मासिक करेंट अफेयर्स

12 November 2020

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: NDA को स्‍पष्‍ट बहुमत

बिहार विधानसभा चुनाव के सभी 243 सीटों पर नतीजों का ऐलान हो चुका है. बिहार विधानसभा की 243 सीटों के प्राप्त परिणामों में प्रदेश में सत्ताधारी एनडीए ने 125 सीट अब तक जीत ली हैं, जबकि विपक्षी महागठबंधन ने 110 सीट जीती हैं. निर्वाचन आयोग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, बिहार में सत्ताधारी राजग में शामिल भाजपा ने 74 सीटों पर, जदयू ने 43 सीटों पर, विकासशील इंसान पार्टी ने 4 सीटों पर और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा ने 4 सीटों पर जीत दर्ज की है. वहीं, विपक्षी महागठबंधन में शामिल राजद ने 75 सीटों पर, कांग्रेस ने 19 सीटों पर, भाकपा माले ने 12 सीटों पर, भाकपा एवं माकपा ने दो-दो सीटों पर जीत दर्ज की है. 
वहीं, AIMIM को पांच सीटों पर जीत मिली है. बीएसपी को एक, लोजपा को एख और अन्य निर्दलीय उम्मीदवार को जीत हासिल हुई है. 

बिहार विधानसभा चुनाव के रुझानों में बहुमत का आंकड़ा पार करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि बिहार ने दुनिया को फिर बताया है कि लोकतंत्र को मजबूत कैसे किया जाता है. पीएम ने कहा कि बिहार के हर वर्ग ने एनडीए के मूल मंत्र पर भरोसा जताया है.

इन चुनावों में साइलेंट वोटर्स की भूमिका भी महत्वपूर्ण रही है. साइलेंट वोटर्स शब्द की चर्चा आपने बिहार चुनावों में भी सुनी और अमेरिका में राष्ट्रपति चुनावों के दौरान भी सुनी होगी. साइलेंट वोटर वो वोटर होता है जो अपने मन में ये तय तो कर लेता है कि उसे किसे वोट देना है लेकिन ये बात वो किसी को बताता नहीं. फिर भी ये वोटर्स हार और जीत का अंतर तय करने में बड़ी भूमिका निभाते हैं. आम तौर पर महिलाओं और बुजुर्गों को साइलेंट वोटर्स माना जाता है. जो पहले से तय कर चुके होते हैं कि उन्हें किसको वोट डालना है. लेकिन वो ये बात किसी को बताते नहीं. साइलेंट वोटर्स Opinion Poll और Exit Polls करने वालों को भी अपने मत के बारे में नहीं बताते और इन वोटर्स की चुप्पी की वजह से ही कई बार सारे अनुमान गलत साबित होते हैं.

No comments:

Post a comment