मासिक करेंट अफेयर्स

30 January 2019

चित्रा मुद्गल सहित 24 लेखक साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित

हिन्दी की प्रसिद्ध लेखिका चित्रा मुदगल सहित 24 लेखकों को 29 जनवरी 2019 को साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया. अकादमी के अध्यक्ष एवं कन्नड़ के प्रख्यात नाटककार चंद्रशेखर क्म्बार ने इन लेखकों को वर्ष 2018 के लिए यह प्रस्कार प्रदान किये. पुरस्कार में एक लाख रुपये की राशि, प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिह्न एवं शॉल शामिल हैं. अंग्रेजी के लेखक अनीस सलीम और ओडिया लेखक दाशरथी दास की गैर-मौजूदगी में यह पुरस्कार उनके प्रतिनिधियों ने प्राप्त किये. पचहत्तर वर्षीय चित्रा को यह पुरस्कार पोस्ट बॉक्स नंबर 203 नाला सोपारा पर दिया गया जो किन्नर के जीवन पर आधारित है. गत 45 वर्षों से साहित्य में सक्रिय चित्रा मुदगल की पहली कहानी 1964 में सफ़ेद सेनारा नाम से नवभारत टाइम्स में प्रकाशित हुई थी. 

राजस्थानी भाषा के लिए राजेश कुमार व्यास, उर्दू के लिए रहमान अब्बास, मैथिली के लिए वीणा ठाकुर, संस्कृत के लिए रमाकांत शुक्ल और पंजाबी के लिए मोहनजीत को यह पुरस्कार प्रदान किया गया. पुरस्कृत होने वाले अन्य लेखकों में संजीव चट्टोपाध्याय बंगला, सनंत तांती असमिया, ऋतुराज बसुमतारी, बोडो इंदरजीत केसर डोगरी, शरीफा बिजलीवाला गुजराती के जी, नागराज्प्प कन्नड़, मुश्ताक अहमद मुश्ताक कश्मीरी, परेश नरेन्द्र कामत कोंकणी, एस रामेशन नायर मलयालम , बुधिचंद्र हैस्नाबा मणिपुरी, लोकनाथ उपाध्याय चाप्गाई नेपाली,श्याम बेसरा संताली, खीमन यू मुलानी सिन्धी, एस रामकृष्णन तमिल, कोलाकुरी इनाक,तेलुगू शामिल हैं.

साहित्य अकादमी पुरस्कार से नवाजे गए लेखकों एवं उनकी कृतियों की सूची इस प्रकार है-
भाषा
लेखक
कृति का नाम
असमिया
सनंत तांती
काइलेर दिनदो आमार हब
बांग्ला
संजीव चट्टोपध्याय
श्री कृष्णेर कटा दिन
डोगरी
इंदरजीत केसर
भागीरथ
बोडो
रितुराज बसुमतारी
दोंसे लामा
अंग्रेजी
अनीस सलीम
द ब्लाइंड लेडीज डीसेंडेंट्स
गुजराती
शरीफा वीजलीवाल
‌विभाजननी व्यथा
हिंदी
चित्रा मुद्गल
पोस्ट बॉक्स नं. 203-नाला सोपारा
कन्नड़
के.जी.नागराजप्पा
अनुश्रेणी-यजामणिके
कश्मीरी
मुश्तार अहमद मुश्ताक
आख
कोंकणी
परेश नरेंद्र कामत
चित्रलिपी
मैथिली
वीणा ठाकुर
परिणीता
मलयालम
एस.रमेशन
गुरुपउर्णमी
मणिपुरी
बुधिचंद्र हैस्नाम्बा
डमखैगी वाडमदा
मराठी
म. सु. पाटील
सर्जनप्रेरणा आणि कवित्वशोध
नेपाली
लोकनाथ उपाध्याय चापादाई
किन रोयौ उपमा
उड़िया
दशरथि दास
प्रसंग पुरुणा भावना नूआ
पंजाबी
मोहनजीत
कोने दा सूरज
राजस्थानी
राजेश कुमार व्यास
कविता दैवे दीठ
संस्कृत
रमाकांत शुक्ल
मम जननी
संथाली
श्याम बेसरा ‘जीवी रारेक’
मारोम
सिंधी
खीमण यू. मुलाणी
जिया में टांडा
तमिल
एस. रामकृष्णन
संचारम
तेलुगु
कोकलुरी इनोक
विमर्शिनी
उर्दू
रहमान अब्बास
रोहजिन

No comments:

Post a comment