मासिक करेंट अफेयर्स

14 May 2020

शायद कभी खत्म न हो कोरोना वायरस का खतरा: WHO

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने दुनिया भर को कोरोना वायरस को लेकर चेताते हुए कहा है कि हो सकता है कि कोरोना वायरस (कोविड-19) कभी ख़त्म ही ना हो. विश्व स्वास्थ्य संगठन के आपातकालीन मसलों के निदेशक माइकल रयान ने जेनेवा में एक वर्चुएल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कोरोना हमारे बीच क्षेत्र विशेष का एक
अन्य वायरस बन सकता है और संभव है कि ये कभी ख़त्म ही ना हो. 
डब्ल्यूएचओ के निदेशक ने एचआईवी का उदाहरण देते हुए कहा कि यह वायरस भी ख़त्म नहीं हुआ है. माइकल रयान के अनुसार वैक्सीन के बिना आम लोगों को इस बीमारी को लेकर इम्यूनिटी का उपयुक्त स्तर हासिल करने में सालों लग सकते हैं. उन्होंने कहा कि कोविड-19 की वैक्सीन तैयार करने की कई कोशिशें हो रही हैं.

इससे पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेडरॉस एडहनॉम गिब्रयेसॉस ने कहा था कि वैक्सीन बनाने का कम तेजी से चल रहा है और कम से कम 100 वैक्सीन बनाने की कोशिशों पर काम चल रहा है. इनमें से 7 से 8 ऐसी हैं जो कि मंजिल के काफी नजदीक हैं. विश्वभर के देशों ने अपने यहां लॉकडाउन में ढील देना शुरू कर दिया है जिसके बाद टेडरॉस ने चेतावनी दी है कि इससे संक्रमण की रफ़्तार बढ़ सकती है. डब्ल्यूएचओ के निदेशक ने यह भी कहा कि केसों की संख्या अभी ज्यादा है. ऐसे में कोरोना वायरस के कारण लिए गए प्रतिबंध हटाने से यह और बड़े स्तर पर फैल सकता है. ऐसे में एक अन्य संभावित लॉकडाउन की जरूरत पड़ सकती है.

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि जीएवीआई ग्लोबल नाम के वैक्सीन एलायंस का अनुमान है कि 21 देश ऐसे हैं जो वैक्सीन की कमी की शिकायत कर रहे हैं क्योंकि कोरोना के चलते बॉर्डर बंद हैं और परिवहन का कोई साधन भी उपलब्ध नहीं है. एक नए विश्लेषण में यह बात सामने आई है कि कोविड-19 के कारण सहारा-अफ्रीका के 41 देशों में मलेरिया के विरुद्ध अभियान में अड़चन आने का खतरा है.

कोरोना वायरस दुनियाभर में कहर मचा रहा है. दुनिया में कोरोना (COVID-19) संक्रमितों की संख्या 4390000 पहुंच गई है, जबकि इससे ठीक होने वालों का आंकड़ा 1592159 और मौत के आंकड़े 295732 पहुंच गए हैं.

No comments:

Post a comment