मासिक करेंट अफेयर्स

17 November 2020

बिहार की पहली महिला उप-मुख्यमंत्री बनीं रेणु देवी

नीतीश कुमार ने 16 नवंबर 2020 को सातवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. नीतीश कुमार के साथ रेणु देवी ने भी उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. शपथ लेने के साथ ही रेणु देवी बिहार की पहली महिला डिप्टी सीएम बन गयी. पूर्व में बिहार सरकार में मंत्री का पद संभाल चुकीं रेणु देवी इस बार बेतिया से पांचवीं बार बीजेपी विधायक के तौर पर चुनी गईं हैं. 
15 नवंबर 2020 को बीजेपी विधानमंडल दल की बैठक में तारकिशोर प्रसाद को नेता और रेणु देवी को उपनेता चुना गया था. तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी ने उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. रेणु देवी अति पिछड़ा वर्ग के तहत नोनिया समुदाय से आती हैं. रेणु देवी ने शपथ लेकर बिहार की पहली महिला उप मुख्यमंत्री बनने का इतिहास रच दिया है. 

बीजेपी ने नीतीश कुमार की अगुवाई वाली कैबिनेट में अपने कोटे से 2 उप-मुख्यमंत्री बनाने का फैसला किया है. सुशील मोदी को हटाकर जहां वैश्य समाज से तारकिशोर को अपना डिप्टी सीएम बनाने का फैसला किया तो वहीं दूसरी डिप्टी सीएम के तौर पर रेणु देवी को आगे किया है. रेणु देवी को महिला उप-मुख्यमंत्री चुने जाने के पीछे उनका बड़ा राजनीतिक अनुभव माना जा रहा है. साल 1977 में मुजफ्फरपुर विवि से इंटर पास रेणु देवी 1988 से ही राजनीतिक व सामाजिक कार्यों में सक्रिय रहीं. रेणु की मां भी संघ परिवार से जुड़ी थीं और उनके ननिवाहल में भी बीजेपी और संघ का प्रभाव रहा. साल 2005-09 के दौरान नीतीश कुमार की कैबिनट में राज्य की खेल, कला एवं संस्कृति मंत्री रह चुकीं रेणु देवी को पार्टी के महिला मोर्चा में कई जिम्मेदारियां दी जा चुकी है.

वे पहली बार साल 2000 में विधायक बनी थी और उसके बाद 2005 और 2010 के विधानसभा चुनाव में भी जीत दर्ज की. लेकिन 2015 में महागठबंधन की लहर के वक्त दो हजार से भी कम वोटों के अंतर से उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा था. रेणु देवी नोनिया अतिपिछड़ा समाज से आती हैं. रेणु देवी बीजेपी के महिला मोर्चा में विभिन्न तरह की जिम्मेदारियां संभाल चुकी हैं. वे नीतीश के नेतृत्व वाली साल 2005 में बनी सरकार में भी मंत्री का पद संभाल चुकी हैं. वे बीजेपी की उपाध्यक्ष भी रह चुकी हैं. रेणु देवी साल 2005 वाले नीतीश सरकार में कला संस्कृति मंत्री थीं. महिलाओं के अधिकारों के लिए स्वयं सहायता समूह के साथ रेणु देवी ने 1981 में अपनी राजनीतिक यात्रा की शुरुआत की.

बता दें कि इससे पहले राबड़ी देवी बिहार की पहली महिला मुख्यमंत्री रह चुकीं हैं. गौरतलब है कि बिहार चुनाव में एनडीए को 125 और महागठबंधन को 110 सीटें मिली है. बड़ी बात यह है कि चुनाव परिणाम में राजद 75 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है. दूसरी ओर बीजेपी को 74 तो जेडीयू को 43 सीटें मिली है.

No comments:

Post a comment