मासिक करेंट अफेयर्स

14 September 2020

वित्त वर्ष 2020 में 3.5 प्रतिशत रहा जॉब ग्रोथ रेट: रिपोर्ट

केयर रेटिंग्स रिपोर्ट के अनुसार, अर्थव्यवस्था में लंबे समय से बने तनाव के कारण वित्त वर्ष 2020 में जॉब ग्रोथ रेट घटकर 3.5 प्रतिशत पर आ गया है, जबकि वित्त वर्ष 2019 में यह 3.8 प्रतिशत था. हालांकि, कुल नौकरियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. साल 2019 की 48.32 लाख के मुकाबले साल 2020 में कुल 50.02 लाख नौकरी मिली हैं. 
केयर रेटिंग्स की ताजा रिपोर्ट के अनुसार, वित्त वर्ष 2020 में 1.70 लाख नई नौकरियां पैदा हुई हैं. यह आंकड़ा साल 2019 में 1.76 लाख था. रिपोर्ट के अनुसार, साल 2020 में 321 कंपनियों ने अपने हेडकाउंट में 1.13 लाख की कमी की. वहीं, 2019 में 272 कंपनियों ने अपने हेडकाउंट में 1.18 लाख की कमी की थी.

साल 2020 में टॉप-10 कंपनियों ने अपने हेडकाउंट में 1.41 लाख की बढ़ोतरी की थी. इन 10 में से चार-चार कंपनियां आईटी और बैंकिंग सेक्टर की, जबकि दो कंपनियां एनबीएफसी सेक्टर से थीं. रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल देश में 9 कंपनियों में हेडकाउंट की संख्या 1 लाख से ज्यादा रही. इसमें चार कंपनियां आईटी सेक्टर, दो बैंकिंग, एक-एक ऑटो, एनबीएफसी और अन्य सेक्टर की शामिल रहीं. वहीं, सात कंपनियों में हेडकाउंट की संख्या पचास हजार से एक लाख के बीच रही. 17 कंपनियों में हेडकाउंट की संख्या 25 से 50 हजार के बीच रही. 33 कंपनियों में हेडकाउंट की संख्या 25 हजार से ज्यादा रही जो कुल एम्प्लॉयमेंट का 57 प्रतिशत था.

पिछले साल सबसे ज्यादा नौकरी देने में चार सेक्टरों की भागीदारी 61 प्रतिशत रही. इसमें 23 प्रतिशत के साथ आईटी सेक्टर टॉप पर रहा. इसके बाद 22 प्रतिशत के साथ बैंकिंग सेक्टर दूसरे, 9 प्रतिशत के साथ ऑटो तीसरे और 7 प्रतिशत के साथ फाइनेंस सेक्टर चौथे नंबर पर रहा. कभी सबसे ज्यादा नौकरियां देने में शामिल रहा टेक्सटाइल सेक्टर 2.4 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ पांचवें स्थान पर रहा.

No comments:

Post a comment