे राज्यपाल ने स्वीकार कर लिया था और चंद्रशेखर राव को कार्यवाहक सरकार के तौर पर पद पर बने रहने को कहा था.

मिज़ोरम विधानसभा चुनाव: मिज़ोरम विधानसभा चुनावों के नतीजों के लिए नतीजे जारी कर दिए गये हैं. राज्य की 40 सीटों के लिए मिज़ो नेशनल पार्टी (एमएनएफ) सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. मिजोरम की 40 सीटों के परिणामों में इनमें 26 सीटों पर एमएनएफ, 05 सीटों पर कांग्रेस, एक सीट पर भाजपा और 08 सीटों पर अन्य स्वतंत्र उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है.

No comments:

Post a Comment