मासिक करेंट अफेयर्स

05 September 2020

भारतीय अक्षय ऊर्जा कंपनी अडानी ग्रीन ने विश्व के सबसे बड़े सौर ऊर्जा उत्पादक का दर्जा हासिल किया

 

भारतीय अक्षय ऊर्जा कंपनी, अडानी ग्रीन को क्षमता के मामले में दुनिया की नंबर वन सौर ऊर्जा कंपनी के रूप में स्थान दिया गया है. 2.3 गीगावॉट क्षमता के साथ अडानी ग्रुप सोलर पावर में टॉप डेवलपर बन चुका है. वैश्विक सौर कंपनियों की नवीनतम रैंकिंग में अडानी ग्रुप को नम्‍बर वन वैश्विक सौर ऊर्जा उत्पादन संपत्ति के मालिक का दर्जा दिया गया है. मेरकॉम कैपिटल द्वारा वैश्विक सौर कंपनियों की नवीनतम रैंकिंग में अडानी ग्रुप को शीर्ष वैश्विक सौर ऊर्जा उत्पादन कंपनी का दर्जा दिया गया है. मेरकॉम की स्टडी के अनुसार, अडानी ग्रीन का सौर ऊर्जा पोर्टफोलियो अब 12.32 गीगावॉट तक पहुंच चुका है, जो साल 2019 में अमेरिका में इन्सटॉल की गई कुल क्षमता से अधिक है.

कंपनी के पास 10.1 गीगावॉट की निर्माणाधीन परियोजनाएं हैं. इस लिहाज से भी कंपनी शिखर पर है. अडानी समूह के अध्यक्ष गौतम अडानी ने इस रैंकिंग के बारे में बताते हुए कहा कि इस रैंकिंग को प्राप्त करना एक पर्यावरण हितैषी उर्जा के भविष्य के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचा तैयार करने की हमारी प्रतिबद्धता का सीधा परिणाम है. उन्होंने  कहा कि उम्मीद करते हैं कि हमारा अक्षय ऊर्जा का प्लेकटफॉर्म हमारे मुख्य व्यवसाय के लिए नई संभावनाएं पैदा करेगा. हमें भरोसा है कि यह बिजनेस नए आयामों को हासिल करेगा. कंपनी के चेयरमैन गौतम अडानी ने अनुमान जताया कि आने वाले एक दशक में कई बिजनेस मॉडल्स पर असर पड़ने वाला है क्योंकि नवीकरणीय ऊर्जा का चलन और तकनीक की पकड़ बेहतर होगी.

अडानी ग्रुप दुनिया के सबसे अधिक एकीकृत सौर कंपनियों में से एक है. यह सोलर सेल और मॉड्यूल का निर्माण करता है, परियोजना विकास, निर्माण, वित्तीय संरचना आधारित उपक्रमों का संचालन करता है तथा स्वामित्व और अपने सुदृढ़ आंतरिक परिसंपत्ति प्रबंधन प्‍लेटफॉर्म के जरिये अपनी परिसंपत्तियों का परिचालन करता है. कंपनी ने वर्ष 2015 में अपनी पहली सौर परियोजना की स्थापना की और साल 2017 में ही कंपनी ने दो सौर परियोजनाओं को पूरा कर दिया. कंपनी साल 2018 में लिस्ट हुई थी. मेरकॉम के घोषणा के बाद कंपनी के शेयर 10 प्रतिशत की तेजी के साथ 546 रुपये के भाव तक पहुंच गए. कंपनी ने कहा कि निर्माणाधीन और सक्रिय क्षमता के आधार पर, मेरकॉम कैपिटल ने अडानी ग्रीन को महज पांच साल की समयावधि में दुनिया की सबसे बड़ी सौर ऊर्जा कंपनी करार दिया है. कंपनी का लक्ष्य है साल 2025 तक 25 गीगावॉट की इन्सटॉल की गई क्षमता तक पहुंचा जाए.

No comments:

Post a comment