मासिक करेंट अफेयर्स

06 September 2019

समाज कल्याण विभाग, बिहार में बीआईएसपीएस परियोजना के तहत 917 पदों की भर्ती

समाज कल्याण विभाग, बिहार ने बीआईएसपीएस परियोजना के तहत विभिन्न श्रेणी के कुल 917 पदों को भरने के लिए आवेदन पत्र आमंत्रित किए हैं. इनमें सेंटर मैनेजर, अकाउंट असिस्टेंट, सीनियर फिजियोथेरेपिस्ट, मोबिलिटी इंस्ट्रक्टर समेत अन्य कई पद शामिल हैं. ये सभी नियुक्तियां संविदा के आधार पर होंगी. इच्छुक और योग्य उम्मीदवारों को इन पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा. आवेदन करने की अंतिम तिथि 19 सितंबर 2019 है. हर तरह के आरक्षण और आयु सीमा में छूट का लाभ सिर्फ बिहार राज्य के मूल निवासी उम्मीदवारों को मिलेगा. अन्य राज्यों के उम्मीदवार अनारक्षित श्रेणी में आएंगे और इसी श्रेणी में आवेदन करने के योग्य होंगे. 

रिक्त पदों, योग्यता और आवेदन प्रक्रिया समेत अन्य महत्वपूर्ण जानकारिया: 
सेंटर मैनेजर, पद : 63 (अनारक्षित- पुरुष : 16 महिला : 10)
योग्यता : मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी अथवा संस्थान से डिसएबिलिटी रिहेबिलिटेशन/एडमिनिस्ट्रेशन/सोशल वर्क इन डिसएबिलिटीज स्टडी/सोशल वर्क/मैनेजमेंट/हॉस्पिटल मैनेजमेंट/हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन/पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन/सोशियोलॉजी/साइकोलॉजी/डवलपमेंट स्टडीज में पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री प्राप्त हो अथवा 
- मैनेजमेंट/हॉस्पिटल मैनेजमेंट/हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा प्राप्त होना चाहिए.
- इसके साथ ही संबंधित कार्यक्षेत्र में कम से कम चार वर्ष का अनुभव हो.
वेतनमान : 37,500 से 50,000 रुपये.

एडमिन-कम-अकाउंट असिस्टेंट, पद : 63 (अनारक्षित- पुरुष : 16 महिला : 10)
योग्यता : कॉरमर्स विषय के साथ ग्रेजुएट डिग्री प्राप्त होने के साथ ही अकाउंट के कार्य में कम से कम एक वर्ष का कार्यानुभव होना चाहिए. अच्छी कम्युनिकेशन स्किल होने के साथ ही हिन्दी और अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए.

केस मैनेजर, पद : 70 (अनारक्षित- पुरुष : 18 महिला : 10)
योग्यता : साइको-सोशल रिहेबिलिटेशन/रिहेलिबिटेशन साइंस/रिहेबिलिटेशन स्टडीज/सोशल वर्क इन डिशएबिलिटी स्टडीज/रिहेबिलिटेशन साइकोलॉजी में पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री प्राप्त होनी चाहिए अथवा रिहेबिलिटेशन एंड मैनेजमेंट/गेरियाट्रिक केयर/रिहेबिलिटेशन साइकोलॉजी/रिहेबिलिटेशन साइंस/रिहेबिलिटेशन स्टडीज/स्पेशल एजुकेशन में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा प्राप्त हो. इसके साथ ही संबंधित कार्यक्षेत्र में कम से कम दो वर्ष का अनुभव प्राप्त होना चाहिए अथवा उपरोक्त विषयों में बैचलर डिग्री प्राप्त होने के साथ ही संबंधित क्षेत्र में कम से कम चार वर्ष का कार्यानुभव हो. हिन्दी और अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ होने के अलावा एमएस ऑफिस पर कार्य करने का ज्ञान होना चाहिए.

No comments:

Post a Comment