मासिक करेंट अफेयर्स

08 August 2019

अनुच्छेद 370 पर पाकिस्तान ने भारत से व्यापारिक रिश्ता तोड़ा

भारत प्रशासित कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने को लेकर पाकिस्तान ने भारत से राजनयिक संबंध सीमित करने और द्विपक्षीय व्यापारिक संबंध तोड़ने की घोषणा की है. प्रधानमंत्री इमरान ख़ान की अध्यक्षता में पाकिस्तान की राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक हुई जिसमें भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापारिक रिश्ते को निलंबित करने की घोषणा की गई है. इस बैठक में विदेश मंत्री, रक्षा मंत्री, गृह मंत्री समेत सेना और खुफ़िया एजेंसियों के अधिकारी भी मौजूद थे. राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की ओर जारी बयान के मुताबिक़, ''बैठक में कश्मीर की स्वायत्तता पर भारत सरकार की ओर से एकतरफ़ा और ग़ैरक़ानूनी कार्रवाई किए जाने से पैदा हुई परिस्थिति पर चर्चा हुई.'' बैठक में भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर और नियंत्रण रेखा के हालात पर भी विचार हुआ. इस बैठक में भारत के साथ राजनयिक रिश्ते सीमित करने और द्विपक्षीय व्यापार को निलंबित करने का फ़ैसला किया गया है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा है कि दिल्ली स्थित पाकिस्तानी दूतावास से वो अपने राजदूत को जल्द बुला लेंगे और इस्लामाबाद से भारतीय राजदूत को वापस जाने को कहेंगे. इसके साथ ही इस मसले को संयुक्त राष्ट्र और सुरक्षा परिषद में उठाने का फ़ैसला किया गया है. बैठक में तय किया गया कि पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को कश्मीरियों के साथ एकजुटता प्रदर्शित करने के रूप में मनाया जाएगा जबकि भारत के स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को काला दिवस मनाया जाएगा. बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने मानवाधिकार उल्लंघन के संबंध में भारत के ख़िलाफ़ सभी कूटनीतिक चैनलों के इस्तेमाल के निर्देश दिए हैं. इमरान ख़ान ने सेना को भी सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं. 

भारत प्रशासित कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने से पैदा हुई आपातस्थिति को लेकर बुधवार को दूसरे दिन भी नेशनल असेंबली और सीनेट की संयुक्त बैठक हुई. दोनों सदनों के संयुक्त सत्र में अनुच्छेद 370 को हटाए जाने की निंदा की गई. पाकिस्तान की संसद के संयुक्त सत्र में भी कश्मीर के हालात पर चर्चा की गई. पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शीरीन मज़ारी ने कहा कि कश्मीर में भारत जो कर रहा है वो 'किसी धूर्त सरकार के युद्ध अपराधों' जैसा है. उन्होंने कहा कि भारत ने जो किया है उसे देखते हुए पाकिस्तान के लोग भारत की सरकार को 'धूर्त सरकार' कहते हैं. उन्होंने कहा कि 'कश्मीर को विवादित क्षेत्र घोषित करने वाले संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का उल्लंघन किया गया है.' "भारत जो हिंसा कर रहा है वो स्पष्ट रूप से नस्लीय सफ़ाया और नरसंहार है." उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को ये पूछना चाहिए कि संयुक्त राष्ट्र का दख़ल करने का अधिकार कहां चला गया है.

वहीं पाकिस्तानी पीपुल्स पार्टी के सीनेटर राजा रब्बानी ने कहा कि कश्मीर अब उपमहाद्वीप का गज़ापट्टी बन जाएगा. "अगर आप इसे व्यापक संदर्भ में देखें तो ये अमरीका, इसराइल और भारत का एक गठजोड़ है जिसे हम देख नहीं पा रहे हैं. क्या हम भूल गए हैं कि जब ट्रंप ने मध्यस्थता की तो गोलान हाइट्स इसराइल को दे दिया." राजा रब्बानी ने कहा कि नियंत्रण रेखा के पास पट्टनी बनने से शरणार्थी पाकिस्तान में आएंगे और हमेशा युद्ध का ख़तरा बना रहेगा. उन्होंने कहा, "मोदी ने हिंदुओं के लिए कश्मीर को कश्मीरियों से जीत लिया है."

इस बीच पाकिस्तान ने अपने हवाई क्षेत्र का एक कॉरिडोर बंद कर दिया है. इसके कारण भारत की उड़ानों को 12 मिनट ज़्यादा वक्त लगेगा. हवाई क्षेत्र बंद होने की वजह से उड़ानों को दूसरे रूट से जाना होगा. पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र से एयर इंडिया की रोज़ाना 50 फ्लाइट्स गुज़रती हैं, जो अमरीका, यूरोप और मध्य पूर्व के देशों के लिए जाती हैं. इससे पहले भी बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने 26 फरवरी से अपना हवाई मार्ग बंद कर दिया था और 16 जुलाई को पूरी तरह फिरसे खोला था.

No comments:

Post a comment