मासिक करेंट अफेयर्स

23 July 2019

भारत की युवा एथलीट हिमा दास ने जीता पांचवां स्वर्ण पदक

भारत की युवा स्प्रिंटर हिमा दास ने अपने शानदार प्रदर्शन को जारी रखते हुए पांचवां स्वर्ण पदक जीत लिया है. हिमा ने चेकगणराज्य में नोवे मेस्टो नाड मेटुजी ग्रां प्री में महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा में पहला पायदान हासिल किया. इसके साथ ही हिमा ने एक महीने के भीतर ही पांचवां स्वर्ण पदक जीत लिया है. हिमा ने 52.09 सेकेंड का समय निकाला. हिमा का इस महीने ये कुल पांचवां स्वर्ण पदक है. इससे पहले 200 मीटर में हिमा दो जुलाई को पोलैंड में, सात जुलाई को पोलैंड में ही कुंटो एथलेटिक्स मीट में, 13 जुलाई को क्लाइनो (चेक गणराज्य में) और 17 जुलाई को चेक रिपब्लिक में ही टाबोर ग्रां प्री में स्वर्ण जीत चुकी हैं.

हिमा ने बुधवार को हुई रेस को 23.25 सेकेंड में पूरा करके सोना जीता. दूसरे स्थान पर इस बार भी भारत की वीके विस्मया रहीं जो हिमा दास से 53 सेकेंड पीछे रहते हुए दूसरे स्थान पर जगह बनाने में कामयाब रहीं. उन्होंने 52.48 सेकंड का समय लेते हुये रजत पदक जीता. वहीं, तीसरे स्थान पर सरिता बेन गायकवाड़ रहीं जिन्होंने 53.28 सेकेंड का समय लिया.

हिमा दास का जन्म 09 जनवरी 2000 को नगाँव, असम में हुआ था. उनके पिताजी पेशे से धान की खेती करते हैं. असम राज्य के किसान परिवार से आने वाली हिमा दास ने साल 2017 में अपने कोच से दौड़ने की ट्रेनिंग लेना शुरू किया था और बहुत ही कम समय में उन्होंने रेस में महारत हासिल कर ली. विश्व बाल दिवस 2018 उत्सव के अवसर पर हिमा दास भारत की पहली युवा एंबेसडर बनीं थी. मुख्य बात यह है कि हिमा दास पहली युवा भारतीय लड़की हैं जिन्हें यूनिसेफ ने अपना ब्रैंड एंबेसडर बनाया था. ढिंग एक्सप्रेस के नाम से प्रसिद्ध हिमा दास ने अप्रैल 2019 में एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 400 मीटर की दौड़ से पीठ दर्द के कारण से बाहर हो गई थीं. हिमा दास का इस सीजन का यह व्यक्तिगत स्तर पर बहुत ही अच्छा प्रदर्शन था.

पुरुष वर्ग में राष्ट्रीय रिकॉर्ड होल्डर मोहम्मद अनस ने 400 मीटर की स्पर्धा में 45.40 सेकेंड का समय निकालते हुए स्वर्ण जीता. अनस ने 13 जुलाई को इसी स्पर्धा में 45.21 सेकेंड के समय के साथ सोना जीता था. 

No comments:

Post a comment