मासिक करेंट अफेयर्स

27 May 2020

पीएम मोदी ने अम्फान तूफान से हुए नुकसान के लिए पश्चिम बंगाल को दिया 1000 करोड़ का राहत पैकेज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मई 2020 को पश्चिम बंगाल में अम्फान तूफान से हुई तबाही का हवाई सर्वेक्षण कर जायजा लिया. उन्होंने केंद्र की तरफ से बंगाल को 1 हजार करोड़ रुपये मदद का घोषणा किया. उन्होंने उम्मीद जताई कि बंगाल फिर से उठ खड़ा होगा. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वह इस दुख की घड़ी में पश्चिम बंगाल के साथ हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि बंगाल कोरोना वायरस और अम्फान तूफान जैसी दो आपदाओं से एकसाथ लड़ रहा है. सुपर साइक्लोन 'अम्फान' ओडिशा और पश्चिम बंगाल में भारी तबाही मचाने के बाद 21 मई 2020 को कमजोर पड़ गया. बंगाल में चक्रवात अम्फान ने भारी तबाही मचाई है. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल के बशीरहाट में चक्रवात तूफान अम्फान को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, राज्यपाल जगदीप धनखड़ और राज्य के अन्य अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘प्रधानमंत्री राहत कोष’ से तूफान में मारे गए लोगों को 2 लाख रुपये के मुआवजा का घोषणा किया जबकि घायलों को 50 हजार रुपये की घोषणा की. पश्चिम बंगाल में आए अम्फान तूफान ने जानमाल का काफी नुकसान किया है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे विनाश बताते हुए प्रधानमंत्री मोदी से राज्य का दौरा करने का आग्रह किया था. तूफान के कारण सड़कों पर पेड़ और बिजली के खंभे गिर गए जबकि गाड़ियों को भी भारी नुकसान हुआ है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार तूफान के कारण हुए नुकसान के डिटेल सर्वे के लिए एक टीम भेजेगी. लोगों के राहत और पुनर्वास के लिए पूरे प्रयास किए जाएंगे. पीएम मोदी ने पश्चिम बंगाल में तूफान से हुई 80 लोगों की मौत पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि केंद्र पश्चिम बंगाल की हर संभव मदद करेगा. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अम्फान चक्रवात से निपटने के लिए राज्य सरकार और केंद्र सरकार ने मिलकर भरसक प्रयास किया, लेकिन उसके बावजूद लगभग 80 लोगों का जीवन नहीं बचा पाएं, इसका हम सभी को दुख है और जिन परिवारों ने अपना स्वजन खोया है उनके प्रति केंद्र और राज्य सरकार की संवेदनाएं हैं.

चक्रवात तूफान अम्फान से पश्चिम बंगाल के लोग सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं. बता दें कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल में चक्रवाती तूफान अम्फान से प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया. इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल धनकड़ भी मौजूद रहे. पश्चिम बंगाल में अम्फान तूफान 160 से 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दस्तक दी थी. तूफान ने पश्चिम बंगाल के कोलकाता, नार्थ और साउथ परगना जिलों को बुरी तरह से प्रभावित किया है.

No comments:

Post a comment