मासिक करेंट अफेयर्स

12 November 2020

अज़ीम प्रेमजी बने ‘सबसे दानवीर भारतीय’

हारून इंडिया द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार अज़ीम प्रेमजी सबसे बड़े दानवीर भारतीय हैं. दिग्गज सूचना तकनीक कंपनी विप्रो के संस्थापक अज़ीम प्रेमजी ने परोपकारियों की सूची में पहला स्थान हासिल कर लिया है. उन्होंने पिछले वित्त वर्ष 2019-20 में लगभग 7,904 करोड़ रुपये तक दान किये हैं. यह बात हारुन इंडिया द्वारा जारी परोपकारियों की सूची से सामने आयी है. 
अज़ीम प्रेमजी एक दिन में 22 करोड़ रुपये और एक साल में 7904 करोड़ रुपये दान करने वाले वित्तीय वर्ष 2020 में सबसे दानवीर भारतीय बन गए हैं. हुरून रिपोर्ट इंडिया और एडेलगिव फाउंडेशन की रिपोर्ट के अनुसार, प्रेमजी ने एचसीएल टेक्नोलॉजी के शिव नाडर को बड़े अंतर से पीछे छोड़ दिया है, जो इससे पहले परोपकारियों की लिस्ट में शीर्ष पर चल रहे थे.

एचसीएल टेक्नोलॉजीज के शिव नाडर इस सूची में दूसरे स्थान पर हैं. इसके पिछले वित्त वर्ष में वह इस सूची में पहले स्थान पर थे. नाडर ने शिक्षा और स्कॉलरशिप के क्षेत्र में बेहतरीन काम करते हुए करीब 30 हजार स्टूडेंट्स को फायदा पहुंचाया है. नाडर ने वित्त वर्ष 2020 में 795 करोड़ रुपये का दान दिया जो एक साल पहले की अवधि में 826 करोड़ था. साल 2019 में शिव नाडर देश के सबसे बड़े दानवीर व्यक्ति थे. वहीं, अजीम प्रेमजी ने साल 2019 में 426 करोड़ रुपये का दान दिया था.

इस सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी तीसरे स्थान पर हैं. मुकेश अंबानी और उनके परिवार ने 458 करोड़ रुपये का दान ​वित्त वर्ष 2019-20 में किया है. इस साल 30 मार्च को रिलायंस ने कोरोना से लड़ाई के लिए पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपये देने का घोषणा किया था. वहीं, पिछले साल उन्होंने 402 करोड़ रुपये का दान दिया था.

इस सूची में ​आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला चौथे स्थान पर हैं. इन्होंने एक साल में कुल 276 करोड़ रुपये परोपकार के काम में लगाये हैं. बिड़ला समूह का आदित्य बिड़ला फाउंडेशन शिक्षा, स्वास्थ्य और सोलर एनर्जी के क्षेत्र में उल्लेखनीय काम कर रहा है. इस सूची में ​आदित्य वेदांता रिसोर्सेज के चेयरमैन अनिल अग्रवाल पांचवें स्थान पर हैं. इन्होंने कुल 215 करोड़ रुपये का दान किया है. अनिल अग्रवाल के समूह का वेदांता फाउंडेशन शिक्षा, सामुदायिक विकास, महिला सशक्तीकरण की दिशा में काम कर रहा है.

पीरामल समूह के अजय पीरामल और उनका परिवार इस सूची में छठे स्थान पर है. अजय पीरामल परिवार ने 196 करोड़ रुपये दान किये हैं. इस सूची में ​इन्फोसिस के को-फाउंडर और चेयरमैन नंदन नीलेकणि सातवें स्थान पर हैं. इन्होंने कुल 159 करोड़ रुपये का दान किया है. हारुन की परोपकारियों की सूची में हिंदुजा ब्रदर्स आठवें स्थान पर हैं. हिंदुजा ब्रदर्स ने एक साल में कुल 133 करोड़ रुपये का ​दान किया है. गौतम अडानी एवं उनका ​परिवार नौवें स्थान पर है. गौतम अडानी ने एक साल में कुल 88 करोड़ रुपये का ​दान किये है. इस सूची में दसवें स्थान पर बजाज समूह के राहुल बजाज और उनका परिवार हैं. उन्होंने एक साल में कुल 74 करोड़ रुपये का दान किया है. बजाज परिवार का जमनालाल बजाज फाउंडेशन हेल्थकेयर, शिक्षा, ग्रामीण विकास जैसे बहुत से क्षेत्रों में बदलाव के लिए काम करता है.

No comments:

Post a comment