मासिक करेंट अफेयर्स

23 February 2021

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शुरू किया 'गो इलेक्ट्रिक अभियान'

ईवी चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर और ई-मोबिलिटी के साथ-साथ भारत में इलेक्ट्रिक कुकिंग के फायदों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए केंद्रीय सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने 19 फरवरी, 2021 को ‘गो इलेक्ट्रिक अभियान’ की शुरुआत की. 
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इस अभियान की शुरुआत करते हुए कहा कि, गो इलेक्ट्रिक भारत का भविष्य है जो पर्यावरण के अनुकूल, लागत प्रभावी और स्वदेशी इलेक्ट्रिक उत्पादों को बढ़ावा देने में मदद करेगा. यह अभियान एक महत्वपूर्ण पहल है जो आने वाले वर्षों में भारत के जीवाश्म ईंधन आयात निर्भरता को कम करने में मदद करेगा और यह हरियाली और स्वच्छ भविष्य की दिशा में एक कदम आगे होगा.

‘गो इलेक्ट्रिक अभियान’ का उद्देश्य पैन-इंडिया स्तर पर जागरूकता पैदा करना है और इससे इलेक्ट्रिक वाहन निर्माताओं के विश्वास प्रोत्साहन मिलने की भी उम्मीद जताई जा रही है. इलेक्ट्रिक ईंधन जीवाश्म ईंधन के लिए एक महत्वपूर्ण विकल्प है. जीवाश्म ईंधन का आयात बिल 8 लाख करोड़ रुपये है. पारंपरिक ईंधन की तुलना में, इलेक्ट्रिक ईंधन में कम उत्सर्जन और कम लागत होने के साथ-साथ यह स्वदेशी भी है. कम ईंधन अपव्यय के कारण भारत में इलेक्ट्रिक मोड से खाना पकाने से ग्राहकों को लाभ हो सकता है. सार्वजनिक परिवहन का विद्युतीकरण न केवल किफायती होगा, बल्कि पर्यावरण के अनुकूल भी होगा. कृषि क्षेत्र में, कृषि अपशिष्ट और बायोमास से हरित ऊर्जा उत्पन्न की जा सकती है जो देश भर के किसानों के लिए फायदेमंद होगी.

इस लॉन्च प्रोग्राम के दौरान, 'गो इलेक्ट्रिक' के लोगो का भी अनावरण किया गया था, जो ई-मोबिलिटी इकोसिस्टम के विकास को दर्शाता है. विशेष रूप से उपभोक्ता जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किए गए ऑडियो-विजुअल क्रिएटिव्स को भी इस कार्यक्रम के दौरान प्रदर्शित किया गया. इस उद्योग से जुड़े कारोबारियों ने विभिन्न इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रदर्शित करने वाली एक प्रदर्शनी का आयोजन किया जिसमें ई-कार, ई-बस, 2-व्हीलर्स, 3-व्हीलर्स के अलावा धीमे चार्जर और फास्ट चार्जर जैसे चार्जिंग विकल्प भी शामिल थे.

No comments:

Post a comment