मासिक करेंट अफेयर्स

21 January 2021

भारत ने बांग्लादेश, नेपाल समेत 6 देशों को कोरोना वायरस वैक्सीन देने की घोषणा की

भारत अब कोरोना वायरस टीके को अपने मित्र देशों को देकर उनकी सहायता करने वाला है. विदेश मंत्रालय ने कोरोना वायरस टीकों की आपूर्ति पर कहा कि भारत ने अनुदान सहायता के तहत भूटान, मालदीव, बांग्लादेश, नेपाल, म्यांमार, सेशेल्स को कोविड-19 के टीके की आपूर्ति करने की घोषणा की. 
मंत्रालय ने बताया कि श्रीलंका, अफगानिस्तान, मॉरीशस के संबंध में जरूरी नियामकीय मंजूरी का इंतजार है. विदेश मंत्रालय ने बताया कि घरेलू जरूरतों को ध्यान में रखते हुए भारत आगामी हफ्ते, महीने में चरणबद्ध तरीके से सहयोगी देशों को कोविड-19 टीकों की आपूर्ति करेगा.

मंत्रालय ने कहा भारत ने पहले महामारी के दौरान बड़ी संख्या में देशों को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन, रेमडेसिविर और पेरासिटामोल गोलियों के साथ-साथ डायग्नोस्टिक किट, वेंटिलेटर, मास्क, दस्ताने और अन्य चिकित्सा आपूर्ति की थी. मंत्रालय ने कहा कि सतत प्रयास के तहत भारत दुनियाभर के देशों को टीकों की आपूर्ति जारी रखेगा. विदेश मंत्रालय ने बताया कि सबसे पहले मालदीव को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआइआइ) द्वारा तैयार की गई कोविशील्ड की एक लाख डोज की आपूर्ति की जाएगी. मालदीव सरकार ने सबसे पहले अपने स्वास्थ्यकर्मियों, कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में आगे रहने वाले दूसरे योद्धाओं और पुलिसकर्मियों को टीका लगाने की योजना बनाई है. 

भारत ने कोविशील्ड वैक्सीन की 1.5 लाख डोज वाली पहली खेप भूटान को रवाना कर दी है. महाराष्ट्र के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट से भूटान की राजधानी थिम्पू के लिए वैक्सीन की पहली खेप रवाना कर दी गई. ब्राजील सरकार पहले ही भारत से वैक्सीन लाने के लिए विमान तैयार कर चुकी है. दक्षिण अफ्रीका की सरकार ने यह बताया है कि उसे भारत से वैक्सीन की पहली खेप फरवरी 2021 के पहले हफ्ते में मिलने की संभावना है. वे इसके बाद अपनी 10 प्रतिशत आबादी को वैक्सीन देने की शुरुआत करेगा.

दुनिया में कोरोना वायरस के खात्मे के लिए कई देश कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे चुके हैं. वहीं कई देशों में लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाए जाने का अभियान भी जारी है. इसी क्रम में भारत ने भी दो कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दी है. देश में 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण का अभियान भी शुरू हो गया है.

No comments:

Post a Comment