मासिक करेंट अफेयर्स

30 October 2017

कैटेलोनिया ने स्वयं को स्पेन से स्वतंत्र घोषित किया

कैटेलोनिया की संसद ने 27 अक्टूबर 2017 को स्वयं को स्पेन से स्वतंत्र घोषित कर दिया. इस प्रकार लंबे समय तक संघर्षरत रहने के बाद आखिर कैटेलोनिया स्वतंत्र देश बना. गौरतलब है कि 27 अक्टूबर को ही स्पेन की संसद में कैटेलोनिया पर नियंत्रण बनाए रखने के लिए मतदान होना था, लेकिन उससे पहले ही कैटेलोनिया की संसद ने मतदान कर इसकी घोषणा कर दी. कैटेलोनिया की संसद में स्वतंत्रता वाले प्रस्ताव के पक्ष में 70 वोट डाले गये जबकि इसके विपक्ष में 10 वोट डाले गये. कैटेलोनिया की 135 सदस्यीय संसद में मतदान से पहले विपक्षी सांसदों ने वाकआउट किया. विपक्षी सदस्यों का कहना था कि इस घोषणा से कैटेलोनिया को स्पेन और विदेश से आधिकारिक मान्यता मिलने की संभावना नहीं है.
कैटेलोनिया के स्वतंत्र राष्ट्र घोषित होने के बाद स्पेन के प्रधानमंत्री मारियानो राजोय ने वहां की सरकार को बर्खास्त करने के साथ ही कैटेलोनिया की संसद को भी भंग कर दिया है. इसके साथ ही राजोय ने 21 दिसंबर को समय से पूर्व चुनाव कराने की घोषणा भी कर दी. वहीं अमेरिका ने स्पेन का समर्थन करते हुए अमेरिका ने स्पेन के संवैधानिक उपायों का समर्थन किया है. अमेरिकी प्रवक्ता ने कहा कि कैटेलोनिया स्पेन का एक अभिन्न अंग है और अमेरिका स्पेन की मजबूती और एकजुटता बनाए रखने के लिए स्पेनिश सरकार तथा उसके संवैधानिक उपायों का समर्थन करता है.
 पृष्ठभूमि:

कैटेलोनिया में वर्ष 2015 के चुनावों में अलगाववादी नेताओं को जीत हासिल हुई थी. इस चुनाव के दौरान ही इन्होंने जनमत संग्रह कराने का वादा किया था. स्पेन से अलग होने के लिए सरकार के कड़े विरोध के बावजूद कैटेलोनिया में जनमत संग्रह किया गया. जनमत संग्रह के दौरान काफी हिंसा भी हुई. इस प्रदर्शन में लगभग 10 लाख लोगों ने भाग लिया और आज़ादी की मांग की. उस समय कैटेलोनिया प्रशासन ने घोषणा कर बताया कि जनमत संग्रह में भाग लेने वाले 90 प्रतिशत लोग स्पेन से अलग होना चाहते हैं. वहीं, स्पेन का कहना था कि देश की संवैधानिक अदालत ने इस जनमत संग्रह को अवैध करार दिया है.

हाल ही में स्पेन की सरकार द्वारा कैटेलोनिया के अलगाववादी नेता को आगाह किया गया था कि कानूनी व्यवस्था में लौटने के लिए उनके पास तीन दिन का समय है. स्पेन की सरकार की ओर से तय शुरुआती समय सीमा को लेकर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कैटेलोनिया के राष्ट्रपति चार्ल्स पुइगदेमोंत ने स्पैनिश प्रधानमंत्री मारियानो राजोय के साथ बातचीत का आह्वान किया था, साथ ही उन्होंने मैड्रिड की ओर से 'हां या ना' में जवाब देने की मांग पर कुछ भी जवाब नहीं दिया.

No comments:

Post a Comment