मासिक करेंट अफेयर्स

23 August 2018

एशियाई खेल 2018: महिला निशानेबाज राही सरनोबत ने जीता गोल्ड, पदक तालिका में भारत सातवें स्थान पर

भारत की युवा महिला निशानेबाज राही जीवन सारनाबोत ने यहां जारी 18वें एशियाई खेलों के चौथे दिन बुधवार (22 अगस्त) को 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया. राही सरनोबत एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला निशानेबाज बन गईं. उन्होंने यहां महिलाओं की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में दो बार शूट ऑफ से गुजरने के बाद यह उपलब्धि हासिल की. इस 27 वर्षीय निशानेबाज ने जकाबारिंग शूटिंग रेंज में खेलों के नए रिकॉर्ड के साथ सोने का तमगा जीता. राही और थाईलैंड की नपासवान यांगपैबून दोनों का स्कोर समान 34 होने पर शूट ऑफ का सहारा लिया गया. पहले शूट ऑफ में राही और यांगपैबून ने पांच में से चार शॉट लगाए. इसके बाद दूसरा शूट ऑफ हुआ जिसमें भारतीय निशानेबाज जीत दर्ज करने में सफल रही. 

युवा मनु भाकर को हालांकि फाइनल में निराशा झेलनी पड़ी. उन्होंने क्वालीफिकेशन में 593 के रिकार्ड स्कोर के साथ फाइनल में जगह बनायी थी. लेकिन यह 16 वर्षीय निशानेबाज आखिर में छठे स्थान पर रही. भारत के खाते में चार स्वर्ण, तीन रजत और आठ कांस्य पदक हैं. यह मौजूदा गेम्स में भारत का चौथा गोल्ड है. भारत ने दो गोल्ड शूटिंग और दो गोल्ड कुश्ती में जीते हैं. राही का इस स्पर्धा में पहला स्वर्ण पदक है. दक्षिण कोरिया की किम मिनजुंग तीसरे स्थान पर रहकर कांस्य जीतने में सफल रहीं.

बता दें कि 18वें एशियाई खेलों का तीसरा दिन (21 अगस्त) भारत के लिए निशानेबाजी में बेहद शानदार रहा. भारत ने इस दिन एक स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक के साथ कुल तीन पदक अपने नाम किए. मेरठ के रहने वाले महज 16 साल के सौरभ चौधरी ने मंगलवार को अपने पहले ही एशियाई खेलों में सोने पर निशाना लगा भारत को दिन की स्वर्णिम शुरुआत दी. सौरभ ने 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता. इसी स्पर्धा में अभिषेक वर्मा ने कांस्य पदक पर कब्जा जमाया. भारत के अनुभवी निशानेबाज और पिछले तीन एशियाई खेलों में पदक अपनेनाम कर चुके संजीव राजपूत ने पुरुषों की 50 मीटर राइफल तीन पोजीशन स्पर्धा में रजत पदक अपनी झोली में डाला. भारत ने मंगलवार को शूटिंग में एक गोल्ड, एक सिल्वर और एक ब्रॉन्ज मेडल जीते.

एशियाई खेलों को एशियाड के नाम से भी जाना जाता है. यह प्रत्येक चार वर्ष बाद आयोजित होने वाली बहु-खेल प्रतियोगिता है जिसमें केवल एशिया के विभिन्न देशों के खिलाड़ी भाग लेते हैं. इन खेलों का नियामन एशियाई ओलम्पिक परिषद द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय ओलम्पिक परिषद के पर्यवेक्षण में किया जाता है. प्रत्येक प्रतियोगिता में प्रथम स्थान के लिए स्वर्ण, दूसरे के लिए रजत और तीसरे के लिए कांस्य पदक दिए जाते हैं. प्रथम एशियाई खेलों का आयोजन दिल्ली, भारत में वर्ष 1951 में किया गया था, जहां इस मशाल को सबसे पहली बार प्रज्जवलित किया गया था. दूसरी बार भारत ने वर्ष 1982 में पुनः इन खेलों की मेज़बानी की.

No comments:

Post a Comment