मासिक करेंट अफेयर्स

18 September 2020

भारत और अमेरिका ने रक्षा तकनीकी सहयोग पर स्टेटमेंट ऑफ़ इंटेंट पर हस्ताक्षर किया

भारत और अमेरिका ने 15 सितंबर, 2020 को 10वीं रक्षा प्रौद्योगिकी और व्यापार पहल (DTTI) की आभासी समूह बैठक के दौरान रक्षा प्रौद्योगिकी सहयोग पर बातचीत को मजबूत करने के लिए एक आशय बयान (स्टेटमेंट ऑफ़ इंटेंट) पर हस्ताक्षर किए हैं. 
इस बयान में सैन्य उपकरणों के सह-उत्पादन और सह-विकास के अवसर पैदा करने की भी बात कही गई है. यूएस अंडर सेक्रेटरी ऑफ डिफेंस फॉर एक्विजिशन एंड सस्टेनेन्स, श्री एलेन लॉर्ड और सचिव, रक्षा उत्पादन, रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार, श्री राज कुमार द्वारा इस स्टेटमेंट ऑफ़ इंटेंट पर हस्ताक्षर किए गए थे.

श्री राज कुमार और श्री एलेन लॉर्ड ने इस आभासी बैठक की सह-अध्यक्षता की, जिसके दौरान दोनों पक्षों के समूहों ने उन्हें मौजूदा गतिविधियों और ऐसे सहयोगी अवसरों के बारे में सूचना दी, जिनमें कई पूर्ण-अवधि की परियोजनाओं को पूरा करने के लिए लक्ष्य भी शामिल हैं. इस रक्षा प्रौद्योगिकी और व्यापार पहल (डिफेंस टेक्नोलॉजी एंड ट्रेड इनिशिएटिव - DTTI) समूह का उद्देश्य द्विपक्षीय रक्षा व्यापार संबंधों के लिए निरंतर अपने नेतृत्व का ध्यान केंद्रित करना और रक्षा उपकरणों के सह-विकास और सह-उत्पादन के अवसर पैदा करना है.

ये चार संयुक्त कार्य समूह वायु और विमान वाहक नौसेना, भूमि, प्रौद्योगिकियों पर केंद्रित हैं जो रक्षा प्रौद्योगिकी और व्यापार पहल के तहत स्थापित किए गए हैं. इन प्रौद्योगिकियों को पारस्परिक रूप से सहमत परियोजनाओं को बढ़ावा देने के लिए स्थापित किया गया है. इस आभासी बैठक (वर्चुअल मीटिंग) के दौरान सह-अध्यक्षों ने यह उल्लेख किया कि, अक्टूबर, 2019 में हुई पिछली DTTI समूह बैठक के बाद से, DTTI के तहत सहकारी परियोजनाओं के विकास और पहचान के लिए एक DTTI मानक संचालन प्रक्रिया पूरी हो गई है.

 DTTI के लिए ढांचे के तौर पर भी SPO सेवा कर रहा है और सफलता को परिभाषित करने के लिए दोनों पक्षों को आपसी समझ को हासिल करने और उसका दस्तावेजन करने की अनुमति देता है. उद्योग के लिए DTTI के प्रारंभिक मार्गदर्शन के तौर पर इस प्रक्रिया के बयान के प्रमुख तत्वों के सार्वजनिक रूप से प्रकाशित करने योग्य निष्कर्ष भी जुलाई में प्रकाशित किए गए हैं और इसलिए, अमेरिका और भारतीय उद्योग संघ के माध्यम से वितरित किए गए हैं.

डिफेंस टेक्नोलॉजी एंड ट्रेड इनिशिएटिव (DTTI) ग्रुप मीटिंग्स आमतौर पर हर साल दो बार संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत के बीच वैकल्पिक तौर से आयोजित की जाती हैं. हालांकि, इस साल मौजूदा कोरोना वायरस महामारी के बीच, इन दोनों ही देशों के अधिकारियों ने आभासी बैठक का संचालन करने का फैसला किया था.

No comments:

Post a comment