मासिक करेंट अफेयर्स

23 August 2018

तिरुवनंतपुरम में खुलेगा चक्रवात चेतावनी केंद्र

केरल और कर्नाटक में चक्रवाती तूफान और अन्य मौसम संबंधी गंभीर गतिविधियों को देखते हुए केंद्र सरकार ने एक महीने के भीतर तिरुवनंतपुरम में चक्रवात चेतावनी केंद्र स्थापित करने की पहल की है. पृथ्वी विज्ञान मंत्री डा. हर्षवर्धन ने कहा कि दोनों राज्यों के तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान और अन्य गंभीर किस्म की मौसम संबंधी चेतावनियों को देखते हुए मौसम विभाग ने एक महीने के भीतर यह केंद्र स्थापित करने की योजना बनाई है. उल्लेखनीय है कि मौसम विभाग द्वारा संचालित चक्रवात चेतावनी केंद्र फिलहाल चेन्नई, विशाखापत्तनम, भुवनेश्वर, कोलकाता, अहमदाबाद और मुंबई में कार्यरत हैं. उन्होंने बताया कि केरल में मौसम के पूर्वानुमान की मूलभूत सुविधायें मजबूत करने के लिए केंद्र सरकार राज्य में एक और ‘सी-बेंड डॉप्लर वेदर राडार’ स्थापित करेगी. यह राडार अगले साल 2019 तक मेंगलुरू में स्थापित कर दिया जाएगा. इसकी मदद से केरल के उत्तरी इलाकों को सटीक पूर्वानुमान के दायरे में शामिल किया जा सकेगा.

फिलहाल केरल के कोच्चि और तिरुवनंतपुरम में यह राडार कार्यरत है. राज्य में तीन सी-बेंड डॉप्लर राडार होने के बाद समूचा केरल सटीक पूर्वानुमान एवं चेतावनी तंत्र के दायरे में आ जाएगा. मंत्रालय की ओर से जारी आधिकारिक बयान के अनुसार केंद्र सरकार केरल और कर्नाटक के तटीय इलाकों में नियमित मौसम चेतावनी के अलावा मछुआरों के लिए विशेष बुलेटिन जारी करने सहित अन्य कारगर कदम उठाएगी. साथ ही केरल में मौसम संबंधी पूर्वानुमान प्रणाली की मौजूदा व्यवस्था को और अधिक कारगर बनाया जाएगा. विभाग ने मौसम के पूर्वानुमान की विश्वस्तरीय प्रणाली को विकसित करते हुए मौसम संबंधी आपदा की चेतावनी को 15 से 20 दिन पहले तक जारी करने की व्यवस्था लागू की है.

इसमें मौसम संबंधी गतिविधियों की अति सक्रियता को देखते हुए ‘नाउकास्ट’ प्रणाली के माध्यम से आपदा से दो या तीन घंटे पहले तक चेतावनी जारी की जा सकती है. इसके अलावा मौसम विभाग अगले महीने से सभी राज्यों के आपदा प्रबंधन प्राधिकारियों एवं अन्य संबंद्ध इकाइयों के लिए जागरुकता एवं प्रशिक्षण शिविर आयोजित करने की तैयारी कर रहा है. इसमें अधिकारियों को नई तकनीकी प्रणालियों के बारे में अवगत कराया जाएगा जिससे इनका समय पर उचित एवं प्रभावी तरीके से प्रयोग किया जा सके.

No comments:

Post a Comment