मासिक करेंट अफेयर्स

08 May 2020

कोरोना वायरस संकट के बीच पुलित्जर पुरस्कार 2020 के विजेताओं की घोषणा

कोरोना वायरस संकट के बीच पुलित्जर पुरस्कार 2020 के विजेताओं की घोषणा हो गई है. विजेताओं के नाम का घोषणा ऑनलाइन किया गया. न्यूयॉर्क टाइम्स को तीन अवॉर्ड मिले हैं. जम्मू-कश्मीर के तीन फोटो पत्रकारों को पिछले साल अगस्त में अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान हटाए जाने के बाद क्षेत्र में जारी बंद के दौरान सराहनीय काम करने हेतु ‘फीचर फोटोग्राफी' श्रेणी में 2020 के पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. पत्रकार मुख्तार खान, डार यासीन और चन्नी आनंद घोषित पुलित्जर पुरस्कार हासिल करने वाले लोगों की सूची में शुमार हैं. इन तीनों ने घाटी के सामान्य जनजीवन के साथ ही प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों की तस्वीरों को भी दुनिया तक पहुंचाया.

तीनों फोटोग्राफर डार यासिन, मुख्तार खान और चन्नी आनंद न्यूज एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस (एपी) के लिए काम करते हैं. इन्हें आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद कश्मीर के हालातों को तस्वीरों के माध्यम से दिखाने के लिए यह सम्मान मिला है.आनंद जम्मू में रहते हैं जबिक यासिन और मुख्तार श्रीनगर के निवासी हैं. यासिन ने अपने करियर की शुरुआत एपी में साल 2004 में फ्रीलांस वीडियोग्राफर के रूप में की थी. उन्हें साल 2006 में एजेंसी को पूर्ण रूप से फोटोग्राफर के रूप में जॉइन किया. डार यासीन ने 16 साल के करियर के दौरान कश्मीर में विकास के साथ-साथ रोहिंग्या संकट, अफगानिस्तान श्रीलंका और दूसरी जगहों को अपने कैमरे से दिखाया. मुख्तार खान भी साल 2000 से एपी से जुड़े हुए हैं. वे अब तक पूरे कश्मीर को कवर कर चुके हैं. आनंद और उनके साथी ने जम्मू में विकास की तस्वीरें क्लिक कीं. पुलित्जर अवॉर्ड जूरी ने इनकी तस्वीरों को स्ट्राइकिंग इमेजेस ऑफ लाइफ बताया. जम्मू में रहने वाले चन्नी आनंद ने बताया कि 20 साल एपी के साथ काम करने के बाद यह पुरस्कार मिला.

पुलित्जर पुरस्कार की शुरुआत साल 1917 में हुई थी. यह अमेरिका का एक प्रमुख पुरस्कार है, जो हर साल 21 श्रेणियों में समाचार पत्रों, साहित्य एवं संगीत के क्षेत्र में कार्य करने वालों को दिया जाता है. इसके अंतर्गत विजेता को एक प्रमाण पत्र और 15,000 डॉलर का नकद पुरस्कार दिया जाता है. इसकी स्थापना हंगरी मूल के अमेरिकी प्रकाशक जोसेफ पुलित्जर ने की थी. पत्रकारिता और साहित्य के क्षेत्र में दिया जाने वाले पुलित्जर पुरस्कार के विजेताओं के नाम की घोषणा पिछले महीने कोरोना वायरस की वजह से स्थगित कर दी थी. यह पुरस्कार वितरण समारोह 20 अप्रैल 2020 को होना था. पुलित्जर पुरस्कार देने वाली संस्था ने कहा था कि उस समय ज्यादातर पत्रकार महामारी की रिपोर्टिंग करने में लगे हुए थे.

No comments:

Post a comment