मासिक करेंट अफेयर्स

05 March 2019

विश्वभर में 2017 से 2018 के बीच खसरे के मामले 48.4% बढ़े: यूनिसेफ रिपोर्ट

यूनिसेफ के मुताबिक, दुनियाभर में 2017-2018 के बीच खसरे के मामले 48.4% बढ़े और 2018 में खसरे के कुल मामलों में से तकरीबन तीन-चौथाई फ्रांस, ब्राज़ील व फिलीपीन्स समेत 10 देशों में सामने आए. यूनिसेफ के अनुसार वर्ष 2017-18 में खसरे का सबसे ज्यादा संक्रमण यूक्रेन, फिलीपींस और ब्राजील में बढ़ा है. यूनिसेफ कार्यकारी निदेशक हेनरीटा फोर ने कहा की खसरे के वैश्विक मामले खतरनाक रूप से बढ़ रहे हैं. यह संक्रमण 10 देशों में ज्यादा बढ़ा है, जो कुल संक्रमण का 74% से ज्यादा है. इनमें कई ऐसे
देश भी हैं, जो पहले खसरा मुक्त घोषित हो चुके हैं. अकेले यूक्रेन में खसरे के 30,338 नए मामले सामने आए, जो पिछले वर्ष से 30,000 से अधिक हैं. वर्ष 2019 के पहले दो महीनों में 24,042 लोग खसरे से संक्रमित हुए हैं. फिलीपींस में खसरे से संक्रमित 12,736 नए मामले सामने आए और 203 लोगों की मौत हुई है. यूनिसेफ ने कहा कि हमें अभी से खसरे के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए संभल जाना होगा.

खसरा श्वसन प्रणाली में वायरस, विशेष रूप से मोर्बिलीवायरस के जीन्स पैरामिक्सोवायरस के संक्रमण से होता है. मोर्बिलीवायरस भी अन्य पैरामिक्सोवायरसों की तरह ही एकल असहाय, नकारात्मक भावना वाले आरएनए वायरसों द्वारा घिरे होते हैं. इसके लक्षणों में बुखार, खांसी, बहती हुई नाक, लाल आंखें और एक सामान्यीकृत मेकुलोपापुलर एरीथेमाटस चकते भी शामिल है. खसरा श्वसन के माध्यम से फैलता है. 90% लोग जिनमें रोग प्रतिरोधक क्षमता नहीं है और जो संक्रमित व्यक्ति के साथ एक ही घर में रहते हैं, वे इसके शिकार हो सकते हैं. यह संक्रमण औसतन 14 दिनों (6-19 दिनों तक) तक प्रभावी रहता है. अंग्रेजी बोलने वाले देशों में खसरा का एक वैकल्पिक नाम रुबेओला है, जिसे अक्सर रुबेला (जर्मन खसरा) के साथ जोड़ा जाता है; हालांकि दोनों रोगों में कोई संबंध नहीं हैं.

यूनिसेफ (UNICEF) के बारे में जानकारी: यूनिसेफ की स्थापना संयुक्त राष्ट्र की महासभा द्वारा 11 दिसम्बर 1946 को हुई थी, जिसका मुख्यालय न्यूयॉर्क में स्थित है. यूनिसेफ का पूरा नाम यूनाइटेड नेशन्स चिल्ड्रन फंड है जिसकी पूरी दुनिया में कई ब्रांच हैं. वर्ष 1953 तक यूनिसेफ का पूरा नाम United Nations International Children’s Emergency Fund था. इसकी स्थापना पूरे विश्व में मौजूद बच्चों के स्वास्थ्य, पोषण, शिक्षा और कल्याण के लिए की गई थी. यूनिसेफ विश्वभर में मौजूद स्वास्थ्य सेवा संस्थानों खासकर विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ मिलकर बच्चों को पानी, स्वच्छता, इंफेक्शंस से बचाने के कैंपैन चलाती हैं. यूनिसेफ की स्थापना का आरंभिक उद्देश्य द्वितीय विश्व युद्ध में नष्ट हुए राष्ट्रों के बच्चों को खाना और स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना था.

No comments:

Post a comment