मासिक करेंट अफेयर्स

19 January 2019

प्रधानमंत्री ने वाइब्रेंट गुजरात समिट का उद्धाटन किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 18 जनवरी 2019 को वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल सम्मेलन के 9वें संस्करण का गांधीनगर में उद्धाटन किया. यह शिखर सम्मेलन गुजरात के गांधीनगर स्थित महात्मा मंदिर में आयोजित किया जा रहा है. इसकी थीम ‘शेपिंग ऑफ़ ए न्यू इंडिया’ है. गुरुवार को 'वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक व्यापार प्रदर्शनी' का उद्घाटन करने के बाद पीएम मोदी अहमदाबाद में नए अस्पताल का उद्घाटन किये. इसके बाद गुरुवार शाम को साबरमती नदी के तट पर प्रधानमंत्री एक ‘शॉपिंग मेले’ का भी उद्घाटन किए. शिखर सम्मेलन में इस बार पांच देशों के 30 हजार से ज्‍यादा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं. इनमें भारत और विदेशों से कई बड़ी कंपनियों के सीईओ शामिल होंगे.

वाइब्रेंट गुजरात समिट का आयोजन 18 से 20 जनवरी 2019 तक किया जा रहा है. वाइब्रेंट गुजरात समिट के हिस्‍से के रूप में कई प्रमुख कार्यक्रमों के आयोजन के अलावा इस शिखर सम्‍मेलन का नौवां संस्‍करण अनेक पूर्णरूपेण नए मंचों (फोरम) के शुभारंभ का भी साक्षी बनेगा जिनका उद्देश्‍य इस शिखर सम्‍मेलन के दौरान ज्ञान साझा करने के स्‍वरूप में विविधता लाना और प्रतिभागियों के बीच नेटवर्किंग के स्‍तर को बढ़ाना है. इस सम्मेलन में करीब 15 लाख लोग और 100 से ज्यादा देशों के 3000 प्रतिनिधियों के पहुंचने की उम्मीद है. वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल ट्रेड शो का आयोजन राज्य की राजधानी के एक मैदान के लगभग दो लाख वर्गमीटर क्षेत्र में हो रहा है. इस कार्यक्रम में लगभग 25 औद्योगिक और व्यावसायिक क्षेत्र अपने उत्पादों का प्रदर्शन कर रहे हैं. इस शिखर सम्मेलन के द्वारा गुजरात में व्यापारिक अवसरों पर विचार-विमर्श किया जाता है.

वाईब्रेंट गुजरात के पार्टनर देश ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, चेक रिपब्लिक, डेनमार्क, फ्रांस, जापान, मोरक्को, नॉर्वे, पौलेंड, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, थाईलैंड, नीदरलैंड, यूएई, उज्बेकिस्तान है. दुबई के शॉपिंग फेस्टिवल की तर्ज पर आयोजित किए जा रहे इस फेस्‍टि‍वल में बेचे जाने जाने वाले सामान पर काफी छूट दी जाएगी साथ ही लाखों रुपये के इनाम जीतने का मौका भी मिलेगा. 12 दिन चलने वाले इस फेस्टिवल में शॉपिंग के अलावा होटल, क्लब, जिम, स्पा जैसी सुविधाएं भी हैं. ‘वाइब्रेंट गुजरात समिट’ की परिकल्‍पना वर्ष 2003 में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा की गई थी जो उस समय गुजरात के तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री थे. इस शिखर सम्‍मेलन के आयोजन का मुख्‍य उद्देश्‍य गुजरात को फिर से एक पसंदीदा निवेश गंतव्‍य या राज्‍य के रूप में स्‍थापित करना था. यह शिखर सम्‍मेलन वैश्विक सामाजिक-आर्थिक विकास, ज्ञान साझा करने और प्रभावकारी साझेदारियां करने से जुड़े एजेंडे पर विचार मंथन करने के लिए एक उपयुक्‍त प्‍लेटफॉर्म सुलभ कराएगा.

No comments:

Post a comment