मासिक करेंट अफेयर्स

21 January 2019

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने तमिलनाडु में रक्षा औद्योगिक गलियारे का उद्घाटन किया

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने 20 जनवरी 2019 को तमिलनाडु में देश के दूसरे रक्षा औद्योगिक गलियारे (Defence Industrial Corridor) का उद्घाटन किया. इसे तमिलनाडु रक्षा औद्योगिक गलियारा नाम दिया गया है. इसमें तमिलनाडु के पांच शहर शामिल किए जाएंगे. सीतारमण ने कहा कि इसको लेकर स्थानीय उद्योग की प्रतिक्रिया काफी उत्साहनक रही है. ‘वे तो यहां तक चाहते थे कि इस गलियारे का विस्तार पलक्कड़ तक किया जाए, लेकिन हमने उनसे कहा है कि अभी यह सिर्फ शहरों तक केंद्रित रहेगा.’’ तमिलनाडु रक्षा औद्योगिक गलियारे को तमिलनाडु रक्षा उत्पादन चतुर्भुज भी कहा जाता है. इसमें नोडल शहर
चर्तुभुज बनाते हैं. इन शहरों में चेन्नई, होसुर, सालेम, कोयम्बटूर और तिरुचिरापल्ली आते हैं.


इस रक्षा गलियारे में कुल 3,038 करोड़ रुपये का निवेश किया जायेगा जिसमें सरकारी कंपनियों द्वारा सबसे अधिक निवेश किया जाएगा. ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और भारत डॉयनामिक्स लिमिटेड द्वारा क्रमशः 2,305 करोड़, 140.5 करोड़ और 150 करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा. निजी क्षेत्र की टीवीएस, डाटा पैटर्न और अल्फा डिजाइन क्रमशः 50 करोड़, 75 करोड़ और 100 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी. रक्षा उपकरणों का उत्पादन करने वाली दुनिया की बड़ी कंपनियों में शामिल लॉकहीड मार्टिन ने भी इसमें निवेश करने की इच्छा जताई है. इसका उद्देश्य रक्षा क्षेत्र को निजी भागीदारों के लिए खोलना है और भारत में उपकरण बनाना तथा उसका विदेश में निर्यात करना है.

रक्षा औद्योगिक गलियारा बनाने का उद्देश्य रक्षा औद्योगिक इकाइयों के बीच संपर्क सुनिश्चित करना है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पिछले साल अपने बजट भाषण में दो रक्षा औद्योगिक उत्पादन गलियारे स्थापित करने की घोषणा की थी. सरकार ने उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में गलियारा बनाने का लक्ष्य रखा था. पिछले साल 11 अगस्त को उत्तर प्रदेश रक्षा औद्योगिक गलियारे की शुरुआत अलीगढ़ से हुई थी. इसके तहत रक्षा उत्पादन में 3,732 करोड़ रुपये का निवेश करने की घोषणा की गई थी.

No comments:

Post a comment