मासिक करेंट अफेयर्स

14 May 2021

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस

हर साल 12 मई को अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस  मनाया जाता है. यह दिन हर साल फ्लोरेंस नाइटिंगेल के जन्मदिन की वर्षगांठ के तौर पर मनाया जाता है. आज दुनियाभर के ज़्यादातर देश कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहे हैं. अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस, इस भयंकर महामारी के बीच, ख़ास महत्व रखता है. 
अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस समाज में नर्सों के योगदान का जश्न मनाता है. नर्सों के साहस और सराहनीय कार्य को देखते हुए विश्वभर में 12 मई को इंटरनेशनल नर्स डे मनाया जाता है. इस महामारी के दौर में भी नर्सेज अपनी जान की परवाह किए बिना तन-मन से सेवा कर जान बचा रही हैं. इस साल के अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस की थीम 'नेतृत्व के लिए एक आवाज: भविष्य के स्वास्थ्य के लिए दृष्टि' है. कोविड-19 महामारी से लड़ने में नर्सें सबसे आगे हैं. डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की तरह, नर्स लगातार बिना ब्रेक के काम कर रहे मरीजों की देखभाल कर रही हैं.

फ्लोरेंस नाइटिंगेल को विश्व की पहली नर्स कहा जाता है. उन्होंने क्रीमियन युद्ध के दौरान लालटेन लेकर घायल ब्रिटिश सैनिकों की देखभाल की थी. इस वजह से इन्हें लेडी विद द लैंप भी कहा गया. नर्स अपनी परवाह किए बिना मरीज की तन-मन से सेवा कर उनकी जान बचाती है. अपने घर और परिवार से दूर रहकर मरीजों की दिन रात सेवा करती है. नर्सों के साहस और सराहनीय कार्य के लिए यह दिवस मनाया जाता है. नर्सों के काम को समझना, समाज में अधिक लोगों को इस पेशे के लिए प्रोत्साहित करना और सम्मान देना इस दिन का मुख्य उद्देश्य है. नर्स अस्पतालों और क्लीनिकों की रीढ़ की हड्डी होती हैं, जो अपनी जान जोखिम में डालकर मरीज़ो की देखभाल करती हैं.

अमेरिका के स्वास्थ्य, शिक्षा और कल्याण विभाग की एक अधिकारी डोरोथी सुदरलैंड ने पहली बार नर्स दिवस मनाने का प्रस्ताव 1953 में रखा था. पहली बार इसे साल 1965 में मनाया गया था. जनवरी 1974 में 12 मई को अंतरराष्ट्रीय दिवस के तौर पर मनाने की घोषणा की गई. इसी दिन यानी 12 मई को आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म हुआ था. उनके जन्मदिन को ही अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस के तौर पर मनाने का फैसला लिया गया. साल 1965 से अभी तक यह दिन हर साल इंटरनैशनल काउंसिल ऑफ नर्सेज द्वारा अंतरराष्‍ट्रीय नर्स दिवस के रूप में मनाया जाता है.

No comments:

Post a Comment