मासिक करेंट अफेयर्स

09 January 2019

भारतीय मूल की प्रोफ़ेसर गीता गोपीनाथ ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की मुख्य अर्थशास्त्री का पदभार संभाला

प्रतिष्ठित अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) में मुख्य अर्थशास्त्री का पद संभाल लिया है. इस पद पर पहुंचने वाली वह पहली महिला हैं. वे आइएमएफ की 11वीं मुख्य अर्थशास्त्री हैं. वे ऐसे समय में इस पद पर नियुक्त की गई हैं, जब दुनिया वित्तीय अनिश्चितता से गुजर रही है. उन्होंने मौरिस ओस्फेल्ड की जगह ली है, जो पिछले वर्ष 31 दिसंबर को रिटायर हो गए. वे मुद्राकोष की आर्थिक सलाहार और इसके अनुसंधान विभाग की निदेशक बनायी गयी हैं. आईएमएफ़ में इस पद पर पहुंचने वाली गीता दूसरी भारतीय हैं. उनसे पहले भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन भी आईएमएफ़ में प्रमुख अर्थशास्त्री रह चुके हैं. आईएमएफ के लिए नीतियों को तैयार करने और रणनीतियों को निर्धारित करने और विभिन्न देशों के प्रदर्शन का मूल्यांकन करने में मदद करने के अलावा, वह विश्व आर्थिक आउटलुक रिपोर्ट का काम भी देखेंगी, जिसे वैश्विक अर्थव्यवस्था का एक प्रमुख सर्वेक्षण माना जाता है.

गीता का जन्म वर्ष 1971 में भारत के मैसूर शहर में हुआ था. उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से बीए और दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स और यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन से एमए की डिग्री हासिल की. उन्होंने अर्थशास्त्र में पीएचडी की डिग्री प्रिंसटन विश्विद्यालय से वर्ष 2001 में प्राप्त की. उन्होंने वर्ष 2001 से शिकागो विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर काम शुरू कर दिया. वे वर्ष 2005 से हार्वर्ड विश्वविद्यालय में पढ़ा रही हैं. वे फेडरल रिजर्व बैंक ऑफ न्यूयॉर्क के सलाहकार भी हैं. वे अमेरिकी आर्थिक समीक्षा की सह-संपादक, अंतर्राष्ट्रीय अर्थशास्त्र की वर्तमान हैंडबुक की सह-संपादक और आर्थिक अध्ययन की समीक्षा की संपादक भी रह चुकी हैं. 

उन्होंने भारत के वित्त मंत्रालय के लिए जी -20 मामलों पर प्रतिष्ठित व्यक्ति सलाहकार समूह के सदस्य के रूप में भी कार्य किया. वे वर्ष 2018 में अमेरिकन एकेडमी ऑफ आर्ट्स एंड साइंसेज में फैलो चुनी गई थी. उन्हें वर्ष 2017 में वाशिंगटन विश्वविद्यालय से विशिष्ट पूर्व छात्र पुरस्कार मिला. उन्हें वर्ष 2011 में विश्व आर्थिक मंच द्वारा यंग ग्लोबल लीडर के रूप में चुना गया था. उन्हें वर्ष 2003 और वर्ष 2004 में जर्नल ऑफ इंटरनेशनल इकोनॉमिक्स में प्रकाशित सर्वश्रेष्ठ पेपर के लिए भगवती पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. गीता गोपीनाथ केरल के मुख्यमंत्री की आर्थिक सलाहकार भी हैं और हार्वर्ड में प्रकाशित उनके जीवन परिचय के मुताबिक, इस मानद पद पर उनकी नियुक्ति साल 2016 में हुई थी और उन्हें मुख्य सचिव का रैंक दिया गया है. गीता गोपीनाथ विनिमय दरों, व्यापार और निवेश, अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संकट, मौद्रिक नीति और उभरते बाजारों के संकट पर 40 अनुसंधान लेख प्रकाशित कर चुकी हैं.

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ): अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) एक अंतरराष्ट्रीय संस्था है, जो अपने सदस्य देशों की वैश्विक आर्थिक स्थिति पर नज़र रखने का काम करती है. यह अपने सदस्य देशों को आर्थिक और तकनीकी सहायता प्रदान करती है. यह संगठन अंतरराष्ट्रीय विनिमय दरों को स्थिर रखने के साथ-साथ विकास को सुगम करने में सहायता करता है. इसका मुख्यालय वॉशिंगटन डी॰ सी॰, संयुक्त राज्य में है.

No comments:

Post a Comment