मासिक करेंट अफेयर्स

09 May 2019

प्रसिद्द अर्थशास्त्री बैद्यनाथ मिश्रा का निधन

प्रसिद्ध अर्थशास्त्री डॉ. गिरीश मिश्र का निधन हो गया. वह 80 वर्ष के थे. तीस दिसम्बर 1939 को बिहार के मोतिहारी में जन्मे गिरीश मिश्र कई वर्षों से बीमार चल रहे थे. बीस दिन पहले उनकी पत्नी का भी निधन हो गया था. गिरीश मिश्र ने स्कूली शिक्षा बिहार के मोतिहारी में पूरी की थी और फिर पटना विश्विद्यालय से शिक्षा प्राप्त कर दिल्ली आये और यहां के दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से पीएचडी की उपाधि हासिल की. उनके परिवार में दो बेटे हैं. मिश्रा ने 1949 में कटक में रावेनशॉ विश्वविद्यालय में लेक्चरर के रूप में अपना करियर शुरू किया था. वह 1981 से 1985 तक ओडिशा
कृषि और प्रौद्योगिकी (OUAT) विश्वविद्यालय के कुलपति थे. वह 1985 से 1990 तक राज्य योजना बोर्ड के अध्यक्ष भी रहे हैं.

गिरीश मिश्र प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी विभूति मिश्र के पुत्र थे जो 1952 में पूर्वी चंपारण से लोकसभा के सदस्य निर्वाचित हुए थे. गिरीश मिश्र ने अंग्रेजी में अर्थशास्त्र पर 20 से अधिक पुस्तकें लिखी हैं जिनमे नेहरु और कांग्रेस की आर्थिक नीतियों तथा लोहिया पर लिखी किताबें भी शामिल हैं. वह दिल्ली विश्वविद्यालय के किरोड़ीमल कॉलेज से रीडर के पद से लगभग 20 साल पहले सेवा निवृत्त हुए थे और स्वतंत्र लेखन कर रहे थे. उनके स्तम्भ अंग्रेजी के सभी बड़े अखबारों में वर्षों से प्रकाशित हो रहे थे. उन्होंने विश्व प्रसिद्ध लेखक बाल्जाक पर भी एक किताब लिखी है. इसके अलावा भारत का आर्थिक इतिहास भी लिखा है. 

No comments:

Post a comment