मासिक करेंट अफेयर्स

17 December 2018

भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु ने वर्ल्ड टूर फाइनल्स का खिताब जीतकर रची इतिहास

भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु ने जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर वर्ल्ड टूर फाइनल्स का खिताब अपने नाम कर लिया है. 15 दिसंबर को खेले गए महिला सिंगल फाइनल मुकाबले में सिंधु का मुकाबला ओकुहारा से था. सिंधु ने ओकुहारा को 21-19, 21-17 हराकर पहली बार इस टूर्नामेंट के खिताब पर कब्जा जमाया है. बता दें कि पिछले साल खेले गए वर्ल्ड टूर फाइनल्स के फाइनल मुकाबले में भी सिंधु और ओकुहारा का आमना-सामना हुआ था. उस मुकाबले में ओकुहारा ने सिंधु को मात दी थी.  2018 में इस खिताब को जीतने के साथ ही सिंधु बीडब्‍ल्‍यूएफ वर्ल्‍ड टूर फाइनल्‍स जीतने वाली पहली भारतीय शटलर बन गई हैं. यह उनका 14वां करियर खिताब और सीजन का पहला खिताब है. 

सिंधु ने फाइनल मैच में शुरुआत से ही आक्रामकता बनाए थी. लगातार तीसरे साल टूर्नामेंट के लिए जगह बनाने वाली सिंधु ने वर्ल्ड नंबर-5 नोजोमी ओकुहारा पहले दो सेटों में मात देकर खिताब जीत लिया है. सिंधु को 2017 के वर्ल्ड चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले में इसी शटलर से मात मिली थी, वैसे दोनों ने अब तक एक-दूसरे के खिलाफ 6-6 मुकाबले जीते थे. लगातार तीसरे साल टूर्नामेंट के लिए जगह बनाने वाली सिंधु ने विश्व रैंकिंग में 12वें स्थान पर काबिज बेवेन झांग को एकतरफा मुकाबले में 21-9, 21-15 से मात देकर नॉकआउट चरण में प्रवेश किया था. 

सिंधु ने 11 बीडब्ल्यूएफ सिंगल्स खिताब जीते हैं जबकि 14 बार किसी टूर्नामेंट के फाइनल में वह रनरअप रही हैं. सिंधु ने दूसरी बार किसी टूर्नामेंट के फाइनल में ओकुहारा को हराया है. भारतीय खिलाड़ी ने पिछले साल कोरिया ओपन के फाइनल में भी इस जापानी खिलाड़ी को हराया था. भारतीय बैडमिंटन संघ (बाई) ने सिंधु को इस ऐतिहासिक सफलता के लिए 10 लाख रुपये का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की है. टूर्नामेंट में उन्होंने गजब की लय दिखाते हुए वर्ल्ड नंबर 1 चीनी ताइपे की ताइ जू यिंग, वर्ल्ड नंबर 2 जापान की अकाने यामागुची, वर्ल्ड नंबर 5 जापान की नोजोमी ओकुहारा, वर्ल्ड नंबर 8 थाईलैंड की रत्चानेक इंतानोन को हराया.

No comments:

Post a comment