मासिक करेंट अफेयर्स

16 April 2020

पीएम मोदी ने देश में 3 मई तक लॉकडाइन जारी रखने की घोषणा की

कोरोना संकट और लॉकडाउन के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल 2020 को देश को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि देश में 3 मई तक लॉकडाइन जारी किया जाएगा. अगले एक सप्ताह में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कठोरता और ज्यादा बढ़ाई जाएगी. 20 अप्रैल तक हर कस्बे, हर थाने, हर जिले, हर राज्य को परखा जाएगा. जो क्षेत्र इस अग्निपरीक्षा में सफल होंगे, वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है. कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लागू 21 दिन के लॉकडाउन की अवधि 14 अप्रैल 2020 को खत्म होने जा रही है. वहीं, राज्यों के मुख्यमंत्रियों व अधिकारियों ने भी प्रधानमंत्री को लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव दिया है. प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए 24 मार्च को 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी.

प्रधानमंत्री मोदी का कोरोना वायरस पर यह उनका 26 दिन में देश के नाम चौथा संदेश है. प्रधानमंत्री ने 19 मार्च को देश को संबोधित किया था और जनता कर्फ्यू (22 मार्च 2020) लगाने की बात कही थी. 22 मार्च को देशभर में सबकुछ बंद रहा. मोदी ने 24 मार्च को दूसरी बार देश संबोधित किया और कोरोना संक्रमण रोकने के लिए 25 मार्च से 14 अप्रैल तक देशव्यापी लॉकडाउन का घोषणा किया था. प्रधानमंत्री मोदी ने 3 अप्रैल को एक वीडियो संदेश जारी किया. इस दौरान लोगों से 5 अप्रैल की रात 9 बजे 9 मिनट के लिए घरों की लाइट बंद कर घरों में दीये, मोमबत्ती और मोबाइल की लाइट जलाकर एकजुटता दिखाने की अपील की थी.

प्रधानमंत्री ने हाल ही में देश के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की थी. प्रधानमंत्री की मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक में 13 राज्य सरकारों ने देशभर में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाने के सुझाव पर सहमति जताई थी. प्रधानमंत्री ने बैठक में मुख्यमंत्रियों से कहा कि ‘‘जान है तो जहान है. जब मैंने राष्ट्र के नाम संदेश दिया था, तो शुरुआत में इस पर जोर दिया था कि हर नागरिक की जान बचाने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बहुत जरूरी है. देश के ज्यादातर लोगों ने बात को समझा और घरों में रहकर दायित्व निभाया. अब भारत के उज्जवल भविष्य के लिए, समृद्ध और स्वस्थ भारत के लिए जान भी, जहान भी, दोनों पहलुओं पर ध्यान देना जरूरी है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, देश में अभी कुल 7987 सक्रिय मामले हैं वहीं 856 लोग स्‍वस्‍थ हो गए हैं वहीं मामले में 308 मरीजों की मौत हो गई है.

No comments:

Post a Comment