24 July 2021

गुरु पूर्णिमा

गुरू पूर्णिमा उन सभी आध्यात्मिक और अकादमिक गुरूजनों को समर्पित परम्परा है जिन्होंने कर्म योग आधारित व्यक्तित्व विकास और प्रबुद्ध करने, बहुत कम अथवा बिना किसी मौद्रिक खर्चे के अपनी बुद्धिमता को साझा करने के लिए तैयार हों. इसको भारत, नेपाल और भूटान में हिन्दू, जैन और बोद्ध धर्म के अनुयायी उत्सव के रूप में मनाते हैं. यह पर्व हिन्दू, बोद्ध और जैन अपने आध्यात्मिक शिक्षकों /अधिनायकों के सम्मान और उन्हें अपनी कृतज्ञता दिखाने के रूप में मनाया जाता है. यह पर्व हिन्दू पंचांग के हिन्दू माह आषाढ़ की पूर्णिमा (जून-जुलाई) मनाया जाता है. इस उत्सव को महात्मा गांधी ने अपने आध्यात्मिक गुरू श्रीमद राजचन्द्र सम्मान देने के लिए पुनर्जीवित किया. ऐसा भी माना जाता है कि व्यास पूर्णिमा वेदव्यास के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है.

भारत की सबसे बड़ी तेल कंपनी IOC मथुरा रिफाइनरी में देश का पहला 'ग्रीन हाइड्रोजन' प्लांट बनाएगा स्थापित करेगा

भारत की सबसे बड़ी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC) अपनी मथुरा रिफाइनरी में देश का पहला 'ग्रीन हाइड्रोजन' प्लांट बनाएगा. इस कदम का उद्देश्य भविष्य में तेल और ऊर्जा के स्वच्छ रूपों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए तैयार करना है. 
इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन कार्बन कैप्चर, यूटिलाइजेशन, और स्टोरेज टेक्नोलॉजी-स्पेस पर अनुसंधान को आगे बढ़ा रहा है, जहां वह अपने पेरिस जलवायु लक्ष्यों को पूरा करने के लिए वैश्विक सहयोग का प्रयास कर रहा है.

20 July 2021

नेपाल के नए प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने विश्वास मत जीता

नेपाल के नवनियुक्त प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने 18 जुलाई 2021 को नेपाली संसद का विश्वास मत हासिल कर लिया. उन्हें 275 सदस्यीय प्रतिनिधि सभा में 165 सदस्यों का समर्थन मिला. देउबा को नेपाली सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नियुक्त किया था और एक माह में विश्वास मत साबित करने को कहा था. 
83 सांसदों ने नवगठित सरकार के विरोध में मतदान किया. इस तरह सरकार ने आसानी से संसद में अपना बहुमत साबित कर लिया. संसद की प्रतिनिधि सभा में 275 सदस्य हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देउबा को विश्वास मत हासिल करने पर बधाई दी है.

15 July 2021

शेर बहादुर देउबा ने ली नेपाल के प्रधानमंत्री पद की शपथ

शेर बहादुर देउबा ने नेपाल के नए प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ले ली है. नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा 13 जुलाई 2021 को पाँचवीं बार नेपाल के प्रधानमंत्री बने हैं. राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने संविधान के अनुच्छेद 76(5) के तहत उन्हें प्रधानमंत्री नियुक्त किया. 
इससे पहले नेपाल के कार्यवाहक प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दिया. यह इस्तीफा नेपाल सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दिया गया है. इस्तीफे के बाद केपी ओली ने कहा कि हमारी पार्टी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करती है. इसलिए मैंने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. इससे पहले शेर बहादुर देउबा चार बार- पहली बार सितंबर 1995- मार्च 1997, दूसरी बार जुलाई 2001- अक्टूबर 2002, तीसरी बार जून 2004- फरवरी 2005 और चौथी बार जून 2017- फरवरी 2018 तक प्रधानमंत्री रह चुके हैं.

केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा, महंगाई भत्ता किया 28 फीसदी

केंद्र सरकार ने 14 जुलाई 2021 को केंद्रीय कर्मचारियों को राहत देते हुए, महंगाई भत्ते को 17 प्रतिशत से बढ़ाकर 28 प्रतिशत करने का घोषणा किया. कैबिनेट की बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनधारकों के लिए महंगाई भत्ते (DA) को 17 प्रतिशत से बढ़ाकर 28 प्रतिशत किया जा रहा है. यह 1 जुलाई 2021 से लागू होगा. 
इसके साथ केंद्रीय कैबिनेट ने केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशधारकों के लिए महंगाई भत्ते (DA) और महंगाई राहत (DR) को 1 जुलाई 2021 से बहाल करने का फैसला किया है. केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि कोविड महामारी के कारण डीए में बढ़ोत्तरी पर रोक लगाई गई थी.

12 July 2021

डेनमार्क में बना दुनिया का सबसे ऊंचा रेत का महल

डेनमार्क में बने दुनिया के सबसे ऊंचे रेत के महल ने अब नया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है. यह 21.6 मीटर ऊंचा (69.4 फीट) का रेत-महल वर्ष, 2019 में जर्मनी में बने एक रेत महल से 3.5 मीटर लंबा है, जिसने 17.66 मीटर ऊंचाई का पिछला विश्व रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज किया था. यह रेत का महल ब्लोखस के छोटे से समुद्र तटीय शहर में 4,860 टन रेत से बनाया गया है. यह शहर डेनमार्क के नॉर्थ जटलैंड में स्थित है. इस शहर का नाम मूल रूप से हुन हवार था. कथित तौर पर, इस शहर में प्रति वर्ष लगभग 01 मिलियन आगंतुक आते हैं.

डेनमार्क में दुनिया का सबसे ऊंचा रेत महल 21.6 मीटर ऊंचा (69.4 फीट) है और यह महल 4,860 टन रेत से बना है. यह रेत का महल वर्ष, 2019 में जर्मनी में बने रेत-महल की तुलना में 3.5 मीटर ऊंचा है.
 डच कलाकार विल्फ्रेड स्टिजर के मार्गदर्शन में, दुनिया के 30 सर्वश्रेष्ठ रेत मूर्तिकार दुनिया के इस सबसे ऊंचे रेत के महल के निर्माण कार्य में संलग्न थे. स्टिजर चाहते थे कि, दुनिया भर में कोरोना वायरस की शक्ति का प्रतिनिधित्व करने के उद्देश्य से इस रेत के महल का निर्माण किया जाए. इसलिए, उन्होंने इस रेत-महल के ऊपर एक मुकुट रखा है.

05 July 2021

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा को 15 महीने जेल की सजा

दक्षिण अफ्रीका के उच्चतम न्यायालय ने देश के पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा को अदालत की अवमानना के लिए 29 मई 2021 को 15 महीने कैद की सजा सुनाई है. पिछले वर्ष नवंबर में स्टेट कैप्चर में जांच आयोग के समक्ष सुनवाई का बहिष्कार करने और फिर इसमें शामिल होने से इंकार करने के लिए उन्हें सजा सुनाई गई. 
उनको अदालत की अवमानना में यह सजा सुनाई गई है. जैकब जुमा 2009 से 2018 तक दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति रहे थे. उनकी जोंडो कमीशन के द्वारा जांच की जा रही है. सजा सुनाने के दौरान जुमा अदालत में उपस्थित नहीं थे.