26 March 2018

पेरू के राष्ट्रपति ने पद से इस्तीफा दिया, मार्टिन विजकारा बने नए राष्ट्रपति

पेरू के राष्ट्रपति पेड्रो पाबलो कुजेन्स्की ने राष्ट्र के नाम संबोधन देते हुए पद से इस्तीफा देने की घोषणा कर दी. उन्होंने यह घोषणा कांग्रेस में महाभियोग का सामना करने से एक दिन पहले की. 79 वर्ष के पूर्व बैंकर कुजेन्सकी पर ब्राजीलियन कंस्ट्रक्शन विशाल ओडेब्रेक्ट से संबंध होने के आरोप लगे थे. हालांकि अपना इस्तीफा देते हुए उन्होंने कहा कि यह राष्ट्र के लिए अच्छा है. उन्होंने कहा कि उन्होंने कठिन समय का सामना किया जिसकी वजह से उन्हें गलत तरीके से दोषी दिखाया गया. इसलिए वह सोचते हैं कि उनका इस्तीफा देना ही सही है. कुजेन्स्की ने कहा कि वह अपने देश के लिए बाधा नहीं बनना चाहते. कुजेन्सकी के त्यागपत्र के बाद उपराष्ट्रपति मार्टिन विजकारा ने यह

विश्व क्षयरोग दिवस

विश्व क्षयरोग दिवस / विश्व तपेदिक दिवस / विश्व टीबी दिवस प्रत्येक वर्ष 24 मार्च को मनाया जाता है. टी.बी. का पूरा नाम है ट्यूबरकुल बेसिलाई. यह एक छूत का रोग है और इसे प्रारंभिक अवस्था में ही न रोका गया तो जानलेवा साबित होता है. यह व्यक्ति को धीरे-धीरे मारता है. टी.बी. रोग को अन्य कई नाम से जाना जाता है, जैसे तपेदिक, क्षय रोग तथा यक्ष्मा. विश्व क्षय रोग दिवस के माध्यम से टी.बी. जैसी समस्या के विषय में और इससे बचने के उपायों के विषय में बात करने में

25 March 2018

रिलायंस ने 'सावन' के साथ जिओ म्यूजिक के विलय को मंजूरी दी

मुकेश अंबानी नेतृत्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने अपनी डिजिटल संगीत सेवा जियो म्यूजिक के लिए अग्रणी संगीत ऐप सावन के साथ एकीकरण की घोषणा की है. अब यह जियो-सावन के नाम से दुनिया के सामने होगा. इसकी घोषणा शुक्रवार शाम को जियो के निदेशक आकाश अंबानी और सावन के निदेशक ने की. खबर के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की डिजिटल म्यूजिक सर्विस 'जियो मैजिक' और दुनिया की बड़ी म्यूजिक एप 'सावन' के बीच करार की घोषणा की है. दोनों को मिलाकर इसका बाजार मूल्य 1 बिलियन अमरीकी डॉलर से अधिक हो जाएगा. इसमें जियो मैजिक का मार्केट वैल्यू 670 मिलियन अमेरिकी डॉलर है. विलय के अलावा रिलायंस इसमें 100 मिलियन

24 March 2018

मेघालय में खोजी गयी विश्व की सबसे लंबी बलुआ पत्थर की गुफा

भारत के पूर्वोत्तर राज्य मेघालय में दुनिया की सबसे बड़ी बलुआ पत्थर की गुफा का पता चला है. इस गुफा की लंबाई 24,583 मीटर (लगभग 24.5 किमी) है. मेघालय के पहाड़ अपनी जटिल गुफा प्रणालियों के लिए जाने जाते हैं. इस गुफा की खोज करने वाली संस्था मेघालय एडवेंचर एसोशिएसन ने इस गुफा का नाम करेम पुरी दिया है. इस गुफा की खोज 2016 में की गई थी. गुफा की लंबाई की माप इस साल 5 फरवरी को शुरु की गई थी, जो 1 मार्च को पूरी हुई. यह गुफा दुनिया की सबसे लंबी रिकॉर्डधारी गुफा से भी 6000 मीटर लंबी हैं.

वोडाफोन आइडिया के विलय से बनने वाली इकाई के चेयरमैन होंगे कुमार मंगलम

आइडिया सेल्यूलर व वोडाफोन ग्रुप ने उनके विलय से बनने वाली इकाई के लिए नयी टीम की घोषणा की. इसके तहत कुमार मंगलम बिड़ला नई इकाई के गैर कार्यकारी चेयरमैन होंगे. आइडिया सेल्यूलर ने शेयर बाजारों को सूचित किया है कि बालेश शर्मा नयी इकाई के सीईओ यानी मुख्य कार्याधिकारी होंगे. शर्मा इस समय वोडाफोन इंडिया के मुख्य परिचालन अधिकारी हैं. आइडिया सेल्यूलर ने कहा है, ‘आइडिया सेल्यूलर व वोडाफोन इंडिया की मौजूदा नेतृत्व टीमें अपने अलग अलग कारोबारों का प्रबंधन जारी रखेंगी और विलय के प्रभावी होने तक प्रत्येक कंपनी के परिचालनगत निष्पादन के लिए जिम्मेदार होंगी.’

जॉन बोल्टन होंगे ट्रंप के नए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के नए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के तौर पर जॉन आर बोल्टन को नियुक्त किया गया है. वह 9 अप्रैल से यह पद संभालेंगे. बोल्टन इससे पहले संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका के राजदूत रह चुके हैं. उन्होंने लेफ्टिनेंट जनरल एच.आर मैकमास्टर की जगह ली है. मैकमास्टर को हटाए जाने की खबरें पिछले हफ्ते ही आईं थी लेकिन वाइट हाउस ने इन खबरों को खारिज करते हुए कहा था कि राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) में किसी तरह के बदलाव नहीं किए गए हैं. बहरहाल, ट्रंप ने ट्विटर पर आज इस संबंध में घोषणा की.

23 March 2018

विश्व जल दिवस

विश्व जल दिवस प्रत्येक वर्ष 22 मार्च को मनाया जाता है. आज विश्व में जल का संकट कोने-कोने में व्याप्त है. लगभग हर क्षेत्र में विकास हो रहा है. दुनिया औद्योगीकरण की राह पर चल रही है, किंतु स्वच्छ और रोग रहित जल मिल पाना कठिन हो रहा है. विश्व भर में साफ़ जल की अनुपलब्धता के चलते ही जल जनित रोग महामारी का रूप ले रहे हैं. कहीं-कहीं तो यह भी सुनने में आता है कि अगला विश्व युद्ध जल को लेकर होगा. इंसान जल की महत्ता को लगातार भूलता गया और उसे बर्बाद करता रहा, जिसके फलस्वरूप आज जल संकट सबके सामने है. विश्व के हर नागरिक को पानी की महत्ता से अवगत कराने के लिए ही संयुक्त राष्ट्र ने "विश्व जल दिवस" मनाने की शुरुआत की थी. 'विश्व जल

कनाडा के गणितज्ञ रॉबर्ट लांगलैंड्स ने एबेल पुरस्कार जीता

कनाडा के गणितज्ञ रॉबर्ट लांगलैंड्स ने 2018 का अबेल पुरस्कार पुरस्कार अपने नाम कर लिया है. उनको यह पुरस्कार रिप्रेंसेंटेशन थ्योरी से नंबर थ्योरी को जोड़ने के अपने दूरदर्शी प्रोजेक्ट के लिए दिया जा रहा है. सिन्हुआ कि रिपोर्ट के अनुसार एकेडमी ने कहा कि लांगलैंड्स की अंतर्दृष्टि इतनी कट्टरपंथी और इतनी समृद्ध थी कि उन्होंने गणितीय क्षेत्रों को जिस तंत्र को सुझाव दिया, उसे लांगलैंड्स प्रोग्राम नामित एक परियोजना का नेतृत्व किया गया. 81 वर्षीय गणितज्ञ लांगलैंड्स को 22 मई को ओस्लो में एक पुरस्कार समारोह में नॉर्वे के राजा हेराल्ड वी से 6 मिलियन नॉर्वेजियन क्रोनर ($ 776,000) का वित्तीय पुरस्कार

22 March 2018

नंद बहादुर पुन बने नेपाल के उपराष्ट्रपति

सत्तारूढ़ गठबंधन एकीकृत नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) की स्थायी समिति के नेता नंद बहादुर पुन नेपाल के नये उपराष्ट्रपति चुने गए हैं. पुन ने शनिवार को उप राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन पत्र दायर किया था, लेकिन उनके खिलाफ किसी ने भी अपनी उम्मीदवारी पेश नहीं की और वे निर्विरोध एक बार फिर से नेपाल के उप राष्ट्रपति बन गए. नेपाल के निर्वाचन आयोग ने देश के उपराष्ट्रपति के रूप में उनका पुन: नाम घोषित कर दिया, यह कहते हुए कि अपने पद की जिम्मेदारी को जारी रखने के लिए चुनाव की आवश्यकता नहीं है. जाहिर है कि पुन के खिलाफ

बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को मिला उड़ीसा का अतिरिक्त प्रभार

बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को उड़ीसा के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. राष्ट्रपति भवन से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को उड़ीसा के राज्यपाल के रुप में अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गई है. उड़ीसा के वर्तमान राज्यपाल डॉ एस सी जमीर का कार्यकाल 20 मार्च को कार्यकाल खत्म हो रहा है. एस सी जमीर 21 मार्च 2013 को उड़ीसा के राज्यपाल का पद संभाला था.

 मालूम हो कि सत्यपाल मलिक 21 अप्रैल 1990 से 10 नवंबर 1990 तक केंद्रीय राज्यमंत्री (संसदीय और पर्यटन) रह चुके हैं. वो 1980-84 और 1986 से 1989 तक राज्यसभा सांसद और 1989 से 1990

21 March 2018

सुनील नय्यर बने सोनी इंडिया के प्रबंध निदेशक

सोनी इंडिया ने केनिचिरो हिबी की जगह सुनील नय्यर को कंपनी का नया प्रबंध निदेशक बनाया है। कंपनी ने आज इसका ऐलान किया। वहीं, 2012 से अब तक सोनी इंडिया की कमान संभालने वाले हिबी को सोनी ब्राजील के अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया गया है. सोनी इंडिया ने बयान में कहा कि नय्यर सोनी इंडिया के प्रबंध निदेशक के रूप में नियुक्त होने वाले पहले भारतीय हैं. नई भूमिका में नय्यर की जिम्मेदारी क्षेत्र में कंपनी के समग्र विकास और मुनाफे में बढ़ोतरी की होगी. सोनी इंडिया के एमडी के रूप में नय्यर का कार्यकाल एक अप्रैल से प्रभावी होगा. नय्यर ने अपनी नियुक्ति के बारे में कहा, 'सबसे अधिक लोकप्रिय उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स ब्रांड में से एक सोनी इंडिया का भारत में नेतृत्व करने का यह रोमांचक समय है.' 

आमिर खान बने स्मार्टफोन कंपनी VIVO के नए ब्रांड एंबैसडर

चीनी फिल्म इंडस्ट्री में जाना माना नाम बन चुके बॉलीवुड सुपरस्टार आमिर खान को चीन की स्मार्टफोन कंपनी वीवो के ब्रांड एंबैसडर बनाया गया है. चीन की स्मार्टफोन कंपनी वीवो ने सोमवार को ट्विटर पर लंबे सस्पेंस के बाद वीवो इंडिया के ब्रांड एंबैसडर के तौर पर आमिर खान के नाम का खुलासा किया. कंपनी ने एक बयान में कहा कि आमिर को वीवो इंडिया के भविष्य के ब्रांड और प्रोडक्ट के प्रोजेक्ट्स के लिए साइन किया गया है. वीवो इंडिया के मुख्य विपणन अधिकारी (सीएमओ) केनी झेंग ने कहा, 'हम उन संभावाओं को लेकर रोमांचित हैं जो दुनिया के सबसे बड़े सुपरस्टार में से एक के साथ साझेदारी के बाद भारत में वीवो के लिए खुलेंगी.' उन्होंने कहा, 'यह नई साझेदारी हमें अपने ग्राहकों तक पहुंचने के नए रास्ते तलाशने में मददगार साबित होगी क्योंकि अब हम भारत में अपने भविष्य के विकास की नई स्ट्रेटजी लिखने के लिए तैयार हैं.

आमिर जल्द ही इसके आने वाले प्रोडक्ट्स और टीवी एड्स में नजर आएंगे. वीवो के ब्रांड एंबैसडर बनने को लेकर आमिर ने कहा, 'वीवो एक ब्रांड के रूप में इनोवेशन का प्रतीक है. वर्षों से यह ब्रांड स्मार्टफोन तकनीक की सीमाओं को लगातार आगे बढ़ा रहा है. मैं भारत में वीवो के शानदार सफर का एक हिस्सा बन कर उत्साहित हूं.' बता दें आमिर खान चीन में अपनी फिल्मों को लेकर खूब पॉपुलर हैं. चीन के बॉक्स ऑफिस पर उनकी फिल्म 'सीक्रेट सुपरस्टार', दंगल और पीके टॉप बॉलीवुड ब्लॉकबस्टर फिल्में हैं. आलम ये है कि आमिर की  फिल्में भारत से ज्यादा चीन के बॉक्स ऑफिस पर कमाई कर रही हैं. आमिर फिल्म सीक्रेट सुपरस्टार ने चीन में भारत से 12 गुना ज्यादा कलेक्शन किया है. आमिर खान ने चीन में अपनी बढ़ रही फैन फॉलोविंग को लेकर कहा है कि वह भारत-चीन के क्रिएटिव लोगों को साथ में काम करते हुए देखना चाहता हूं. एक ऐसे प्रोजेक्ट पर काम होना चाहिए जो दोनों देशों के दर्शकों द्वारा पसंद किया जाए. इससे दोनों देशों के बीच संबंध और गहरे होंगे.

आईआरसीटीसी ने ओला के साथ किया करार

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन( आईआरसीटीसी) ने ओला के साथ करार किया है. इसके तहत उपभोक्ता आईआरसीटीसी के रेल कनेक्ट मोबाइल एप या उसकी वेबसाइट के जरिये ओला कैब बुक कर सकते हैं. आईआरसीटीसी ने बयान में कहा कि इस सुविधा के तहत ओला की सभी सेवाएं जैसे ओला माइक्रो, ओला मिनी, ओला ऑटो और ओला शेयर आदि उपलब्ध होंगी. उपभोक्ता इसके जरिये सात दिन अग्रिम तक के लिए कैब बुक कर सकते हैं. बयान के अनुसार, स्टेशनों पर उपलब्ध आईआरसीटीसी आउटलेट तथा ओला के कियोस्क के जरिये भी कैब की बुकिंग की जा सकेगी. 

आईआरसीटीसी ने बताया कि आईआरसीटीसी कैब बुक कराने के लिए अपना प्लेटफॉर्म मुहैया करा रहा है, ताकि यात्री अपना रेल टिकट बुक कराने के साथ चाहें तो कैब भी बुक करा सकेंगे. इसमें एक सुविधा यह भी होगी कि यात्री चाहे तो वह सात दिन पहले भी अपने लिए कैब बुक करा सकेगा. आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर रेल टिकट बुक कराने के साथ ही पहले से ही कई और विकल्प भी दिए गए हैं. इनमें अब ओला कैब बुकिंग को जोड़ दिया गया है.

अंतर्राष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस

विश्व भर में 20 मार्च 2018 को अंतर्राष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस मनाया गया. अंतर्राष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस 2018 का विषय है-"Share Happiness"- इसका उद्देश्य संबंधों, दयालुता और एक-दूसरे की मदद करने के महत्व पर ध्यान केंद्रित करना है. पाठकों को बता दे की 2013 से, संयुक्त राष्ट्र ने दुनिया भर के लोगों के जीवन में खुशी के महत्व को पहचानने के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस (20 मार्च को) मनाता है. संयुक्त राष्ट्र संघ ने 28 जून 2012 को एक प्रस्ताव पारित कर 20 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस मनाये जाने की घोषणा की थी.
   
अंतर्राष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस की अवधारणा भूटान के ग्रॉस नेशनल हैप्पीनेस (जीएनएच) संकल्पना पर आधारित है. 1970 के दशक में भूटान के प्रधानमंत्री जिग्मे वाई थिनले ने जीएनएच की संकल्पना दी. जीएनएच को भूटान ने राष्ट्रीय आय के माप के रूप में सकल घरेलु उत्पाद (जीएनपी) पर प्राथमिकता दी. जीएनएच पहल जीवन के प्रति समग्र दृष्टिकोण को विकसित करने की बात करता है. इस दिवस की शुरूआत संयुक्त राष्ट्र महासभा के महासचिव बान की मून ने लोगों के चेहरे पर हंसी लाने वाले गाने को नामांकित कर की. इस दिवस मनाये का मुख्य उद्देश्य यह है कि इस बात को स्वीकार करना है कि खुशहाली सिर्फ व्यक्तिगत लक्ष्य नहीं होना चाहिए बल्कि उन्हे सरकारी नीतियों का लक्ष्य भी बनाया जाना चाहिए.

विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट 2018 अभी हाल ही में जारी की गई थी जिसमें 156 देशों में उनकी ख़ुशी स्तर और 117 देशों को उनके आप्रवासियों की खुशी के स्तर पर रैंक दी गयी.फिनलैंड को सूची में सबसे खुशहाल देश के रूप में स्थान दिया गया था और पूर्वी अफ्रीका में बुरुंडी दुनिया में सबसे अप्रसन्न माना गया. पाकिस्तान (75 वें), चीन (86 वें) और नेपाल (101वां) के बाद भारत रिपोर्ट में 133वें स्थान पर रहा है.

वयोवृद्ध हिंदी कवि केदारनाथ सिंह का निधन

ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित हिन्दी के प्रख्यात कवि केदार नाथ सिंह का सोमवार रात यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में निधन हो गया. वह करीब 84 वर्ष के थे. पिछले एक वर्ष से बीमार चल रहे कवि केदार नाथ सिंह को, कई निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया था. करीब सात दिन पहले उन्हें दोबारा एम्स में भर्ती कराया गया जहां उन्होंने अंतिम सांस ली. बता दें कि प्रमुख आधुनिक हिंदी कवियों एवं लेखकों में से केदारनाथ सिंह का स्थान सबसे ऊपर था. केदारनाथ सिंह चर्चित कविता संकलन ‘तीसरा सप्तक’ के सहयोगी कवियों में से एक हैं. इनकी कविताओं के अनुवाद लगभग सभी प्रमुख भारतीय भाषाओं के अलावा अंग्रेज़ी, स्पेनिश, रूसी, जर्मन और हंगेरियन आदि विदेशी भाषाओं में भी हुए हैं.
 
केदारनाथ सिंह का जन्म 1934 में उत्तर प्रदेश के बलिया ज़िले के चकिया गांव में हुआ था. इन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) से 1956 में हिन्दी में एम.ए. और 1964 में पी.एच.डी की. केदारनाथ सिंह ने कई कालेजों में पढ़ाया और अन्त में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हिन्दी विभाग के अध्यक्ष पद से सेवानिवृत्त हुए. इन्होंने कविता व गद्य की अनेक पुस्तकें रची हैं और अनेक सम्माननीय सम्मानों से सम्मानित हुए. 'बाघ' इनकी प्रमुख लम्बी कविता है, जो मील का पत्थर मानी जा सकती है. कविता पाठ के लिए दुनिया के अनेक देशों की यात्राएं की थी. 2013 में केदारनाथ सिंह की सेवाओं के लिए उन्हें साहित्य के सबसे बड़े सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया. ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित होने वाले वह हिन्दी के 10वें लेखक थे.

विश्व गौरैया दिवस

विश्व गौरैया दिवस हर साल 20 मार्च को विश्व स्तर पर चिड़ियों की सुरक्षा के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए मनाया जाता है. इस वर्ष WSD का विषय है- 'I Love Sparrows'. यह दिवस पूरी दुनिया में गौरैया पक्षी के संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए मनाया जाता है. घरों को अपनी चीं-चीं से चहकाने वाली गौरैया अब दिखाई नहीं देती. इस छोटे आकार वाले खूबसूरत पक्षी का कभी इंसान के घरों में बसेरा हुआ करता था और बच्चे बचपन से इसे देखते बड़े हुआ करते थे. अब स्थिति बदल गई है. गौरैया के अस्तित्व पर छाए संकट के बादलों ने इसकी संख्या काफ़ी कम कर दी है और कहीं-कहीं तो अब यह बिल्कुल दिखाई नहीं देती.
 'विश्व गौरैया दिवस' पहली बार वर्ष 2010 में मनाया गया था. यह दिवस प्रत्येक वर्ष 20 मार्च को पूरी दुनिया में गौरैया पक्षी के संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए मनाया जाता है. एक-दो दशक पहले हमारे घर-आंगन में फुदकने वाली गौरैया आज विलुप्ति के कगार पर है. इस नन्हें से परिंदे को बचाने के लिए ही पिछले तीन सालों से प्रत्येक 20 मार्च को 'विश्व गौरैया दिवस' के रूप में मनाते आ रहे हैं, ताकि लोग इस नन्हीं-सी चिड़िया के संरक्षण के प्रति जागरूक हो सकें. भारत में गौरैया की संख्या लगातार घटती ही जा रही है. कुछ वर्षों पहले आसानी से दिख जाने वाला यह पक्षी अब तेज़ी से विलुप्त हो रहा है. दिल्ली में तो गौरैया इस कदर दुर्लभ हो गई है कि ढूंढे से भी ये पक्षी नहीं मिलता, इसलिए वर्ष 2012 में दिल्ली सरकार ने इसे राज्य-पक्षी घोषित कर दिया.

20 March 2018

चुनाव में पुतिन ने हासिल की ऐतिहासिक जीत, चौथी बार बने रूस के राष्ट्रपति

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने रविवार को हुए चुनावों में एक बार फिर ऐतिहासिक जीत हासिल कर ली है. उकेंद्रीय चुनाव आयोग ने बताया कि पुतिन ने 76.67 फीसदी वोट हासिल किए. निर्वाचन अधिकारियों ने बताया कि करीब दो दशक से रूस पर शासन करने वाले पुतिन ने रविवार को हुए चुनाव में अब तक का सबसे श्रेष्ठ प्रदर्शन किया है. ऐसे समय में जब रूस और पश्चिमी देशों के संबंध खराब दौर से गुजर रहे हैं रूस की जनता ने पुतिन को ही अगले 6 सालों के लिए राष्ट्रपति चुना है. अब वह 2024 तक इस पद पर रहेंगे।.पुतिन 2024 में अपना कार्यकाल खत्म होने के समय 71 साल के होंगे और उस समय सोवियत शासक जोसेफ स्टालिन के बाद सबसे लंबे समय तक नेता रहने वाले शख्स भी होंगे. पुतिन ने इस चुनाव से पहले अपने देश के नागरिकों से वादा किया था कि वे पश्चिमी देशों के खिलाफ रक्षा क्षेत्र को मजबूत करेंगे और लोगों के जीवन स्तर को सुधारेंगे.
बीते 18 सालों से राजनीति में अपना दबदबा रखने वाले पुतिन ने अपने प्रशंसकों की भीड़ को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें इस जीत का भरोसा था क्योंकि उन्होंने मुश्किल परिस्थितियों में भी विश्वास मत हासिल कर लिया था. बता दें कि शुरू से ही यह चुनाव एकतरफा ही माना जा रहा था क्योंकि कोई भी कद्दावर नेता पुतिन के खिलाफ नहीं लड़ रहा. पुतिन के खिलाफ 7 उम्मीदवार हैं. लेकिन उनके मुख्य प्रतिद्वंद्वी अलेक्सेई नवलनी को कानूनी कारणों को लेकर रोक दिया गया है. अभी तक के नतीजों के मुताबिक पुतिन के सबसे करीबी प्रतिद्वंद्वी और कम्युनिस्ट पार्टी के उम्मीदवार पावेल ग्रुदिनिन को करीब 13 प्रतिशत वोट मिले, जबक नैशनलिस्ट व्लादिमीर झिरिनोवस्की को करीब 6 प्रतिशत वोट मिले हैं. कोई भी उम्मीदवार पुतिन को मुकाबले की टक्कर नहीं दे सका. 65 साल के पुतिन साल 2000 से रूस के राष्ट्रपति पद पर बने हुए हैं. 

लादिमीर पुतिन 19 साल पहले रूस के कार्यकारी राष्ट्रपति बने थे. उन्होंने पहली बार 2000 में चुनाव लड़ा और 53 फीसदी वोट के साथ विजयी रहे थे. 2004 में वह 71.2 फीसदी वोट लेकर फिर राष्ट्रपति बने थे. जबकि 2012 में उन्होंने 63.3 फीसदी वोट पाकर एक बार फिर जीत दर्ज की. अब इस बार जीतने पर वह 2024 तक राष्ट्रपति बने रहेंगे. वह जोसेफ स्टालिन के बाद रूस में सबसे अधिक समय तक सत्ता संभालने वाले दूसरे व्यक्ति बन जाएंगे. रूस में पहले राष्ट्रपति का कार्यकाल चार साल का होता था, लेकिन 2012 में इसे बदलकर छह साल का कर दिया गया. उल्लेखनीय है की रूस में कोई भी लगातार दो बार राष्ट्रपति नहीं बन सकता है. पुतिन भी तीन बार देश के राष्ट्रपति रहे हैं. लेकिन उन्होंने 2008 का चुनाव नहीं लड़ा था. एक चुनाव छोड़ने के बाद वह फिर राष्ट्रपति बने.

रूस में प्रत्यक्ष मतदान के जरिए राष्ट्रपति का चुनाव होता है। मतदान दो चरणों में होता है. पहले चरण में किसी उम्मीदवार को बहुमत हासिल नहीं होने पर दूसरे चरण का मतदान होता है. दूसरे चरण के मतदान में पहले चरण के दो शीषर्ष उम्मीदवार मैदान में उतरते हैं. पहले चरण के मतदान के बाद दूसरे चरण की आवश्यकता हुई तो अगले महीने चुनाव करवाया जा सकता है. इस तरह काम करती है सरकार रूस में राष्ट्रपति के पास वास्तविक शक्तियां होती हैं. वह देश का सबसे ताकतवर व्यक्ति होता है. इसके बाद दूसरे स्थान पर प्रधानमंत्री और तीसरे स्थान पर फेडरल काउंसिल (ऊपरी सदन) के अध्यक्ष होते हैं. रूस में भारत की तरह ही संसद की कार्यवाही होती है. वहां फेडरल असेंबली होती है. साथ ही दो सदन फेडरल काउंसिल और स्टेट ड्यूमा होता है.

नई दिल्ली में आयोजित अनौपचारिक विश्व व्यापार संगठन मंत्रीस्तरीय बैठक

दो दिवसीय अनौपचारिक विश्व व्यापार संगठन (WTO) मंत्रीस्तरीय बैठक के लिए नई दिल्ली में 50 देशों के प्रतिनिधि एकत्र हुए. वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के अनुसारदो दिवसीय अनौपाचारिक बैठक मुक्त और बेबाक चर्चा को बढावा देगी, जिससे बड़े मुद्दों का राजनीतिक हल निकालने का रास्ता मिल पायेगा. विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के महानिदेशक रॉबर्टो एजेवेदो ने कहा कि यहां शुरू दो दिवसीय लघु मंत्री स्तरीय बैठक में चर्चा से बहुपक्षीय व्यापार संगठन की जिम्मेदारियों को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी. यह बैठक 19-20 मार्च को हो रही है. भारत अनौपचारिक रूप से डब्ल्यूटीओ के सदस्यों की लघु मंत्री स्तरीय बैठक की मेजबानी कर रहा है. इसमें 50 देशों के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं.

हालांकि बैठक में कोई निश्चित एजेंडा नहीं है, लेकिन अमेरिकी सरकार द्वारा इस्पात तथा एल्युमीनियम परशुल्क बढ़ाने के फैसले तथा निर्यात संवद्र्धन कार्यक्रम को लेकर भारत के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में जाने के मद्देनजर यह काफी महत्वपूर्ण है. एजेवेदो ने   कहा, ‘‘हम डब्ल्यूटीओ तथा बाहर कई चुनौतियों का सामना कर रहे हैं. इस समय वैश्विक स्तर पर व्यापार माहौल काफी जोखिमपूर्ण है. हम यहां डब्ल्यूटीओ की अनौपचारिक बैठक में एक खुली और ईमानदार चर्चा करेंगे.’’ उन्होंने कहा कि इसके परिणाम जिनेवा में चीजों को आगे बढ़ाने के लिए होने वाली बैठक के लिए उपयोगी होंगे. डब्ल्यूटीओ प्रमुख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य मंत्रियों से मुलाकात करने वाले हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे समक्ष काफी महत्वपूर्ण चुनौती है. हमारे पास विवाद निपटान प्रणाली है. अपीलीय सदस्यों की नियुक्ति में बाधा के कारण कुछ समस्याएं हैं. नई दिल्ली में बातचीत में इस मुद्दे पर जोर होगा.’’ वाणिज्य मंत्रालय ने कहा है कि बैठक से मुक्त और निष्पक्ष बातचीत का मौका मिलेगा और उम्मीद है कि यह कुछ प्रमुख मुद्दों पर राजनीतिक दिशानिर्देश उपलब्ध कराएगी.       

नवकलेवर महोत्सव पर राष्ट्रपति ने जारी किए स्मारक सिक्के

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने यहां रविवार को नवकलेवर महोत्सव के अवसर पर 1,000 रुपये और 10 रुपये के स्मारक सिक्के जारी किए. सरकार पहले ही इस महोत्सव की महत्ता को दर्शाने के लिए सिक्के जारी करने की घोषणा कर चुकी थी. इन सिक्कों पर भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और देवी सुभद्रा के प्रतीक चित्र हैं. राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान के शताब्दी समारोह को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि संस्कृत विज्ञान, कानून, दर्शन शास्त्र से अतिरिक्त आध्यात्मिकता की भाषा है.

वह हिंदुओं के प्रसिद्ध तीर्थ पुरी जगन्नाथ मंदिर के महत्ता के बारे में बोल रहे थे. यहां आदि शंकराचार्य, रामानुज, चैतन्य और गुरु नानक जैसे विभिन्न संतों और आध्यात्मिक गुरुओं ने यात्रा की और अपने मठ बनाकर भगवान जगन्नाथ की सेवा की. इस समारोह में ओडिशा के राज्यपाल एस.सी. जमीर, पुरी गजपति महाराज दिब्यासिंघ देब, केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान और जुआल ओराम मौजूद थे. राष्ट्रपति ने अपनी पत्नी सविता कोविंद के साथ रविवार को यहां श्रीमंदिर के दर्शन किए. कोविंद की यात्रा के कारण मंदिर प्रशासन ने सुबह 6:30 बजे से 8:30 बजे तक जनता के लिए दर्शन पर रोक लगा दी थी.

वर्ल्डवाइड कॉस्ट ऑफ लिविंग रिपोर्ट 2018- सिंगापुर सबसे महंगा, दमास्कस सबसे सस्ता

द इकोनॉमिस्ट इंटेलीजेंस यूनिट की वर्ल्डवाइड कॉस्ट ऑफ़ लिविंग रिपोर्ट 2018 के अनुसार सिंगापुर दुनिया का सबसे महंगा शहर है. द इकोनोमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (ईआईयू) ने पूरे विश्व में 133 शहरों के लिए वर्ल्डवाइड कॉस्ट ऑफ़ लिविंग सूचकांक 2018 को प्रकाशित किया, जो कि एक सर्वेक्षण के अनुसार 150 से अधिक उत्पादों और सेवाओं में 400 से अधिक व्यक्तिगत कीमतों की तुलना पर आधारित है. युद्ध-तबाह सीरिया की राजधानी दमास्कस, दुनिया में रहने के लिए सबसे सस्ता शहर है, उसके बाद वेनेजुएला की राजधानी कराकस है. सर्वे में बेंगलुरु, चेन्नई, कराची और नई दिल्ली जैसे 10 शहरों को सबसे सस्ते गंतव्य के रूप में दर्शाया गया है. 

रिपोर्ट में कहा गया है, हालांकि भारत एक तेजी से उभरती हुई अर्थव्यवस्था है, लेकिन इसके बावजूद वेतन और खर्च करने के मामले में यहां की ग्रोथ अब भी काफी कम है. आय में असमानता इसका एक महत्वपूर्ण कारण है. आज भी घर खर्च चलाने के लिए यहां लोगों को काफी जद्दोजहद करनी पड़ती है. पश्चिमी देशों की तुलना में यहां कम दर पर ग्रामीण क्षेत्रों से शहरी इलाकों में खाद्यान्नों और अन्य वस्तुओं की आपूर्ति, कुछ सामानों पर सरकारी सब्सिडी भी वस्तुओं के दाम बढ़ने से रोकते हैं. सीरिया की राजधानी दमिश्क दुनिया का सबसे सस्ता शहर है. वहीं, वेनेजुएला की राजधानी कराकस और कजाकस्तान का व्यापारिक केंद्र अलमाटी इस सूची में दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं.
 
अन्य दस सबसे सस्ते शहरों में लागोस चौथे स्थान पर, बेंगलुरु पांचवें स्थान पर, कराची छठे स्थान पर, अल्जीयर्स सातवें स्थान पर, चेन्नई आठवें स्थान पर, बुचारेस्ट नौवें स्थान पर और नई दिल्ली दसवें स्थान पर है. रिपोर्ट के मुताबिक, यद्यपि भारतीय उपमहाद्वीप ढांचागत रूप से काफी सस्ता है, और यहां स्थायित्व रहन-सहन एवं भरण-पोषण भी अन्य देशों की तुलना में कुछ निम्न स्तर का है. इसका मतलब यह है कि विश्व के कुछ देशों की अपेक्षा यहां जोखिम भी अधिक होते हैं.

 सूची में शीर्ष 5 मूल्यवान शहर हैं-
1. सिंगापुर 2. पेरिस, फ्रांस 3. ज़्यूरिख़, स्विटज़रलैंड 4. हांगकांग, चीन 5. ओस्लो, नॉर्वे

गोवा तट के पास हुई भारत-फ्रांस के नौसैनिक अभ्यास ‘वरुण-18’ का शुभारम्भ

भारत और फ्रांस के संयुक्त नौसैनिक अभ्यास‘ वरूण-18’ की शुरुआत 19 मार्च को अरब सागर में गोवा तट के पास हुई, जिसमें पनडुब्बी- रोधी, हवाई रक्षा और अलग- अलग रणनीतियों वाले अभ्यास भी शामिल होंगे. फ्रांसीसी नौसेना का पनडुब्बी- रोधी युद्ध पोत‘ ज्यां डी वियने’, भारतीय नौसेना का पोत‘ आईएनएस मुंबई’ और युद्ध पोत‘ आईएनएस त्रिखंड’ अभ्यास में हिस्सा ले रहे पोतों में शामिल हैं. भारतीय नौसेना की पनडुब्बी‘ कलवरी’, पी8-1 और‘ डॉर्नियर’ समुद्री गश्ती विमान एवं‘ मिग-29 के’ लड़ाकू विमान भी इस अभ्यास में हिस्सा ले रहे हैं. सोमवार को शुरू हुए अभ्यास का पहला चरण 24 मार्च को पूरा होगा. दूसरा चरण अप्रैल में चेन्नई तट के पास होगा और तीसरा चरण मई में ला रीयूनियन द्वीप के पास होगा. इस अभ्यास के दौरान भारत और फ्रांस अपने- अपने सशस्त्र बलों के बीच अभियानों से जुड़े तालमेल की संभावनाएं तलाशेंगे और साझा वैश्विक खतरों को देखते हुए आपसी सहयोग बढ़ाएंगे.

भारतीय नौसेना के पश्चिमी बेड़े के फ्लैग ऑफिसर कमांडर रीयर एडमिरल एम ए हैम्पीहोली ने कहा कि ‘ वरुण-18’ अरब सागर, बंगाल की खाड़ी और दक्षिण- पश्चिमी हिंद महासागर सहित तीन समुद्री क्षेत्रों में संचालित किया जाएगा. अभ्यास में फ्रांस की अगुवाई कर रहे रीयर एडमिरल डिडियर पायएटन ने कहा कि भारत हिंद महासागर क्षेत्र में फ्रांस का प्रमुख साझेदार है और अंतरराष्ट्रीय समुद्री मार्गों की सुरक्षा बरकरार रखने के लिए दोनों देशों के बीच समुद्री सहयोग काफी अहम है.

19 March 2018

विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट 2018: भारत की रैंक 133, फ़िनलैंड शीर्ष पर

संयुक्त राष्ट्र महासभा के नेतृत्व में 14 मार्च, 2018 को संयुक्त राष्ट्र निर्वहनीय विकास समाधान नेटवर्क (UNSDSN) द्वारा छठवीं ‘विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट-2018’ (World Happiness Report-2018) जारी की गई. विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट, 2018 की इस सूची में 156 सदस्य देशों को शामिल किया गया है. इस रिपोर्ट के अनुसार विश्व के सबसे खुश देशों की सूची में फिनलैंड प्रथम स्थान पर है. रिपोर्ट में विश्व के शीर्ष दस देशों में फिनलैंड के बाद क्रमागत रूप से नॉर्वे, डेनमार्क, आइसलैंड, स्विट्जरलैंड, नीदरलैंड्स, कनाडा, न्यूजीलैंड, स्वीडन तथा ऑस्ट्रेलिया शामिल हैं. इस सर्वेक्षण कार्य के अंतर्गत उक्त देशों में लोगों की खुशियों के स्तर को मापने हेतु 6 महत्वपूर्ण निर्धारक कारकों (Key Factors) का प्रयोग किया गया है.
ये निर्धारक कारक बिंदुवार निम्नवत हैं-
(i) जीडीपी प्रति व्यक्ति आय (GDP Per Capita)
(ii) स्वस्थ जीवन प्रत्याशा (Healthy Life Expectancy)
(iii) सामाजिक स्वतंत्रता (Social Freedom)
(iv) भ्रष्टाचार का अभाव (Absence of Curruption)
(v) सामाजिक अवलंबन (Social Support) तथा
(vi) उदारता (Generosity) ।

इस सूची में विश्व के प्रमुख विकसित देशों में जर्मनी 15वें, अमेरिका 18वें, यूनाइटेड किंगडम 19वें, फ्रांस 23वें, सिंगापुर 34वें तथा जापान 54वें स्थान पर है. इस रिपोर्ट के अनुसार, इस सूची में भारत 133वें स्थान पर है. जबकि गत वर्ष भारत इस सूची में 122वें स्थान पर था. भारत के पड़ोसी देशों में पाकिस्तान को 75वां भूटान को 97वां, नेपाल को 101वां, बांग्लादेश को 115वां तथा श्रीलंका को 116वां स्थान प्राप्त हुआ है. इस प्रकार भारत इस सूची में अपने पड़ोसी देशों से काफी पीछे है. शीर्ष 10 देशों में कोई भी एशियाई देश शामिल नहीं है. सबसे प्रसन्न एशियाई देशों में इस्राइल को 11वां तथा संयुक्त अरब अमीरात (UAE) को 20वां स्थान प्राप्त हुआ है. इस रिपोर्ट के अनुसार, बुरुंडी विश्व के सबसे प्रसन्न देशों की सूची में अंतिम पायदान पर है। उसका स्थान 156वां है.
 
गौरतलब है कि वर्ष 2012 से संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी की जाने वाली इस रिपोर्ट का मुख्य उद्देश्य सदस्य देशों को अपने नागरिकों की संतुष्टि एवं प्रसन्नता के स्तर को ध्यान में रखते हुए लोक नीतियों के निर्माण हेतु प्रेरित करना है. पूर्वी अफ्रीका में बुरुंडी दुनिया में सबसे अप्रसन्न स्थान है. अध्ययन से पता चलता है कि अमेरिका 2016 से 5 स्थान नीचे होकर 18 वें स्थान पर आ गया है. पाकिस्तान (75 वें), चीन (86 वें) और नेपाल (101 वां) के बाद रिपोर्ट में भारत की 133वें स्थान पर है.

भारत और ADB ने रेल इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार के लिए $120 मिलियन ऋण पर हस्ताक्षर किए

सरकार ने उच्च घनत्व वाले कॉरिडोर के साथ रेल इंफ्रास्ट्रक्चर और भारतीय रेलवे की परिचालन दक्षता में सुधार के लिए परियोजनाओं को पूरा करने के लिए एशियन डेवलपमेंट बैंक (ADB) के साथ $ 120 मिलियन का ऋण करार किया है. ऋण में 20 वर्ष का कार्यकाल है, जिसमें 5 साल की रियायती अवधि भी शामिल है और ADB की लंदन इंटरबैंक की पेशकश की दर (लिबोर) आधारित ऋण सुविधा और प्रति वर्ष 0.15% की प्रतिबद्धता प्रभार के अनुसार निर्धारित वार्षिक ब्याज दर है. 2011 में ADB बोर्ड द्वारा अनुमोदित रेलवे सेक्टर निवेश कार्यक्रम के लिए लोन की राशि $ 500 मिलियन की बहु-किश्त वित्तपोषण सुविधा है. ऋण की राशि का उपयोग पहले की शाखाओं के तहत शुरू होने वाली कार्य को पूरा करने के लिए किया जाएगा. इस परियोजना का लक्ष्य है कि देश में बिजली के विद्युतीकरण, आधुनिक सिग्नलिंग प्रणाली की शुरूआत और रेल मार्गों की दोहरीकरण के जरिए रेल बुनियादी ढांचे की दक्षता में वृद्धि करना है. यह ऊर्जा-कुशल, सुरक्षित और विश्वसनीय रेलवे प्रणाली विकसित करने में मदद करेगी जो कि परियोजना रेल मार्गों के साथ कम यात्रा के समय और बेहतर परिचालन और वित्तीय दक्षता का परिणाम देगा.

इस परियोजना का उद्देश्‍य देश भर में महत्‍वपूर्ण मार्गों पर रेल लाइनों के दोहरीकरण, विद्युतीकरण और आधुनिक सिग्‍नलिंग प्रणाली को स्‍थापित कर रेलवे की बुनियादी ढांचागत सुविधाओं की क्षमता को बढ़ाना है. इस कार्यक्रम से कम ऊर्जा खपत, सुरक्षित और विश्‍वसनीय रेल प्रणाली विकसित करने में मदद मिलेगी, जिससे परियोजना के तहत आने वाले रेल रूटों पर सफर की अवधि घटाने में मदद मिलेगी और बेहतर परिचालनगत एवं वित्‍तीय दक्षता सुनिश्चित होगी. ऋण की तीसरी किस्‍त के जरिये होने वाले वित्‍त पोषण से लगभग 840 किलोमीटर लंबे रेलमार्गों के दोहरीकरण और अधिक भीड-भाड़ वाले गलियारों से सटे 640 किलोमीटर लंबी पटरियों के विद्युतीकरण से जुड़े कार्यक्रम के लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करने में मदद मिलेगी. ऋण की आय का इस्तेमाल छत्तीसगढ़, ओडिशा, महाराष्ट्र, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में व्यस्त माल और यात्री मार्गों के लिए किया जाएगा, जिसमें चेन्नई, कोलकाता, मुंबई और नई दिल्ली से जुड़ने वाले “गोल्डन क्वाड्रिलेटल” कॉरिडोर शामिल हैं.

इस निवेश कार्यक्रम के तहत छत्‍तीसगढ़, ओडिशा, महाराष्‍ट्र, कर्नाटक और आन्‍ध्र प्रदेश के व्‍यस्‍त माल एवं यात्री ढुलाई वाले रूटों को लक्षित किया जा रहा है, जिसमें ‘स्वर्णिम चतुर्भुज’ गलियारा भी शामिल है, जो चेन्‍नई, कोलकाता, मुम्‍बई और नई दिल्‍ली को आपस में जोड़ता हैं. रेल खंडों का दोहरीकरण दौंड-टिटलागढ़ खंड, संबलपुर-टिटलागढ़ खंड, रायपुर-टिटलागढ़ खंड और हॉस्पेट-टिनाइघाट खंड पर किया जा रहा है, जबकि विद्युतीकरण का कार्य 641 किलोमीटर लंबे पुणे-वाडी गुंटाकल खंड पर किया जा रहा है.

एशियाई विकास बैंक (ADB) : ADB क्षेत्रीय विकास बैंक है जिसका उद्देश्य एशिया में सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है. यह 1966 में स्थापित किया गया था. इसका मुख्यालय मनीला, फिलीपींस में है. अब इसमें 67 सदस्य हैं, जिनमें से 48 एशिया और प्रशांत के भीतर से हैं और 19 बाहर हैं. ADB को विश्व बैंक के साथ मिलकर तैयार किया गया है. इसके पास वेटेड वोटिंग सिस्टम है, जहां सदस्यों की कैपिटल सब्सक्रिप्शन के साथ मतों का वितरण किया जाता है. 2014 तक, जापान 15.7% शेयरों वाला सबसे बड़ा शेयरधारक (पूंजी सदस्यता) था, उसके बाद अमेरिका (15.6%), चीन (6.5%), भारत (6.4%) और ऑस्ट्रेलिया (5.8%) का स्थान था.

शी जिनपिंग चीन के राष्ट्रपति के रूप में पुनः निर्वाचित, वांग बने उपराष्ट्रपति

शी जिनपिंग शनिवार को फिर से अगले पांच और साल के लिये चीन के राष्ट्रपति चुन लिए गए हैं. रबर स्टांप मानी जाने वाली चीन की संसद नेशनल पीपुल्स कांग्रेस ने कुछ ही दिन पहले राष्ट्रपति के कार्यकाल पर लगी समयसीमा खत्म करते हुए उन्हें आजीवन राष्ट्रपति बनने की मंजूरी दे दी थी. शी को चीन की ताकतवर सेंट्रल मिलिट्री कमिशन का भी प्रमुख चुना गया, जिसके अंदर चीनी सेना आती है. 11 मार्च को नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) के 2900 से अधिक सांसदों ने राष्ट्रपति एवं उपराष्ट्रपति के दो कार्यकाल की समयसीमा खत्म करने के मकसद से सत्तारूढ़ चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) की ओर से प्रस्तावित संवैधानिक संशोधन के लिये मतदान किया था.

दो बार के कार्यकाल पर समयसीमा लगने के कारण शी को वर्ष 2023 तक सीपीसी प्रमुख, सेना एवं राष्ट्रपति के तौर पर सेवानिवृत्त होना था. शी वर्ष 2013 में राष्ट्रपति बने थे. माओ के निधन के बाद पार्टी ने दो बार के कार्यकाल पर समयसीमा लगाने को स्वीकृति दी थी. ताकि यह सुनिश्चित हो कि भीषण सांस्कृतिक क्रांति जैसी गलतियों को टालने के लिये एक समग्र नेतृत्व सुनिश्चित किया जा सके. इस क्रांति में लाखों लोग मारे गये थे. सांसदों ने सर्वसम्मति से शी को राष्ट्रपति चुना, शी (64) के पक्ष में सभी 2,970 वोट पड़े. वहीं वांग किशान को 2969 मतों से उपराष्ट्रपति चुना गया. 

प्रधानमंत्री ली केकियांग को छोड़कर सेंट्रल बैंक के गवर्नर के अलावा समूचे कैबिनेट सहित सभी शीर्ष पदों पर नये अधिकारी होंगे. शी के खिलाफ एक भी वोट नहीं गया और न ही कोई इस दौरान संसद से नदारद रहा. वह केंद्रीय सैन्य आयोग के अध्यक्ष के रूप में भी दोबारा निर्वाचित हुए हैं, जिसका मतलब है कि वह देश में तीन सर्वाधिक सशक्त स्थानों पर काबिज रहेंगे. शी राष्ट्रपति के साथ-साथ सशस्त्र सेनाओं के सर्वोच्च भी हैं और साथ ही कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव भी हैं.

ऊर्जा सूचकांक में भी चीन से पिछड़ा भारत, स्वीडन 114 देशों की सूची में टाॅप पर

विश्व आर्थिक मंच के ऊर्जा संक्रमण सूचकांक (एनर्जी ट्रांजिशन इंडेक्स) में भारत को 114 देशों की सूची में78 वां स्थान मिला है. स्वीडन को इस सूची में शीर्ष स्थान हासिल हुआ है. ‘फोस्टरिंग इफेक्टिव एनर्जी ट्रांजिशन' नामक रिपोर्ट के अनुसार, इस सूचकांक में देशों को इस आधार पर स्थान दिया गया है कि वे किस तरह से ऊर्जा सुरक्षा का संतुलन बनाने में सक्षम हैं और किस हद तक पर्यावरण संरक्षण एवं किफायती पहुंच बना पा रहे हैं. रिपोर्ट के अनुसार, भारत ने ऊर्जा की पहुंच बेहतर करने, ऊर्जा दक्षता और ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों की उपलब्धता को लेकर बड़े कदम उठाये हैं. हालांकि, देश में ऊर्जा संक्रमण को बड़े निवेश, उपयुक्त माहौल तथा उचित नियामकीय रूपरेखा की जरूरत है, ताकि इसे समर्थन मिल सके.

इस सूचकांक में ब्राजील 38वें, रूस 70वें तथा चीन 76वें स्थान पर हैं. भारत के मुकाबले उनकी स्थिति बेहतर है. इसमें स्वीडन के बाद नॉर्वे को दूसरा और स्विट्जरलैंड को तीसरा स्थान मिला है. शीर्ष 10 देशों में फिनलैंड, डेनमार्क, नीदरलैंड, ब्रिटेन, ऑस्ट्रिया, फ्रांस और आइलैंड शामिल हैं.

मॉरीशस की राष्ट्रपति अमीनहां गिरब-फकीम ने एक वित्तीय घोटाले के कारण इस्तीफा दिया

वित्तीय घोटाले में फंसी मॉरीशस की राष्ट्रपति अमीनाह गुरीब- फाकिम ने शनिवार को इस्तीफा दे दिया. उनके वकील ने यह जानकारी देते हुए बताया कि गुरीब फाकिम ने "राष्ट्र हित’’ में इस्तीफा सौंपा है. उन्होंने बताया कि यह इस्तीफा 23 मार्च से प्रभावी होगा. युसूफ ने बताया कि अमीना गुरीब नहीं चाहती थीं कि उनकी वजह से देश की इकोनॉमी पर फर्क पड़े. गुरीब फकीम पर आरोप है कि उन्होंने एक अंतरराष्ट्रीय एनजीओ के द्वारा जारी किए गए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल अपनी पर्सनल शॉपिंग के लिए किया. एक स्थानीय अखबार ने हाल ही में खुलासा किया था कि राष्ट्रपति ने इटली और दुबई में शॉपिंग के लिए प्लैनेट अर्थ इंस्टीट्यूट के क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया था.
बता दें कि साल 2015 में मॉरीशस की पहली महिला राष्ट्रपति नियुक्त की गईं अमीना गुरीब केमिस्ट्री की प्रोफेसर रह चुकी हैं. पर्सनल शॉपिंग के लिए प्लैनेट अर्थ इंस्टीट्यूट नाम के जिस अंतरराष्ट्रीय एनजीओ के क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल का अमीना पर आरोप है, वह इसकी अवैतनिक (बिना भुगतान के) निदेशक रह चुकी हैं. यह संस्था जरूरतमंद स्टूडेंट्स काे छात्रवृत्ति के जरिए शिक्षा में मदद करती है.

रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए UN ने की 95.1 करोड़ डॉलर की अपील

बताया जा रहा है कि संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों और गैर सरकारी संस्थाओं (एनजीओ) ने रोहिंग्य मानवीय संकट के लिए 2018 संयुक्त रिस्पांस प्लान जारी किया. इसमें करीब नौ लाख रोहिंग्या शरणार्थियों की तत्काल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए 95.1 करोड़ डॉलर की राशि की अपील की गई है. जेनेवा में शुक्रवार को यूएन में मीडिया के सामने अपील की घोषणा करते हुए एजेंसियों ने कहा कि इस योजना में म्यांमार के शरणार्थियों को जगह देने वाले 330,000 से ज्यादा असुरक्षित बांग्लादेशियों को भी शामिल किया गया है. रोहिंग्या मानवीय संकट के लिए 2018 अपील शरणार्थियों के लिए यूएन हाई कमिश्नर फिलिपो ग्रांडी, आईओएम महाप्रबंधक विलियम स्वींग और बांग्लादेश में यूएन निवासी समन्वयक मिया सेप्पो द्वारा शुरू की गई है.

ग्रांडी ने कहा, "हम वास्तव में दोनों पक्षों की तत्काल जरूरतों के बारे में बात कर रहे हैं. जिसमें एक पक्ष बांग्लादेशी समुदायों का है जिसने खुले दिल से अपने दरवाजे खोल दिए और दूसरा पक्ष देश से निकाला गया और शरणार्थी आबादी का है. यह संकट दुनिया का सबसे अधिकारहीन कर देने वाला था." उन्होंने कहा, "म्यांमार में फैले संकट के समाधान और शर्ते लागू की जानी चाहिए, जिसमें शरणार्थियों को उनके घर वापस जाने की मंजूरी शामिल हो. लेकिन आज तत्काल जरूरत के साथ मदद की अपील कर रहे हैं और यह जरूरतें बड़ी हैं." यूएन एजेंसियों ने कहा कि रोहिंग्या शरणार्थी आबादी को प्रतिदिन 1.6 करोड़ लीटर से ज्यादा स्वच्छ जल, प्रत्येक माह 12,200 मीट्रिक टन खाद्य पदार्थ और कम से कम 180,000 रोहिंग्या परिवारों को खाना पकाने वाले ईंधन की जरूरत है.

18 March 2018

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मॉरीशस में विश्व हिंदी सचिवालय का उद्घाटन किया

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मॉरिशस में अपने दौरे के तीसरे दिन विश्व हिंदी सचिवालय इमारत का उद्घाटन किया. साथ ही उन्होंने विश्व हिंदी सचिवालय का लोगो व अर्ली डिजिटल लर्निंग प्रोग्राम लॉन्च करने के साथ ही एक सामाजिक आवास परियोजना और भारतीय मदद से बने ईएनटी के एक बड़े अस्पताल की आधारशिला रखी. शाम में राष्ट्रपति ने भारतीय उच्चायुक्त द्वारा उनके सम्मान में आयोजित एक एक स्वागत समारोह हिस्सा लिया. दो राष्ट्रों के राजकीय दौरे के अंतिम चरण के लिए वह मैडागास्कर रवाना होंगे. मैडागास्कर जाने वाले वह पहले भारतीय राष्ट्रपति होंगे. इससे पहले भारत ने मॉरीशस द्वारा रक्षा खरीद किए जाने के मकसद से 10 करोड़ डॉलर की नयी ऋण सुविधा की घोषणा की. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मॉरीशस की यात्रा के दूसरे दिन दोनों देशों ने कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए थे. कोविंद की मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ के साथ प्रतिनिधि स्तर की बातचीत के बाद समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए.

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, ‘‘ भारत और मॉरीशसकी हिंद महासागर में समान सुरक्षा चिंताएं हैं. मैं यह घोषणा करके खुश हूं कि भारत मॉरीशस को ऋण सुविधा के तहत बहुद्देशीय गश्ती पोत की आपूर्ति करेगा.’’  दोनों देशों के बीच कई दूसरे समझौतों/ सहमति ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए है. इनमें बिहार नालंदा विश्वविद्यालय और मॉरीशस के बीच सहयोग स्थापित करने, मॉरीशस विश्वविद्यालय में आयुर्वेद पीठ की स्थापना से संबंधित सहमति पत्र भी शामिल हैं.

17 March 2018

लैरी कुडलो होंगे ट्रम्प के नए आर्थिक सलाहकार

लैरी कुडलो ने अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के मुख्य आर्थिक सलाहकार के पद पर अपनी नियुक्ति को स्वीकार कर लिया है. वाइट हाउस ने यह जानकारी दी. सत्तर वर्षीय कुडलॉ गोल्डमैन सैक के पूर्व कार्यकारी गैरी कोहेन की जगह लेंगे. कोहेन ने स्टील और ऐल्युमिनियम के आयात पर क्रमश: 25 और 10 प्रतिशत कर लगाए जाने को लेकर ट्रंप के साथ मतभेद के बाद पद से इस्तीफा दे दिया था. वाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा, ‘लैरी कुडलॉ को आर्थिक नीतियों में राष्ट्रपति के सहायक और राष्ट्रीय आर्थिक परिषद के निदेशक पद की पेशकश की गई थी, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया.’ सारा ने कहा कि हम हस्तांतरण पर काम करेंगे और वह आपैचारिक रूप से अपना पद भार कब संभाल रहे हैं, इसकी सूचना देते रहेंगे.

कुडलॉ (रॉनल्ड विल्सन) रीगन प्रशासन में काम कर चुके हैं और आर्थिक नीतियां बनाने में मदद की थी. अमेरिका के शीर्ष सांसदों ने इस महत्वपूर्ण प्रशासनिक पद पर कुडलॉ की नियुक्ति का स्वागत किया है. सेनेटर लिंडसे ग्राहम ने कुडलॉ को बेहतर चयन बताते हुए उन्हें विकास समर्थक बताया और आर्थिक नीतियों की वकालत करने के लिए उनकी प्रशंसा की है. सेनेट सदस्य डेविड पेर्ड्यू का कहना है कि कुडलॉ अमेरिका को पूरी दुनिया के मुकाबले ज्यादा प्रतिस्पर्धी बनाने में ट्रंप की मदद करेंगे. वहीं डैमोक्रेटिक पार्टी की सांसद टेड डब्लू लियू इस पद पर कुडलॉ की नियुक्ति से ज्यादा खुश नहीं हैं. उनका कहना है कि अब अमेरिका की आर्थिक नीतियां ऐसा व्यक्ति बनायेएगा जो युद्ध को अर्थव्यवस्था के लिए बेहतर बताता है.

बचत खातों में मिनिमम बैलेंस पर एसबीआई ने दी बड़ी राहत, 75% तक घटाया जुर्माना

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने बचत खातों में औसत मासिक रकम नहीं रखने पर जुर्माने की रकम करीब-करीब 75% तक कम कर दी है. नया शुल्क 1 अप्रैल 2018 से लागू हो जाएगा. एसबीआई के इस कदम से 25 करोड़ ग्राहकों को फायदा होगा. एसबीआई ने कहा कि ऐवरेज मंथली बैलेंस (एएमबी) में कटौती का फैसला विभिन्न पक्षों के फीडबैक के मद्देनजर लिया गया है. महानगरों और शहरी क्षेत्रों के ग्राहकों को अपने सेविंग्स अकाउंट्स में ऐवरेज मंथली बैलेंस नहीं रखने पर हर महीने 50 रुपये का जुर्माना देना पड़ता था जो 1 अप्रैल से घटकर 15 रुपये हो जाएगा. इसी तरह, अर्ध-शहरी या कस्बाई क्षेत्रों के ग्राहकों के लिए यह प्रतिमाह 40 रुपये था जो घटकर 12 रुपये रह गया. हालांकि, जुर्माने की रकम के साथ-साथ 10 रुपये का जीएसटी भी देना होगा।.यानी, मेट्रो और अर्बन सेंटर्स पर ग्राहकों को कुल 25 रुपये जबकि सेमी-अर्बन सेंटर्स के ग्राहकों को कुल 22 रुपये का चार्ज हर महीने देना होगा. ऐसे में उन्हें क्रमशः 25 रुपये और 18 रुपये की राहत मिलेगी.
 
अगर आपका बचत खाता महानगर के किसी शाखा में है तो आपको 3,000 रुपये का ऐवरेज बैलेंस मेंटेन करना होगा, जो सितंबर 2017 से पहले 5,000 रुपये था. अभी शहरी इलाके की शाखाओं वाले बचत खातों में भी 3,000 रुपये का ऐवरेज बैलेंस रखना होगा जबकि कस्बाई या ग्रामीण इलाके के खातों के लिए यह रकम क्रमशः 2,000 रुपये और 1,000 रुपये तय है. बता दे की एसबीआई ने ऐवरेज मंथली बैलेंस नहीं रख पानेवालों से महज 8 महीनों में 1,771 करोड़ रुपये की भारी-भरकम रकम वसूल की जिसके कारन इस सरकारी बैंक की चौतरफा कड़ी आलोचना होने लगी. जुर्माने से वसूली गई रकम जुलाई-सितंबर में बैंक को हुए 1,581.55 करोड़ रुपये के मुनाफे से भी ज्यादा और अप्रैल-सितंबर छमाही में हुए 3,586 करोड़ रुपये के कुल शुद्ध लाभ का करीब-करीब आधी है.
 
अक्टूबर 2017 में एसबीआई ने एएमबी नहीं मेंटेन करने पर सर्विस चार्ज में 20 से 50 प्रतिशत तक की कटौती की थी. इससे पहले, एएमबी मेंटेन नहीं करने पर मेट्रो एवं अर्बन कस्टमर्स से 40 से 100 रुपये तक वसूले जाते थे जिसे घटाकर 30 से 50 रुपये किया गया था. अर्ध-शहरी या कस्बाई एवं ग्रामीण इलाकों की शाखाओं के ग्राहकों पर जुर्माने की रकम भी 25 रुपये से 75 रुपये के मुकाबले 20 रुपये से 40 रुपये कर दी गई थी. बता दे की एसबीआई ने 6 साल के बाद अप्रैल 2017 से एएमबी चार्ज वसूलना शुरू किया था और विभिन्न पक्षों की प्रतिक्रिया के आधार पर अक्टूबर 2017 में इसमें कटौती की थी. जन धन अकाउंट्स, बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट्स (बीएसबीडी), पेंशनरों के अकाउंट्स, सरकारी योजना का लाभ पाने वालों के अकाउंट्स और नाबालिगों के अकाउंट्स को एएमबी मेंटेन करने की अनिवार्यता से छूट मिली हुई है।.यानी, इनमें मिनिमम बैलेंस नहीं रहने पर जुर्माना नहीं लगाया जा सकता है.

जैकी श्रॉफ की 'शून्यता' ने अमेरिका में अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार जीता

अभिनेता जैकी श्रॉफ की लघु फिल्म 'शून्यता' को अमेरिका के लॉस एंजेलिस में बेस्ट ऑफ इंडिया शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल में पुरस्कार से नवाजा गया. चिंतन सारदा निर्देशित 22 मिनट की इस फिल्म को हजारों प्रविष्टियों में से शीर्ष छह में चुना गया और यह लॉस एंजेलिस के एक थिएटर में एक सप्ताह तक टिकट इवेंट में दिखाई गई. इसके बाद निर्णायकों ने इसे बेस्ट फिल्म के रूप में चुना।पुरस्कार समारोह 3 मार्च को मैक सेनेट स्टूडियो में आयोजित किया गया. इनाम की राशि में 1,000 डॉलर नकद शामिल थे.

सारदा ने कहा, "इस फिल्म समारोह का हिस्सा बनना सम्मान की बात थी. जैकी सर और हमारे सभी प्रतिभाशाली कलाकारों ने इस फिल्म को बनाया और मैं उनका बहुत आभारी हूं." उन्होंने कहा, "हम इस पुरस्कार से बहुत खुश हैं कि फिल्म पिछले कुछ महीनों में प्रशंसा प्राप्त करने में कामयाब रही. यह कहीं ना कहीं हमें दिखाता है कि दर्शकों से जुड़ने का हमारा प्रयास काफी हद तक विस्तारित हो गया है." इस फिल्म की शूटिंग ज्यादातर रात में हुई. यह सारदा और सुनील खेडेकर द्वारा निर्मित है.

जीएसटी विश्व में सबसे जटिल और दूसरा सबसे अधिक टैक्स रेट है : विश्व बैंक

नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा पिछले साल 1 जुलाई को लागू किया गया वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) दुनिया के 115 देशों में सबसे जटिल और दूसरा सबसे अधिक टैक्स रेट वाला है. यह बात विश्व बैंक ने अपनी ‘इंडिया डेवलपमेंट अपडेट’ रिपोर्ट में कही है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया के 49 देशों में जीएसटी की एक दर है, जबकि 28 देश ऐसे हैं जहां जीएसटी की दो दरें प्रचलित हैं. विश्व बैंक ने भारत को जीएसटी के मामले में पाकिस्तान और घाना की श्रेणी में रखा है. रिपोर्ट में कहा गया भारत में टैक्स की भारत में जीएसटी की उच्चतम दर 28 फीसद की है जो करीब 115 देशों के मुकाबले दूसरी उच्चतम कर दर है और एशिया में सबसे ज्यादा है. वर्तमान में भारत में जीएसटी की दरें 0, 5%, 12%, 18% और 28 प्रतिशत हैं.

सोना पर 3 फीसदी जीएसटी तो कीमती पत्थरों पर 0.25 फीसदी के दर से टैक्‍स लगाया गया है. साथ ही शराब, पेट्रोलियम उत्पाद और रियल एस्टेट पर लगने वाला स्टाम्प ड्यूटी और बिजली के बिल को जीएसटी से बाहर रखा गया है. वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया के 49 देशों में जीएसटी में एक स्लैब है, जबकि 28 देशों में दो स्लैब हैं. जीएसटी के चार या इससे अधिक स्लैब का इस्तेमाल करने वाले देशों में इटली, लक्समबर्ग, पाकिस्तान और घाना शामिल हैं.

वर्ल्ड बैंक ने अपनी रिपोर्ट में जीएसटी के बाद टैक्स रिफंड की धीमी रफ्तार पर भी चिंता जताई है. साल 2017-18 के लिए केंद्र सरकार ने जीएसटी कलेक्शन का लक्ष्य 91,000 करोड़ रुपये रखा था लेकिन कलेक्शन इससे कम रहा. हालांकि, रिपोर्ट में आने वाले दिनों में भारत में जीएसटी के हालात में सुधार की संभावना जताई गई है. रिपोर्ट में बताया गया है कि टैक्स स्लैब की संख्या कम करने और कानूनी प्रावधानों को आसान करने से जीएसटी ज्यादा प्रभावी और असरदार होगा.

मॉन्ट्रियल उत्सव में भारतीय फिल्म 'हलका' ने जीता पुरस्कार

भारतीय फिल्मकार नील माधव पंडा की फिल्म 'हल्का' जिसका 'फेस्टिवल इंटरनेशनल यू फिल्म पोह एन्फांत्स डी मॉन्ट्रियल' (एफआईएफईएम) में वल्र्ड प्रीमियर हुआ था, उसने फिल्म महोत्सव में ग्रैंड प्रिक्स डी मॉन्ट्रियल पुरस्कार जीता. महोत्सव में 'हल्का' को आधिकारिक प्रतियोगिता में विभिन्न देशों की सात अंतर्राष्ट्रीय बाल फिल्मों के बीच चुना गया.

पंडा ने एक बयान में कहा, "यह बहुत सम्मान की बात है कि 'हल्का' ने वर्ल्ड प्रीमियर स्क्रीनिंग में शीर्ष पुरस्कार जीता. फिल्म को पहले ही छह अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सवों में आमंत्रित किया जा चुका है. फिल्म झुग्गी में रहने वाले एक बच्चे के साहस, महत्वाकांक्षाओं और सपनों के बारे में है. फिल्म में रणवीर शौरी और पाओली दाम महत्वपूर्ण भूमिकाओं में हैं. महोत्सव के निदेशक जो-एन ब्लॉइन ने कहा कि इस फिल्म ने जूरी सदस्यों के दिलों को छू लिया.

15 March 2018

भारत ने मॉरीशस के लिए 10 करोड़ डॉलर की ऋण सुविधा की घोषणा की

भारत ने मॉरीशस द्वारा रक्षा खरीद किए जाने के मकसद से10 करोड़ डॉलर की नयी ऋण सुविधा की घोषणा की. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मॉरीशस की यात्रा के दूसरे दिन दोनों देशों ने कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए. कोविंद की मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ के साथ प्रतिनिधि स्तर की बातचीत के बाद समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए. राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, ‘‘ भारत और मॉरीशसकी हिंद महासागर में समान सुरक्षा चिंताएं हैं. मैं यह घोषणा करके खुश हूं कि भारत मॉरीशस को ऋण सुविधा के तहत बहुद्देशीय गश्ती पोत की आपूर्ति करेगा.' दोनों देशों के बीच कई दूसरे समझौतों/ सहमति ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए है. इनमें बिहार नालंदा विश्वविद्यालय और मॉरीशस के बीच सहयोग स्थापित करने, मॉरीशस विश्वविद्यालय में आयुर्वेद पीठ की स्थापना से संबंधित सहमति पत्र भी शामिल हैं. मॉरीशस की राष्ट्रपति अमीना गुरिब फाकिम ने राष्ट्रपति कोविंद के सम्मान में दोपहर के भोज का आयोजन किया था. कोविंद ने मॉरीशस को स्वतंत्रता की 50 वीं वर्षगांठ की बधाई भी दी.

बता दे की भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपनी पांच दिन की विदेश यात्रा पर मॉरीशस गए है. राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी सविता कोविंद भी विदेश दौरे पर गई हुई है. एयरपोर्ट पर भारतीय राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की अगवानी के लिए मॉरीशस के प्रधानमंत्री जुगनॉथ भी मौजूद रहे. मॉरीशस के प्रधानमंत्री जुगनॉथ ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उनकी पत्नी का हवाई अड्डे पर शानदार स्वागत किया. आपको बता दे कि, भारतीय राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मॉरीशस की आजादी के 50 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह में बतौर मुख्‍य अतिथि शिरकत करेंगे. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की यह विदेश यात्रा कई मायनो में ख़ास है. रामनाथ कोविंद ने इस विदेश यात्रा से पूर्व गत वर्ष राष्ट्रपति का पदभार संभालने के बाद इथियोपिया व जिबूती की यात्रा भी की थी. मॉरीशस की आजादी के समारोह में शामिल होने के साथ ही कोविंद मॉरिशस में बन रहे विश्व हिंदी सचिवालय का भी उद्घाटन करेंगे व एक ईएनटी अस्पताल एवं सामाजिक आवास परियोजनाओं की आधारशिला भी रखेंगे.

आईसीआईसीआई बैंक ने देश की पहला ऑनलाइन एवं इंस्टैंट ओवरड्राफ्ट सुविधा लॉन्च की

समेकित परिसंपत्तियों की दृष्टि से भारत के निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक, आईसीआईसीआई बैंक ने एमएसएमई ग्राहकों (सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों) के लिए इंस्टैंट ओवरड्राफ्ट सुविधा लॉन्च की. इसकी प्रक्रिया पूर्णतः ऑनलाइन और कागजी कार्रवाई-रहित है. इसे ‘इंस्टाओडी’ नाम दिया गया है. भारतीय बैंकिंग उद्योग की अपने तरह की इस पहली पेशकश के जरिए बैंक के लाखों, पूर्व-पात्रता हासिल (प्री-क्वालिफाइड) चालू खाताधारक ग्राहक, बिना शाखा गये और बिना भौतिक रूप में कोई कागजी दस्तावेज जमा किये ओवरड्राफ्ट की सुविधा हासिल कर सकते हैं. यह सुविधा ग्राहकों की सहूलियत को काफी बढ़ा देती है, चूंकि वे बैंक के इंटरनेट व मोबाइल बैंकिंग ऐप्प का उपयोग कर किसी भी समय, कहीं भी एक वर्ष के लिए 15 लाख रु. तक की ओवरड्राफ्ट की सुविधा हासिल कर सकते हैं. आवेदन प्रक्रिया में सत्यापन का एक और स्तर शामिल किया गया है, ताकि प्रक्रिया की सुरक्षा को मजबूत बनाया जा सके.

आईसीआईसीआई बैंक शीघ्र ही अन्य बैंकों के एमएसएमई ग्राहकों के लिए भी ओवरड्राफ्ट की ऑनलाइन स्वीकृति की सुविधा उपलब्ध करायेगा. इस पहल के बारे में, आईसीआईसीआई बैंक के कार्यकारी निदेशक, अनूप बागची ने कहा, ‘‘आईसीआईसीआई बैंक ‘रेडी फॉर यू, रेडी फॉर टुमॉरो’ (आपके लिए तैयार, कल के लिए तैयार) की फिलॉसफी में विश्वास रखता है. यहां हम अपने ग्राहकों को अधिक से अधिक सुविधा के साथ तीव्रतम गति से खोजपरक उत्पाद एवं सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए वचनबद्ध हैं. ‘इंस्टाओडी’ को शुरू किया जाना इसी सोच का परिणाम है. हमें विश्वास है कि अपनी तरहे कि इस एक अलग पेशकश से हमारे ग्राहकों को अनूठा अनुभव प्राप्त होगा. भारतीय अर्थव्यवस्था में उछाल को देखते हुए, ओवरड्राफ्ट की यह सुविधा एमएसएमई कंपनियों को आसानी से अपना व्यवसाय बढ़ाने में मदद करेगी., इस सुविधा को शुरू किये जाने के महज कुछ दिनों के भीतर ही हमें उत्साहजनक प्रतिक्रिया देखने को मिली है. हमारी योजना दूसरे बैंकों के एमएसएमई ग्राहकों के लिए भी ओवरड्राफ्ट की ऑनलाइन स्वीकृति की सुविधा लाने की है.’’

आवेदन करने के लिए, ग्राहक अपने कॉर्पोरेट इंटरनेट बैंकिंग (सीआईबी) खाते या व्यवसायों के लिए आईबिज मोबाइल एप्लिकेशन के जरिए या सीधे बैंक की वेबसाइट पर जाकर लॉग-इन कर सकते हैं, जहां उन्हें ओवरड्राफ्ट सुविधा हासिल करने का विकल्प दिखाई देगा. वे आवश्यक सीमा को सेलेक्ट कर सकते हैं, पहले से भरे हुए व्यक्तिगत जानकारी पृष्ठ पर अपने ब्यौरों की पुष्टि कर सकते हैं और आवेदन को जमा कर सकते हैं. इसके साथ, ग्राहक तत्काल ओवरड्राफ्ट का उपयोग करना शुरू कर सकते हैं. ग्राहक द्वारा इन प्रक्रिया को कुछ मिनटों में ही आसानी से पूरा किया जा सकता है. ओवरड्राफ्ट सुविधा को चुकाने के ट्रैक रिकॉर्ड के अनुसार, ओवरड्राफ्ट को वार्षिक आधार पर रिन्यू किया जा सकता है. यह पहल, ऋण एवं निवेश जगत में ‘तुरंत’ डिजिटल सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए बैंक द्वारा शुरू की गई विभिन्न पहलों का एक हिस्सा है. इन सेवाओं में देश का पहला इंस्टैंट क्रेडिट कार्ड, एक प्रमुख भुगतान प्लेटफॉर्म के साथ इंस्टैंट स्मॉल टिकट डिजिटल ऋण एवं पब्लिक प्रोविडेंट फंड को तुरंत खोलने की सुविधा शामिल हैं. बैंक ने एटीएम के जरिए व्यक्तिगत ऋणों का तुरंत संवितरण और नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) के लिए डिजिटल पंजीकरण भी शुरू किया.

महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का 76 वर्ष की उम्र में निधन

व्हीलचेयर पर बैठे-बैठे ब्रह्मांड की जटिल गुत्थियां सुलझाने, ब्लैक होल और सापेक्षता के सिद्धांत के क्षेत्र में अपने अनुसंधान से महान योगदान देने वाले भौतिकीविद और ब्रह्मांड विज्ञानी स्टीफन हॉकिंग का निधन हो गया. कैंब्रिज विश्वविद्यालय के निकट अपने घर में 76 वर्षीय हॉकिंग ने अंतिम सांस ली. इसी जगह उन्होंने ब्लैक होल और सापेक्षता पर अपना अनूठा काम किया. हॉकिंग ने 1970 में रॉजर पेनरोज के साथ मिलकर पूरे ब्रह्मांड पर ब्लैक होल के गणित को लागू किया और दिखाया कि कैसे हमारे निकट अतीत में एक सिंगुलैरिटी मौजूद थी. ब्रह्मांड के निर्माण का बिग-बैंग सिद्धांत यही है. हॉकिंग को असली प्रसिद्धी उनकी पुस्तक ‘ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’ से मिली. पुस्तक का पहला संस्करण 1988 में प्रकाशित हुआ और लगातार 237 सप्ताह तक संडे टाइम्स का बेस्ट सेलर रहने के कारण इसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्डस में शामिल किया गया. इस पुस्तक की एक करोड़ प्रति बिकी हैं और 40 अलग-अलग भाषाओं में इसका अनुवाद हुआ है.

हॉकिंग का जन्म इंग्लैंड के ऑक्सफोर्ड में आठ जनवरी, 1942 को हुआ. इसी दिन महान खगोलविद गैलीलियो गैलीली की 300वीं पुण्यतिथि थी. हॉकिंग को स्नायु संबंधी बीमारी (एम्योट्रॉपिक लेटरल स्लेरोसिस) थी, जिसमें व्यक्ति कुछ ही वर्ष जीवित रह पाता है. उन्हें यह बीमारी 21 वर्ष की आयु में 1963 में हुई और शुरूआत में डॉक्टरों ने कहा कि वह कुछ ही वर्ष जीवित रह सकेंगे. जुझारू हॉकिंग अपनी बीमारी का पता लगने के बाद कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में पढ़ने चले गये और अल्बर्ट आइंस्टीन के बाद वह दुनिया के सबसे महान भौतिकीविद बने. इस बीमारी के कारण हॉकिंग का शरीर लकवाग्रस्त हो गया था और उनका शरीर पूरी तरह से व्हीलचेयर पर सिमट कर रह गया, लेकिन उनका दिमाग ब्रह्मांड की गुत्थियां सुलझाने में व्यस्त रहता. यह महान वैज्ञानिक अपनी बीमारी के कारण सिर्फ एक हाथ की कुछ उंगलियां ही हिला सकते थे, बाकी का पूरा शरीर हिल नहीं पाता था. वह अपने रोजमर्रा के कार्यों नहाने, खाने, कपड़े पहनने और यहां तक कि बोलने के लिए भी लोगों और तकनीक पर निर्भर थे. इन तमाम कठिनाई के बावजूद अपनी जिजिविषा और बोलने के अनोखे अंदाज ने हॉकिंग को दुनिया भर के लिए प्रेरणा का स्रोत बना दिया.
 
हॉकिंग को अल्बर्ट आइंस्टिन पुरस्कार, वुल्फ पुरस्कार, कोप्ले मेडल और फंडामेंटल फिजिक्स पुरस्कार से नवाजा गया. हालांकि इस महान वैज्ञानिक को नोबेल सम्मान प्राप्त नहीं हुआ. ब्रिटिश नागरिक होने के बावजूद तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने वर्ष 2009 में हॉकिंग को अमेरिका के सर्वश्रेष्ठ नागरिक सम्मान ‘प्रेसिडेंशियल मेडल ऑफ फ्रीडम’ से नवाजा. दुनिया के सबसे प्रसिद्ध भौतिकीविद और ब्रह्मांड विज्ञानी पर 2014 में ‘‘थ्योरी ऑफ एवरीथिंग’’ नामक फिल्म भी बन चुकी है. हॉकिंग ने एक बार कहा था, ''मैं दुनिया को दिखाना चाहता हूं कि शारीरिक विकलांगता लोगों को तब तक अक्षम नहीं बना सकती, जब तक वह खुद को ऐसा ना मान लें.’’ 
 

विद्या देवी भंडारी दूसरी बार चुनी गयीं नेपाल की राष्ट्रपति

नेपाल की पहली महिला राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी आज दूसरी बार भारी मतों से इस पद के लिए निर्वाचित हुईं. वाम गठबंधन की उम्मीदवार निवर्तमान राष्ट्रपति भंडारी ने नेपाली कांग्रेस की उम्मीदवार कुमार लक्ष्मी राय को हराया. भंडारी ने दो- तिहाई से ज्यादा बहुमत हासिल किया. चुनाव आयोग के प्रवक्ता नवराज ढाकल ने कहा कि भंडारी को 39275 वोट मिले जबकि नेपाली कांग्रेस की उम्मीदवार राय को 11730 वोट प्राप्त हुए. भंडारी (56) का समर्थन सत्तारुढ़ सीपीएन- यूएमएल और सीपीएन ( माओवादी सेंटर) वाम गठबंधन, संघीय समाजवादी फोरम- नेपाल और अन्य छोटे दलों ने किया. 

वह 2015 में नेपाल की पहली महिला राष्ट्रपति बनी थीं. भंडारी 1994 और 1999 के संसदीय चुनावों में भी निर्वाचित हुई थीं. संघीय संसद के 148 सदस्यों और प्रांतीय असेंबलियों के 243 सदस्यों के साथ सीपीएन- यूएमएल के कुल 23356 वोट हैं. नेपाली कांग्रेस के संसद में 76 और प्रांतीय विधानसभाओं में 113 सदस्य हैं और इस प्रकार उसके कुल 11428 वोट हैं. निर्वाचक मंडल में संसद और प्रांतीय एसेंबलियों के सदस्य शामिल होते हैं, जो राष्ट्रपति चुनावों में वोट डालते हैं.

फिल्म अभिनेता नरेन्द्र झा का हृदयाघात से निधन

फिल्म और टेलिविजन अभिनेता नरेंद्र झा का निधन हृदयाघात से उनके वाडा स्थित फार्महाउस में हो गया. वह 'हैदर’, 'रईस’ और‘ काबिल’ जैसी फिल्मों में किए गए अपने अभिनय क्षमता के लिए जान जाते थे. उनकी उम्र 55 साल थी. बुधवार तड़के जब वह अपने फार्महाउस में थे तब उन्हें हृदयघात आया था. अपने स्वास्थ्य संबंधी समस्या की वजह से वह यहां रह रहे थे. झा ने टीवी पर अपने करियर की शुरूआत‘ शांति', 'इतिहास’ और 'कैप्टन हाउस’ जैसे शो से की थी. अभिनेता भले ही फिल्मों की दुनिया की तरफ रूख कर गए हों लेकिन उन्होने छोटे पर्दे पर भी अपना पांव जमाए हुए रखा. उन्होंने श्याम बेनेगल के 'संविधान’ में काम करने के साथ ही 'बेगूसराय’ और 'छूना है आसमान’ जैसे धारावाहिकों में काम किया.
 
झा ने विशाल भारद्वाज की फिल्म‘ हैदर’ में अभिनेता शाहिद कपूर के ऑनस्क्रीन पिता और‘ रईस’ में मुसा भाई का किरदार निभाया था. वह प्रभास अभिनित फिल्म 'साहो’ में भी आने वाले थे. अभिनेता की अचानक हुई इस मौत पर उनके साथ काम करने वाले और प्रशंसक अपनी संवेदनाएं प्रकट कर रहे हैं. 'रईस’ फिल्म का निर्देशन करने वाले राहुल ढोलकिया ने ट्विटर पर लिखा, 'दुखद, मुसा भाई नहीं रहे? नरेंद्र झा की आत्मा को शांति मिले.” अभिनेता सोनू सूद ने ट्वीट किया, 'यह बहुत दुखद है. वह एक प्यारे इंसान थे. उनकी आत्मा को शांति मिले.' निर्देशक हंसल मेहता ने भी ट्वीट करके दुख जताया. प्रोड्यूसर एकता कपूर ने भी अभिनेता की मौत पर दुख प्रकट किया है.

माइक पांपियो बने अमेरिका के नए विदेश मंत्री, जीना हास्पेल बनीं पहली महिला सीआइए प्रमुख

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को बर्खास्त कर दिया. उनके स्थान पर सीआइए के निदेशक माइक पांपियो को नया विदेश मंत्री बनाया गया है. सीआइए में पांपियो की जगह जीना हास्पेल ने ली है. वह पहले इसी एजेंसी में उपनिदेशक थीं. हास्पेल इस पद को संभालने वाली पहली महिला हैं. ट्रंप ने ये अप्रत्याशित घोषणाएं तब कीं, जब टिलरसन अफ्रीकी दौरे पर गए हुए हैं. ट्रंप ने कहा, 'सीआइओ माइक पांपियो हमारे नए विदेश मंत्री होंगे. वह शानदार काम करेंगे.' हालांकि अमेरिकी संसद के उच्च सदन सीनेट से नई नियुक्ति की पुष्टि जरूरी होगी. ह्वाइट हाउस से जारी बयान के मुताबिक, ट्रंप ने विश्वास जताया कि इस नाजुक मोड़ पर माइक इस काम के लिए सही व्यक्ति साबित होंगे. उन्होंने कहा, 'माइक दुनिया में अमेरिका के रुख को कायम रखने, हमारे गठबंधन को मजबूत करने, विरोधियों से निपटने और कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण के हमारे कार्यक्रम को जारी रखेंगे.'

ट्रंप ने कहा कि सेना, संसद और सीआइए में उनके अनुभव ने उन्हें नई भूमिका के लिए तैयार किया है. उन्होंने कहा कि माइक और जीना ने करीब एक साल तक साथ काम किया है. ट्रंप ने जीना को सीआइए का सर्वोच्च पद देने को 'ऐतिहासिक और मील का पत्थर' बताया है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने टिलरसन को उनकी सेवाओं के लिए धन्यवाद दिया. एक्सन मोबिल के पूर्व चेयरमैन और सीईओ 65 वर्षीय टिलरसन को पिछले साल एक फरवरी को विदेश मंत्री बनाया गया था.

जीना हास्पेल 1985 से सीआइए से जुड़ीं हैं. उपनिदेशक के पद पर वह पिछले साल फरवरी में आईं. वह अधिकतर समय गुप्त एजेंट की तरह ही काम करती रही हैं. हास्पेल 2002 में थाईलैंड में बदनाम हुई 'ब्लैक साइट' चलाती थीं. वहां अलकायदा के संदिग्ध आतंकी अबु जुबैदा और अल नशीरी को रखा गया था. वहां पूछताछ के दौरान आतंकियों को खूब प्रताडि़त किया जाता था. हास्पेल के कामकाज पर सीनेट की कमेटी ने भी अंगुली उठाई थी.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आईएसीपी के एशिया प्रशांत क्षेत्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने नई दिल्ली में इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ चीफ्स ऑफ पुलिस (IACP) की दो-दिवसीय एशिया प्रशांत क्षेत्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया है. इस सम्‍मेलन का विषय है, ‘2020 में पुलिस चुनौतियां-किस तरह साइबर स्‍पेस अपराध तथा आतंकवाद के प्रति हमारे दृष्टिकोण को आकार दे रहा है, हम इसके अंदर कैसे प्रदर्शन करेंगे और कैसे इसका लाभ उठाएंगे. क्षेत्रीय सम्‍मेलन का आयोजन आईएसीपी के एशिया प्रशांत विश्‍व क्षेत्रीय कार्यालय (एपीडब्‍ल्‍यूआरओ) द्वारा गुप्‍तचर ब्‍यूरो की साझेदारी में किया जा रहा है. एपीडब्‍ल्‍यूआरओ के अध्‍यक्ष के रूप में गुप्‍तचर ब्‍यूरो के निदेशक सम्‍मेलन के मेजबान हैं.

हाल के समय में पुलिस व्‍यवस्‍था के क्षेत्र में साइबर स्‍पेस तथा साइबर टेक्‍नोलॉजी के प्रभाव ने नई चुनौतियों को पेश किया है. इस सम्‍मेलन का मुख्‍य फोकस विभिन्‍न आतंकवादी/संगठित समूहों तथा चरमपंथी तत्‍वों द्वारा घृणित अपराधों और षड़यंत्रों को अंजाम देने के लिए साइबर स्‍पेस और इसकी अग्रणी टेक्‍नोलॉजियों के दोहन में उनकी दिलचस्‍पी पर चर्चा करना है. यह सम्‍मेलन राष्‍ट्रीय और अन्‍तर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के शीर्ष पुलिस अधिकारियों को यह समझने का मंच प्रदान करेगा कि कैसे साइबर स्‍पेस, साइबर अपराध और आतंकवाद की दिशा में हमारे दृष्टिकोण को आकार दे रहा है और अच्‍छी पुलिस व्‍यवस्‍था के लिए कैसे लाभ उठाया जा सके. सम्‍मेलन में एशिया प्रशांत क्षेत्र-अफगानिस्‍तान, ऑस्‍ट्रेलिया, बांग्‍लादेश, कम्‍बोडिया, दुबई, फिजी, म्‍यांमार, मंगोलिया, नेपाल, कोरिया गणराज्‍य, श्रीलंका, ताईवान तथा थाईलैंड- के पुलिस संगठनों के प्रतिनिधियों के अतिरिक्‍त आईएसीपी के अध्‍यक्ष श्री लुईस एम डेकमर, आईएसीपी मुख्‍यालय के वरिष्‍ठ कार्यकारी भाग ले रहे है. भारत से राज्‍यों तथा केन्‍द्र शासित प्रदेशों और केन्‍द्रीय पुलिस संगठनों के 35 से अधिक प्रमुख भी भाग ले रहे है.

आईएसीपी विश्‍व के पुलिस/प्रवर्तन अधिकारियों का सबसे बड़ा संगठन है. कानून लागू करने वाले समुदाय की बदलती आवश्‍यकताओं को पहचानने और उसका समाधान निकालने में आईएसीपी की भूमिका को महत्‍वपूर्ण माना जाता है. आईएसीपी का मुख्‍यालय अमरीका के वर्जिनिया में है. भौगोलिक आधार पर इसके सात विश्‍व क्षेत्रीय कार्यालय है. इसमें एपीडब्‍ल्‍यूआरओ शामिल है. आईएसीपी की वर्ष में एक बार अमरीका में बैठक होती हैं, जिसमें विभिन्‍न विषयों पर पूरे विश्‍व के 15,000 से अधिक पुलिस अधिकारी विचार-विमर्श करते हैं. एशिया प्रशांत विश्‍व क्षेत्रीय कार्यालय (एपीडब्‍ल्‍यूआरओ) की स्‍थापना नई दिल्‍ली में 1994 में की गई थी और गुप्‍तचर ब्‍यूरो के निदेशक को इसका अध्‍यक्ष बनाया गया. पहले आईएसीपी, एपीडब्‍ल्‍यूआरओ के तत्‍वावधान में नई दिल्‍ली में चार सम्‍मेलन – जनवरी 1992 में चौथा आईएसीपी, एशिया प्रशांत क्षेत्रीय सम्‍मेलन, मार्च 2001 में आठवां आईएसीपी, एशियाई कार्यकारी पुलिस सम्‍मेलन, सितम्‍बर 2008 में आतंकवाद पर आईएसीपी संगोष्‍ठी तथा सितम्‍बर 2013 में पुलिस व्‍यवस्‍था पर सोशल मीडिया के प्रभाव पर क्षेत्रीय सम्‍मेलन – आयोजित किये गये. 

13 March 2018

पराग अग्रवाल बने Twitter के नए मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी

माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने पराग अग्रवाल को अपना नया मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी (सीटीओ) नियुक्त किया है. कंपनी ने अपनी वैबसाइट पर इस संबंध में जानकारी दी है. अग्रवाल एडम मेसिंगर का स्थान लेंगे जो 2016 के अंत में कंपनी छोड़ चुके हैं. अग्रवाल आईआईटी बंबई के छात्र रहे हैं और उन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से कंप्यूटर साइंस में पीएचडी की है. अग्रवाल 2011 में ट्विटर से जुड़े थे. तब उन्हें विज्ञापन इंजीनियर की जिम्मेदारी दी गई थी. ट्विटर में आने से पहले वह माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च, याहू रिसर्च और एटीएंडटी लैब्स से जुड़े रहे हैं.

ट्विटर ने इस सप्ताह ऐलान किया था कि वह अपने प्लैटफॉर्म पर 'सामूहिक स्वास्थ्य, खुलापन और सार्वजनिक बातचीत में शिष्टाचार बढ़ाने' के मकसद से समाज विज्ञान का एक निदेशक नियुक्त करना चाहता है.

जीएसटी परिषद ने अप्रैल से ई-वे बिल को मंजूरी दी

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने शनिवार को अंतिम निर्णय लिया है कि एक अप्रैल 2018 से देशभर में अंतर्राज्यीय ई-वे बिल लागू होगा. वित्तमंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को इस बात की जानकारी दी. जीएसटी परिषद की 26 वीं बैठक के बाद जेटली ने कहा, 'अंतर्राज्यीय ई-वे बिल राज्यों के चार समूहों के साथ चरणों में लागू होगा. एक अप्रैल के बाद हर सप्ताह एक के बाद एक समूह इसके अधीन आ जाएगा और अप्रैल के अंत तक पूरे देश में इसे लागू करने का प्रयास किया जाएगा.' जेटली ने यह भी कहा कि परिषद ने रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया के लिए दो वैकल्पिक विधियों पर विचार किया है लेकिन इस संबंध में अब तक कोई ठोस फैसला नहीं लिया गया है. जेटली ने बताया कि रिटर्न दाखिल करने की मौजूदा प्रक्रिया को अगले तीन महीने के लिए बढ़ा दिया गया है. उन्होंने कहा कि मंत्रियों के समूह और सूचना प्रौद्योगिकी विशेषज्ञ आज विमर्श किए गए मॉडल की जांच करेंगे, जिसके बाद अमल में लाने पर निर्णय लिया जाएगा.

इससे पहले 24 फरवरी को बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की अध्यक्षता में मंत्री समूह की बैठक में अंतर्राज्यीय माल ढुलाई के लिए ई-वे बिल एक अप्रैल से अनिवार्य रूप से लागू करने की सिफारिश की गई थी. जीएसटी व्यवस्था के तहत 50,000 रुपये से अधिक मूल्य की वस्तुओं की ढुलाई के लिए ई-वे बिल तैयार करने और उसे मालवाहक वाहन के साथ ले जाने की जरूरत है. रिवर्स चार्ज मेकैनिज्म लागू करने का फैसला भी अगले तीन महीने के लिए टाल दिया गया है. रिवर्स चार्ज मेकैनिज्म के तहत खरीदार को वस्तुओं की खरीद पर जीएसटी अदा करना पड़ता है. यह उस मामले में लागू होता है जहां जीएसटी के तहत पंजीकृत कारोबारी ऐसे आपूर्तिकर्ता से वस्तु खरीदता है जो जीएसटी के तहत पंजीकृत नहीं है.

राष्ट्रपति शी जिनपिंग जीवन-भर चीन के नेता बने रहेंगे, संसद ने लगाई मुहर

चीन की संसद ने राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के लिए महज दो कार्यकाल की अनिवार्यता को आज दो-तिहाई बहुमत से खत्म कर देश के मौजूदा राष्ट्रपति शी चिनपिंग के जीवन भर शीर्ष पद पर आसीन रहने का रास्ता साफ कर दिया है. संविधान संशोधन के बाद 64 वर्षीय शी के जीवन भर चीन का नेता बने रहने के मार्ग का अवरोध समाप्त हो गया है. फिलहाल शी का पांच साल का दूसरा कार्यकाल चल रहा है. गौरतलब है कि पिछली अधिकतम दो कार्यकाल की अनिवार्यता वाली प्रणाली में शी शासन के 10 साल पूरे होने के बाद 2023 में सेवानिवृत्त होते. 

पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष माओ त्से तुंग के बाद पिछले दो दशक से पार्टी के नेता दो कार्यकाल की अनिवार्यता का पालन करते रहे थे ताकि तानाशाही से बचा जा सके और एक दलीय राजनीति वाले देश में सामूहिक नेतृत्व सुनिश्चित किया जा सके. लेकिन संसद में आज संविधान संशोधन पारित होने के साथ ही यह दोनों परंपराएं समाप्त हो गयीं. चीनी संसद नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) के करीब 3,000 सांसदों में से दो-तिहाई ने देश के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति की अधिकतम दो कार्यकाल की अनिवार्यता खत्म करने के कानून को मंजूरी दी.

गौरतलब है कि संसद में मतदान से पहले सत्तारूढ़ चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के शीर्ष संगठन सात सदस्यीय स्थाई समिति ने इस संशोधन को आम सहमति से मंजूरी दी थी. मतदान से पहले एनपीसी के अध्यक्ष झांग देजिआंग ने अपनी कार्य रिपोर्ट में कहा था, ‘‘एनपीसी की स्थाई समिति का प्रत्येक सदस्य संविधान में संशोधन की मंजूरी देता है और उसका समर्थन करता है.'' माओ के बाद शी को देश का सबसे मजबूत नेता माना जाने लगा है क्योंकि वह सीपीसी और सेना दोनों के प्रमुख तथा देश के राष्ट्रपति हैं.

सरकार ने बैंक से 50 करोड़ या अधिक के ऋण पर पासपोर्ट अनिवार्य किया

सरकार ने 50 करोड़ रुपए और उससे अधिक के ऋण लेने के लिए पासपोर्ट का विवरण अनिवार्य कर दिया है ताकि धोखाधड़ी के मामले में एक स्विफ्ट कार्रवाई सुनिश्चित हो और धोखेबाज को देश से भागने से रोका जा सके. वित्तीय सेवा सचिव के मुताबिक, वर्तमान में बैंकों से 50 करोड़ रूपए से अधिक के सभी मौजूदा ऋण लेने वालों के पासपोर्ट के 45 दिनों के भीतर प्राप्त करने के लिए कहा गया है. बैंकों को चपत लगा कर विजय माल्या और नीरव मोदी के देश से भागने के बाद सरकार ने तमाम कदम उठाने शुरू कर दिए हैं.
 
पार्सपोर्ट से संबंधित विवरण बैंकों को समय पर कार्रवाई करने में मदद करेगा और देश से भागने वाले आर्थिक अपराधियों को रोकने के लिए संबंधित अधिकारियों को सूचित करेगा. वित्तीय सेवाओं के सचिव राजीव कुमार ने कहा, यह साफ-सुधरी और उत्तरदायी बैंकिंग व्यवस्था की ओर अगला कदम है. 50 करोड़ या उससे अधिक के ऋण के लिए पासपोर्ट से जुड़े विवरण देना जरूरी है. धोखाधड़ी के मामले में त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया गया है. बैंकों को 50 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज लेने वाले मौजूदा लेनदारों का पासपोर्ट विवरण 45 दिन के भीतर एकत्र करने के लिए कहा गया है.

बता दें कि नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, विजय माल्या और जतिन मेहता जैसे बड़े डिफॉल्टर बैंकों से हजारों करोड़ रुपये का कर्ज लेकर फरार हो गए हैं. नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पर सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक के साथ 12,700 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है. पिछले हफ्ते केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 'भगोड़ा आर्थिक अपराधी विधेयक' को मंजूरी दी थी. बैंकिंग व्यवस्था को साफ-सुथरा बनाने के अभियान के हिस्से के रूप में वित्त मंत्रालय ने संभावित धोखाधड़ी का पता लगाने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को 50 करोड़ से अधिक के एनपीए खातों की जांच करने के आदेश और मामले की जानकारी सीबीआई को देने के निर्देश दिए हैं.

एशियाई विकास बैंक ने सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सौर समझौते पर हस्ताक्षर किये

एशियाई विकास बैंक(एडीबी) और अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन(आईएसए) ने एशिया- प्रशांत क्षेत्र में सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए एक सहयोगी व्यवस्था बनाने के समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं. इसके तहत सौर ऊर्जा उत्पादन, सौर आधारित छोटे ग्रिड और एकीकृत सौर ऊर्जा को ग्रिड में पहुंचाने के लिए पारेषण प्रणाली इत्यादि के क्षेत्र में सहयोग किया जाएगा. एडीबी ने एक बयान में बताया कि वह और आईएसए जानकारी, ज्ञान को साझा करने और सौर ऊर्जा के प्रसार के लिए तकनीकी खाका विकसित करने में भी सहयोग करेंगे.

सौर ऊर्जा व्यवस्थाओं को लागू करने के लिए दोनों मिलकर वित्तीय संस्थान भी विकसित करेंगे. आईएसए के अंतरिम महानिदेशक उपेंद्र त्रिपाठी और एडीबी के उपाध्यक्ष(बौद्धिक प्रबंधन) बंबांग सुसनतोनो ने वित्त मंत्री अरुण जेटली की मौजूदगी में इस समझौते पर हस्ताक्षर किए. एडीबी एक बहुपक्षीय ऋण देने वाली संस्था है. वहीं आईएसए सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए एक अंतर सरकारी बहुराष्ट्रीय संधि है जिसका गठन जलवायु परिवर्तन पर पेरिस उद्घोषणा के बाद किया गया था. इसका मुख्यालय गुड़गांव में है.

12 March 2018

भारत ने समुद्र में 16 अलग-अलग देशों की नौसेनाओं के साथ शुरू किया नौसैनिक अभ्यास

अंडमान निकोबार द्वीप में 16 अलग-अलग देशों की नौसेनाओं के साथ भारतीय नौसेना ने 8 दिन का अभ्यास शुरू कर दिया है जो 6 से 13 मार्च तक चलेगा. बता दें की ‘फ्रेंड्शिप अक्रॉस द सी’ की थीम के साथ भारतीय नौसेना ‘मिलन 2018’ नामक अभ्यास कर रही है. गौरतलब है कि यह अभ्यास उस वक्त में किया जा रहा है जब एक तरफ चीन हिंद महासागर में प्रभाव बढ़ाने की कोशिश कर रहा है और दूसरी तरफ जहाँ मालदीव और श्रीलंका में इमरजेंसी के हालात बने हुए हैं.

इससे पहले फरवरी में चीन के 11 युद्धक जहाजों ने पूर्वी हिन्द महासागर में प्रवेश किया था. इस दौरान भारतीय नौसेना और चीनी नौसेना के बीच की दूरी काफी कम रह गई थी. यह एक्टिविटी ऐसे वक्त में सामने आई जब मालदीव राजनीतिक संकट का सामना कर रहा है. तबाही मचाने वाले चीनी जहाज सपोर्ट टैंकर्स के साथ हिन्द महासागर में प्रवेश किए थे. रिपोर्ट में कहा गया था कि चीन के नौसेना पोतों में एक ऐसा पोत भी शामिल है जिस पर विमान, हेलिकॉप्टर उतर सकते हैं. वहीँ भारतीय नौसेना के अधिकारियों के मुताबिक, आठ दिनों तक चलने वाले इस अभ्यास में 28 पोत हिस्सा ले रहे हैं, जिसमें 17 पोत ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमार, सिंगापुर, श्रीलंका और थाईलैंड के हैं.

जानकारी के लिए बता दें, ‘मिलन अभ्यास’ की शुरुआत वर्ष 1995 में हुई थी और तब, सिर्फ चार देश (इंडोनेशिया, सिंगापुर, श्रीलंका और थाईलैंड) इसमें शामिल हुए थे. इस अभ्यास को शुरु करने का मकसद, पूर्वी एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया की नौसेनाओं के साथ दोस्ताना संबंधों को बढ़ावा देना था. लेकिन, बदलते वक्त के साथ जैसे-जैसे समंदर में भारतीय नौसेना की ताकत बढ़ी, वैसे-वैसे अन्य देशों की नौसेनाएं, समंदर में होने वाली इस मैराथन मीटिंग और अपनी ताक़त के प्रदर्शन के लिए, भारत के साथ आती चली गईं. यानी चार देशों के साथ शुरू हुआ ‘मिलन अभ्यास’ आज 16 देशों के साथ और भी ज़्यादा मज़बूत हो गया है.