मासिक करेंट अफेयर्स

17 November 2020

नीतीश कुमार ने 7वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली

नीतीश कुमार ने 16 नवंबर 2020 को सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है. नीतीश कुमार के नेतृत्व में नई सरकार का गठन हो गया है. राजभवन में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में नीतीश कुमार समेत 15 मंत्रियों को राज्यपाल फागू चौहान ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. 
इस दौरान बीजेपी चीफ जेपी नड्डा, अमित शाह समेत तमाम नेता मौजूद रहे. नीतीश कुमार के साथ बीजेपी के दो नेताओं ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली. इसमे तारकिशोर प्रसाद सिंह और रेणु देवी ने उपमुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. 

शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी कोटे से 7, जेडीयू कोटे से 5, हम के एक और वीआईपी के एक नेता को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई. जदयू नेता विजय कुमार चौधरी, विजेंद्र प्रसाद यादव, अशोक चौधरी, और मेवा लाल चौधरी बिहार के कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. वहीं, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (एचएएम) के प्रमुख जीतन राम मांझी के बेटे संतोष कुमार सुमन और वीआईपी प्रमुख मुकेश साहनी ने बिहार के कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली.

नीतीश कुमार का जन्म हरमनत (कल्याण बिगहा), में एक कुर्मी परिवार हुआ. उनके पिता स्वतंत्रता सेनानी थे. नीतीश कुमार राज्य के मुख्यमंत्री पद पर सर्वाधिक लंबे समय तक रहने वाले श्रीकृष्ण सिंह के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ने की ओर बढ़ रहे हैं. इन्होंने आजादी से पहले से लेकर साल 1961 में अपने निधन तक इस पद पर अपनी सेवाएं दी थीं. नीतीश कुमार सबसे पहले 03 मार्च 2000 को मुख्यमंत्री बने थे. हालांकि, बहुमत नहीं होने के कारण मात्र सात दिन बाद ही उनकी सरकार गिर गई थी. वे 24 नवंबर 2005 को दूसरी बार मुख्यमंत्री बने. बतौर मुख्यमंत्री उनका ये कार्यकाल 24 नवंबर 2005 से 24 नवंबर 2010 तक चला. उन्होंने 26 नवंबर 2010 को तीसरी बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. उन्होंने साल 2014 के लोकसभा चुनाव में हुई पार्टी की करारी हार का जिम्मा लेते हुए इस्तीफा दे दिया था. उस समय जीतन राम मांझी को मुख्‍यमंत्री पद का कार्यभार दिया था. नीतीश कुमार ने 22 फरवरी 2015 को चौथी बार बिहार की कमान संभाली. उन्होंने मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण किया.

साल 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू और लालू यादव की आरजेडी के बीच महागठबंधन बना. महागठबंधन ने इस चुनाव में शानदार जीत दर्ज की. नीतीश कुमार 20 नवंबर 2015 को पांचवीं बार मुख्यमंत्री बने. इस सरकार में तेजस्वी यादव उपमुख्यमंत्री बने थे. नीतीश कुमार ने लगभग डेढ़ साल बाद ही आरजेडी के साथ गठंबधन तोड़ने का फैसला लिया. फिर बीजेपी के साथ गठबंधन में सरकार बनाई. उस समय 27 जुलाई 2017 को नीतीश कुमार 6वीं बार बिहार के मुख्यमंत्री बने. 

No comments:

Post a comment