मासिक करेंट अफेयर्स

21 February 2019

भारत और सऊदी अरब के बीच 5 अहम समझौते, आतंक के खिलाफ सहयोग पर सहमति

भारत और सऊदी अरब के बीच 20 फरवरी 2019 को 5 अहम समझौतों पर हस्ताक्षर हुए. ये समझौते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के बीच बातचीत के बाद हुए. इसके अतिरिक्त सऊदी क्राउन प्रिंस ने खुफिया सूचना साझा करने सहित दूसरे क्षेत्रों में भारत के साथ सहयोग करने की बात कही है. आतंकवाद और कट्टरपंथ को 'साझी चिंता करार देते हुए सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान ने  कहा कि सऊदी अरब इससे निपटने में भारत और पड़ोसी देशों को पूरा सहयोग देगा. सऊदी अरब के युवराज और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वार्ता को 'व्यापक एवं सफल बताया. सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान 19 फरवरी 2019 को दो दिन की यात्रा पर भारत पहुंचे थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रोटोकॉल तोड़ते हुए खुद सऊदी क्राउन प्रिंस का स्वागत करने पहुंचे थे. सऊदी क्राउन प्रिंस भारत की पहली द्विपक्षीय यात्रा पर आए है.

5 अहम समझौते: भारत और सऊदी अरब के बीच ऊर्जा को लेकर बड़ा समझौता हुआ है. भारत और सऊदी अरब के बीच टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए एक एमओयू पर साइन हुए हैं. ऐसे में दोनों देश पर्यटन को बढ़ाना चाहते हैं. भारत और सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने के लिए भी समझौता हुआ है. दोनों देशों के बीच प्रसार को साझा करने पर भी समझौता हुआ है. भारत में प्रसार भारती और वहां के सरकार प्रसारण के बीच डील हुई है. ताकि दोनों देशों के बीच पारंपरिक और सांस्कृतिक समझ पैदा हो. दोनों देशों के बीच इंटरनेशनल सोलर अलायंस को लेकर भी बड़ा करार हुआ है. भारत ने सोलर अलाइंस समिट सोलर एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए कई देशों से समझौता किया है.

इस अवसर पर भारत और सऊदी अरब ने  संयुक्त वक्तव्य जारी करते हुए अपने आर्थिक संबंधों को नई ऊंचाइयों पर ले जाने तथा ऊर्जा संबंधों को खरीददार-विक्रेता से आगे बढ़ाते हुए सामरिक गठजोड़ में तब्दील करने का संकल्प व्यक्त किया है. सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान ने भारत में विभिन्न क्षेत्रों में 100 अरब डॉलर के निवेश करने की घोषणा की. सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद अपने देश की जेलों में बंद 850 भारतीय कैदियों को रिहा करने का फैसला किया है. 

सऊदी अरब ने भारत से जाने वाले हज यात्रियों का कोटा बढ़ा कर दो लाख सालाना करने का फैसला किया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सऊद के बीच हैदराबाद हाउस में हुई प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक में सऊदी अरब ने इस आशय की घोषणा की. वर्ष 2018 में भारतीय हज यात्रियों का कोटा एक लाख 75 हजार 25 था. सऊदी अरब भारत का चौथा सबसे बड़ा कारोबारी साझेदार है. 2017-18 के दौरान दोनों देशों के बीच 1.95 लाख करोड़ का सालाना कारोबार हो रहा था. सऊदी अरब भारत की कुल जरूरत का 17% कच्चा तेल और 32% एलपीजी मुहैया करा रहा है.

No comments:

Post a Comment