मासिक करेंट अफेयर्स

29 August 2018

भारतीय महिला क्रिकेटर झूलन गोस्वामी ने टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने टी20 अंतरराष्ट्रीय से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया है. इस 35 वर्षीय खिलाड़ी ने भारत के लिए 68 टी20 मैचों में शिरकत की. उन्होंने 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ डर्बी में टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत की थी. तब से लगातार वे इस प्रारूप में टीम के लिए खेलती रही हैं. झूलन गोस्वामी ने 68 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भारत के लिए 56 विकेट चटकाए हैं जिसमें 11 रन देकर 5 विकेट उनका श्रेष्ठ प्रदर्शन है. इसके अलावा उन्होंने 405 रन भी बनाए हैं, इसमें नाबाद 37 रन उनका उच्च स्कोर है.

गोस्वामी ने भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण जनवरी 2002 में किया था. उन्हें भारत के लिए खेलते हुए 16 साल से भी ज्यादा का समय हो गया है. इस दौरान उन्होंने एक महिला टेस्ट गेंदबाज होने के नाते युवा महिलाओं के लिए कई उदाहरण पेश किये हैं. वन-डे क्रिकेट में 200 विकेट लेने वाली वह विश्व की पहली महिला गेंदबाज हैं. इसके अलावा एक समय वे महिला क्रिकेट की सबसे तेज गेंद फेंकने वाली गेंदबाज भी थी. टीम में वे युवा खिलाड़ियों के लिए एक आदर्श का काम करती हैं और सभी को कुछ सीखने के लिए प्रेरित करती रहती हैं. महिला क्रिकेट में उन्हें महान खिलाड़ियों में गिना जाता है.

झूलन गोस्वामी का जन्म 25 नवम्बर 1982 को नादिया,पश्चिम बंगाल में हुआ था. वे एक भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी है. उन्होंने 15 साल की उम्र से ही क्रिकेट खेलना शुरू किया था. झूलन गोस्वामी एक हरफनमौला खिलाड़ी है तथा ये घरेलू क्रिकेट बंगाल के लिए खेलती है. उन्होंने अपना पहला वनडे मैच में इंग्लैंड के खिलाफ वर्ष 2002 में खेला था. झूलन गोस्वामी वर्ष 2007 में आईसीसी क्रिकेटर 'ऑफ द ईयर' चुनी गई थीं. झूलन को प्यार से कोजी के नाम से भी जाना जाता है. झूलन मिताली राज से पहले भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान भी रह चुकी है. वे एम ए चिदम्बरम ट्रॉफी के लिए सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेट खिलाड़ी का भी खिताब जीत चुकी हैं. झूलन गोस्वामी को वर्ष 2010 में अर्जुन पुरस्कार और वर्ष 2012 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था.

No comments:

Post a Comment