मासिक करेंट अफेयर्स

18 February 2019

राष्ट्रपति ने सांस्कृतिक सद्भाव को बढ़ावा देने हेतु टैगोर पुरस्कार प्रदान किये

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 18 फरवरी 2019 को राजकुमार सिंघाजीत सिंह, छायानट (बांग्लादेश की सांस्कृतिक संगठन) और रामजी सुतार को क्रमशः वर्ष 2014, 2015 और 2016 के लिए टैगोर सांस्कृतिक सद्भाव पुरस्कार प्रदान किये. समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद थे. राष्ट्रपति कोविंद ने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भारत में हर क्षेत्र की अलग पहचान है. यह अलग पहचान हमें विभाजित नहीं करती, बल्कि एकता के सूत्र में बांधने और सौहार्द बढ़ाने का काम करती है.

राजकुमार सिंघाजीत सिंह को मणिपुरी नृत्य के माध्यम से सांस्कृतिक सद्भाव को बढ़ावा देने और मणिपुरी नृत्य की परंपरा को बढ़ावा देने के लिये यह सम्मान दिया गया. रामवनजी सुतार को मूर्तिशिल्प को आगे बढ़ाने तथा गुजरात में सरदार पटेल की सबसे ऊंची प्रतिमा के शिल्पकार के रूप में उनके योगदान के लिये यह पुरस्कार दिया गया. इसके अलावा बांग्लादेश के सांस्कृतिक संगठन छायानट को सांस्कृतिक समरसता को बढ़ावा देने के लिए यह पुरस्कार दिया गया.

पहला टैगोर पुरस्कार वर्ष 2012 में भारत के महान सितारवादक पंडित रविशंकर को और दूसरा टैगोर पुरस्कार वर्ष 2013 में जुबीन मेहता को प्रदान किया गया था. टैगोर पुरस्कार में एक करोड़ रुपये की धनराशि, प्रशस्तिपत्र, पट्टिका और पारंपरिक दस्तकारी/हथकरघा से बना उत्कृष्ट उपहार प्रदान किया जाता है.

No comments:

Post a Comment