मासिक करेंट अफेयर्स

19 February 2019

भारत और अर्जेंटीना के मध्य 10 समझौतों पर हस्ताक्षर

भारत और अर्जेंटीना ने 18 फरवरी 2019 को रक्षा, पर्यटन और कृषि सहित विभिन्‍न क्षेत्रों में 10 समझौता ज्ञापनों पर हस्‍ताक्षर किए हैं. इनमें अंतरिक्ष, परमाणु ऊर्जा, रक्षा, टूरिज्म, सूचना प्रोद्योगिकी, कृषि शामिल हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अर्जेंटीना के राष्‍ट्रपति मौरेसियो मैक्री के बीच नई दिल्‍ली में बातचीत के बाद इन समझौतों पर हस्‍ताक्षर किए गए. दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति की समीक्षा की और सहयोग के नए क्षेत्रों की संभावनाओं पर चर्चा की. भारत और अर्जेंटीना के बीच पिछले 70 वर्षों से पारंपरिक रूप से सौहार्दपूर्ण मैत्री संबंध रहे हैं. दोनों देशों के बीच परमाणु, अंतरिक्ष, आर्थिक, वाणिज्यिक, कृषि, विज्ञान, प्रौद्योगिकी, संस्‍कृति और पर्यटन क्षेत्र में व्‍यापक संबंध हैं. 

भारत और अर्जेंटीना ने द्विपक्षीय संबंधों के विविध आयामों, वैश्विक आतंकवाद समेत अनेक विषयों पर संबंधों को प्रगाढ़ बनाने पर चर्चा की और दोनों देशों ने सूचना प्रौद्योगिकी, संचार प्रौद्योगिकी, परमाणु ऊर्जा और कृषि समेत अन्य क्षेत्रों में सहयोग को गहरा बनाने के लिये 10 सहमति पत्र को अंतिम रूप दिया. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत की यात्रा पर आए फ्रांस के राष्ट्रपति मॉरिसियो मैक्री के साथ विविध विषयों पर व्यापक चर्चा की और कहा कि राष्ट्रपति मैक्री के साथ उनकी यह पांचवीं मुलाकात दोनों देशों के बीच आपसी संबंधों की तेज़ रफ्तार और बढ़ते महत्व को दर्शाती है. प्रधानमंत्री ने कहा, ''दोनों देशों ने अपने साझा मूल्यों और हितों को देखते हुए और शांति, स्थिरता, आर्थिक प्रगति तथा समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए, अपने संबंधों को सामरिक सहयोग के स्तर का बनाने का निर्णय लिया है. अंतरिक्ष और परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण उपयोग के क्षेत्र में हमारा सहयोग लगातार बढ़ रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि रक्षा सहयोग के संबंध में आज जिस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए हैं, वह रक्षा क्षेत्र में हमारे सहयोग को एक नया स्वरुप देगा. उन्होंने कहा कि आज दोनों देशों ने अपने वाणिज्यिक संबंधों को बढ़ाने के लिए विशिष्ट तरीकों की पहचान की है.

दोनों नेताओं के बीच बातचीत के बाद दोनों पक्षों ने रक्षा के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के लिये सहमति पत्र 'एमओयू' पर हस्ताक्षर किया. दोनों देशों ने पर्यटन के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के लिये भी एमओयू किया. दोनों देशों ने असैन्य परमाणु के क्षेत्र में भी सहयोग बढ़ाने पर सहमति व्यक्त की और इस संबंध में भारत के ग्लोबल सेंटर आफ न्यूक्लियर एनर्जी पार्टनरशिप और अर्जेन्टीना के सेक्रेटेरियट आफ एनर्जी के बीच एमओयू हुआ. पुलवामा आतंकी हमले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि आतंकवादियों और उनके मानवता विरोधी समर्थकों के खिलाफ कार्रवाई से हिचकना भी आतंकवाद को बढ़ावा देना है.

No comments:

Post a Comment