मासिक करेंट अफेयर्स

29 October 2020

पीएम मोदी ने गुजरात में तीन प्रमुख परियोजनाओं का उद्घाटन किया

पीएम मोदी ने 24 अक्टूबर 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गुजरात में तीन परियोजनाओं का उद्घाटन किया है. प्रधानमंत्री मोदी ने राज्य के किसानों के लिए 'किसान सूर्योदय योजना' की शुरुआत की है. इसके अतिरिक्त जूनागढ़ में गिरनार रोपवे तथा अहमदाबाद स्थित यू. एन. मेहता कार्डियॉलजी इंस्टिट्यूट ऐंड रिसर्च सेंटर से संबंद्ध पीडियाट्रिक हार्ट हॉस्पिटल का भी उद्घाटन किया है. 
मोदी ने इस मौके पर कहा कि आज किसान सूर्योदय योजना, गिरनार रोपवे और देश के बड़े और आधुनिक कार्डियो हॉस्पिटल गुजरात को मिल रहे हैं. ये तीनों एक प्रकार से गुजरात की शक्ति, भक्ति, स्वास्थ्य के प्रतीक हैं. इन सभी के लिए गुजरात के लोगों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं.

किसान सूर्योदय योजना: इस योजना का लक्ष्य सिंचाई के लिए किसानों को दिन के समय ऊर्जा की सप्लाई करना है. इस योजना के अंतर्गत किसानों को सुबह 5 बजे से लेकर 9 बजे तक बिजली मिलेगी. राज्य सरकार ने साल 2023 तक ट्रांसमिशन इंफ्रास्ट्रक्चर को इंस्टॉल करने के लिए 3500 करोड़ रुपये का आवंटन किया है. इसके लिए अभी दाहोद, पाटन, पंचमहल, छोटा उदयपुर, वलसाड, आणंद, गिर सोमनाथ जैसे जिलों को शामिल किया गया है. शेष जिलों को साल 2023 तक चरणबद्ध तरीके से कवर किया जाएगा.

गिरनार रोपवे: जूनागढ़ में गिरनार रोपवे की पहचान वैश्विक स्तर पर पर्यटन के केंद्र के तौर पर होगी. इस रोप-वे के शुरू होने से गिरनार पर्वत के ऊपर बने मंदिर के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को 10 हजार सीढ़ियां चढ़ने से राहत मिलेगी. इस रोप-वे के शुरू होने के बाद करीब 7 मिनट में इस सफर को तय किया जा सकेगा. साथ ही इस रोप-वे में 24 ट्रॉली लगाई जाएंगी. एक ट्रॉली में आठ लोग बैठेंगे. इससे एक फेरे में 192 यात्री जा पाएंगे. 110 करोड़ रुपये की यह परियोजना पीएम नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रॉजेक्ट है.

बच्चों के हृदयरोग से संबंधित अस्पताल: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फेंसिंग के जरिए अहमदाबाद स्थित यूएन मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी एंड रिसर्च सेंटर से संबंद्ध पीडियाट्रिक हार्ट हॉस्पिटल का भी उद्घाटन किया. इसके साथ ही यह संस्थान भारत का सबसे बड़ा कार्डियोलॉजी संस्थान बन जाएगा. इसके साथ ही यह वर्ल्ड क्लास मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर वाला विश्व के चुनिंदा हॉस्पिटलों में से एक होगा. यूएन मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी का 470 करोड़ रुपये की लागत से विस्तार किया जा रहा है. इसके बाद इसमें बेडों की संख्या 450 से बढ़कर 1251 हो जाएगी.

No comments:

Post a comment