मासिक करेंट अफेयर्स

16 April 2020

डीयू में दाखिले की सभी प्रक्रियाएं ऑनलाइन होंगी

कॉलेजों में अप्रैल माह में ही दाखिला की प्रक्रिया शुरू हो जाती है लेकिन कोरोनावायरस महामारी के कारण पूरा देश लॉकडाउन है. इस स्थिति से निपटने के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय प्रशासन ने फैसला किया है कि इस बार दाखिले की सभी प्रक्रियाएं ऑनलाइन ही पूरी की जाएंगी ताकि किसी भी तरह से कम समय में सब काम निपटा लिया जाए. अधिकारियों के मुताबिक, इस बार डीयू में दाखिले की सारी प्रक्रियाओं को ऑनलाइन करने का फैसला लिया गया है ताकि छात्रों को कॉलेजों के ज्यादा चक्कर न लगाने पड़ें.

हालांकि वर्तमान में डीयू में नामांकन, परीक्षा सहित सभी प्रक्रियाएं स्थगित हैं लेकिन इसकी दाखिला शाखा सारी प्रक्रिया को मजबूत करने के लिए काम कर रही है. अधिकारियों ने बताया कि लॉकडाउन हटने के बाद तैयारी के लिए समय काफी कम बचेगा. इसलिए सभी कॉलेजों से तैयारी करने को कहा गया है. दाखिला शाखा की डीन प्रोफेसर शोभा बागाई ने डीयू के सभी कॉलेजों के प्रिंसिपलों को एक पत्र भेजा, जिसमें उन्होंने लिखा है, दाखिले की प्रक्रिया के दौरान छात्रों को जरूरी दस्तावेजों को फिजिकल वेरिफिकेशन के लिए कॉलेजों के कम चक्कर लगाने पड़े, इसके लिए ठोस कोशिश की जा रही है. इसमें प्रमाणपत्रों का ऑनलाइन वेरिफिकेशन भी शामिल होगा.

बागाई ने कॉलेजों से आवश्यक सूचना अपनी-अपनी वेबसाइटों पर डालने और उसका लिंक एडमिशन ब्रांच को भेजने को कहा है. पत्र में उन्होंने दाखिले की प्रक्रिया के लिए एक मजबूत टीम के गठन का भी कॉलेजों को निर्देश दिया है. पत्र में लिखा गया है,एक टीम का गठन किया जाए जिसमें पर्याप्त संख्या में स्वयंसेवी विद्यार्थियों के साथ फैकल्टी के निदेशक भी शामिल हों. दाखिले से संबंधित किसी तरह के सवालों का जवाब देने के लिए स्वयंसेवी छात्रों को उस दौरान उपलब्ध रहना होगा.

डीयू दाखिला में इस वर्ष निम्न आय वर्ग (ईडब्ल्यूएस) सीटों का कोटा 5 प्रतिशत बढ़ेगा. दाखिला सीमिति की तरफ से कॉलेजो को भेजे गए पत्र के अनुसार आगामी सत्र से ईडब्ल्यूएस कोटे का दूसरा चरण दाखिला प्रक्रिया में लागू किया जाएगा. जिसके तहत 15 फीसद सीटें ईडब्ल्यूएस कोटे के छात्रों के लिए आरक्षित होंगी. मालूम हो कि बीते वर्ष से ही डीयू ने ईडब्ल्यूएस कोटा लागू किया है. जिसके तहत 10 फीसदी सीटें आरक्षित की गईं थीं.

No comments:

Post a comment